नाव कागजों की समंदर में चलेगी कब तक

Firozabad Updated Mon, 27 Aug 2012 12:00 PM IST
फीरोजाबाद (ब्यूरो)। चौबे कमलापति की धर्मशाला में अहमद हसीन की याद में मुआयरे का आयोजन किया गया। इसमें शायरों ने अपनी गजलों और गीतों के जरिए उन्हें याद किया।
अर्जुन सिंह चतुर्वेदी की अध्यक्षता में आयोजित मुशायरे में शमा फरोजा अरविंद चतुर्वेदी ने की तथा उस्ताद हसीन अहमद की तस्वीर की नकाब कुशाई हामिद हुसैन हामिद ने की। संचालन हरीश चतुर्वेदी ने किया। इस मुशायरे में अनवर कमाल ने पढ़ा कि सरफिरी मौजों के लश्कर में चलेगी कब तक, नाव कागज की समंदर में चलेगी कब तक। पीएन चतुर्वेदी दास ने कहा कि चमन में उड़ गई फूलों की गर्दन, चली वादे सबा तलवार बनकर। हबीब अहमद ने पढ़ा कि धूप जब आई मशाईल की हमारे सर पर, दूर होने लगी परछांइया रफ्ता रफ्ता। हरीश चतुर्वेदी ने पढ़ा कि जल रहे हैं जो तेज आंधी में, उन चरागों का एहतराम करो। वाहिद हुसैन ने पढ़ा कि एहसान अपने सर पै न लेंगे रकीब का, कैसे बनेगी बात हमारी नजर में है। जाकिर भूपतपुरी ने पढ़ा कि मुझे दफना दिया तो कब्र बोली, बहुत इतरा रहा था आ गया न। मुशायरे में नसीम अनवर, डा. प्रकाश बंसल, जकी नाजुकी, चाहत कामिल, अनपढ़ साहब आदि ने शायरी पेश की।

Spotlight

Most Read

Meerut

दो सगी बहनों से साढ़े चार साल तक गैंगरेप, घर लौट आई एक बेटी ने सुनाई आपबीती

दो बहनों का अपहरण कर तीन लोगों ने साढ़े चार वर्ष तक उनके साथ गैंगरेप किया। एक पीड़िता आरोपियों की चंगुल से निकल कर घर लौट आई। उसने परिवार को आपबीती सुनाई।

21 जनवरी 2018

Related Videos

सलमान खान को दी थी जान से मारने की धमकी अब है सलाखों के पीछे

फिरोजाबाद में पुलिस और बदमाशों के बीच मुठभेड़ हुई। जिसमें पंजाब और हरियाणा का शार्प शूटर रवींद्र उर्फ काली राजपूत को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। काफी दिन से पुलिस इनकी तलाश कर रही थी। इसके तार इंटरनेशनल लारेंस विश्नोई गैंग से भी जुड़े हैं।

19 जनवरी 2018

  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper