दस साल से खाली रेलवे चिकित्सक का पद

Firozabad Updated Mon, 30 Jul 2012 12:00 PM IST
फीरोजाबाद। पिछले दस साल से स्थानीय स्टेशन पर चिकित्सक का पद रिक्त पड़ा हुआ है। स्थानीय रेलवे प्रशासन भी इस ओर संजीदगी नहीं दिखा रहा। प्रति माह प्रथम गुरुवार को होने वाली बैठक में भी इस पद को भरने के लिए कोई प्रस्ताव नहीं बना है।
औद्योगिक नगरी के बाद भी फीरोजाबाद स्टेशन पर सुविधाएं न के बराबर हैं। बिजली, पानी और अन्य मूूलभूत सुविधाओं के लिए यात्री जद्दोजहद करते नजर आते हैं। यात्रियों के स्वास्थ्य के प्रति भी रेलवे प्रशासन बेपरवाह बना हुआ है। फीरोजाबाद रेलवे स्टेशन पर यात्री मरीजों तथा विभागीय अधिकारियों एवं कर्मचारियों के परिजनों के उपचार के लिए एक चिकित्सक का पद रिक्त है। यह पद पिछले दस वर्ष से खाली पड़ा है। इस पर वर्षों से कोई तैनाती नहीं हुई है।
हैरत की बात यह है कि स्थानीय रेलवे प्रबंधन को भी नहीं पता कि दस वर्ष पहले आखिरी कौन सा डाक्टर यहां तैनात था। मेडिसिन बाक्स स्टेशन अधीक्षक के कक्ष में रखा हुआ है। वैकल्पिक व्यवस्था के तौर पर यदि किसी ट्रेन में सफर करने वाले या स्टेशन पर बैठे यात्री की तबियत बिगड़ जाए तो उपचार की कोई सुविधा यहां उपलब्ध नहीं है। निर्भरता सिर्फ इटावा या टूंडला के रेलवे अस्पतालों पर है। प्रतिमाह के प्रथम गुरुवार को होने वाली बैठक में भी कोई पत्र या प्रस्ताव इस संदर्भ का नहीं बनता। इस संदर्भ में स्टेशन अधीक्षक आरके पाठक का कहना है कि दवा रेलवे के कर्मचारियों द्वारा दे दी जाती है। विकल्प के तौर पर फिलवक्त यही व्यवस्था है।

Spotlight

Most Read

Lucknow

यूपी दिवस: प्रदेश को 25 हजार करोड़ की योजनाओं की सौगात, योगी बोले- आज का दिन गौरवशाली

यूपी दिवस के मौके पर प्रदेश को सरकार ने 25 हजार करोड़ करोड़ की योजनाओं की सौगात दी। मुख्यमंत्री योगी ने आज के दिन को गौरवशाली बताया।

24 जनवरी 2018

Related Videos

सलमान खान को दी थी जान से मारने की धमकी अब है सलाखों के पीछे

फिरोजाबाद में पुलिस और बदमाशों के बीच मुठभेड़ हुई। जिसमें पंजाब और हरियाणा का शार्प शूटर रवींद्र उर्फ काली राजपूत को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। काफी दिन से पुलिस इनकी तलाश कर रही थी। इसके तार इंटरनेशनल लारेंस विश्नोई गैंग से भी जुड़े हैं।

19 जनवरी 2018