बेहतर अनुभव के लिए एप चुनें।
INSTALL APP

बोलेरो सवार जहरखुरानों का आतंक, तीन को लूटा

Updated Sun, 29 Jul 2018 12:54 AM IST
विज्ञापन
ख़बर सुनें

विज्ञापन

दो वाहनों में हुई वारदात, सभी को बिंदकी में फेंका
कानपुर से दो व खागा से एक युवक को था बैठाया
दोनों वारदात में पीड़ितों को पिलाई थी चाय

फतेहपुर। बोलेरो सवार जहरखुरान गिरोह ने शुक्रवार रात तीन युवकों को चाय में नशीला पदार्थ पिलाकर लूट लिया। कानपुर से बैठाए दो युवकों के साथ एक वाहन में और खागा से बैठाए एक युवक के साथ दूसरे वाहन में घटना हुई। तीनों युवकों को बिंदकी कोतवाली क्षेत्र में फेंका गया। बदहवास हालत में तीनों को जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया।
धाता थाना क्षेत्र के पड़नी गांव निवासी सुंदर लाल का बेटा निर्भय (30) और अमरजीत का बेटा जयेश (28) एक निजी संचार कंपनी के टावरों की टेक्निकल फाल्ट ठीक करते हैं। परिजनों ने बताया कि दोनों शुक्रवार सुबह घर से कानपुर गए थे। उनके नंबरों में रात करीब नौ बजे फोन किया गया। रामादेवी से बोलेरो में आने की बात बताई थी। उसके बाद से दोनों के नंबर बंद हो गए। देर रात तक घर नहीं आए। परिजन खोजबीन में जुटे थे। बिंदकी महरहा रोड पर दोनों के शनिवार सुबह बेहोशी की हालत में पड़े होने की सूचना ग्रामीणों ने यूपी 100 नंबर पुलिस को दी। हल्का होश आने पर निर्भय ने पुलिस को घर का नंबर दिया। पुलिस ने दोनों को जिला अस्पताल भर्ती कराया। दोनों के पास एक-एक लैपटाप, दस-दस हजार रुपये कीमत के एंड्रायड मोबाइल, बैग, एटीएम कार्ड, जरूरत के कागजात, करीब दस हजार रुपये नकद थे। बदमाश इसे लूट ले गए। अर्ध बेहाशी की हालत में निर्भय ने बताया कि बोलेरो सवार कानपुर से आगे आए थे। रास्ते में गाड़ी रोकी और चाय पिलाई थी। इसके बाद उन्हें कुछ याद नहीं रहा।

इधर, बिंदकी कोतवाली क्षेत्र के जनता गांव निवासी कमलेश का बेटा आनंद शुक्ला (25) चौडगरा स्थित लोहा फैक्ट्री में कर्मचारी है। वह शुक्रवार को खागा कंपनी का एक फर्म से रुपया लेने गया था। काम के बाद खागा में रहने वाले मामा पप्पन मिश्रा के घर चला गया। मामा के घर से शाम को घर लौट रहा था। बोलेरो सवार दो लोगों ने उसे बैठा लिया। बोलेरो आगे टेनी मोड़ के पास पहुंची। वहां उसमें दो व्यक्ति और बैठ गए। थरियांव थाना क्षेत्र के आमापुर के पास बोलेरो सवार चाय पीने के लिए रुके। एक चाय आनंद को भी पिलाई। उसके बाद सभी लोग बोलेरो में बैठ गए। कुछ देर बाद बेहोशी छाने लगी। तभी उसका बैग छीनने लगे। विरोध करने पर उसकी पिटाई भी की। पिटाई के दौरान वह बेहोश हो गया। बिंदकी चौराहे पर शुक्रवार देर शाम उसे छोड़कर बोलेरो सवार भाग निकले। गांव के एक व्यक्ति ने आनंद को पहचान लिया। परिजनों को सूचना दी। परिजनों ने उसे जिला अस्पताल में भर्ती कराया। उसकी हालत में सुधार आ चुका है। आनंद ने बताया कि 15 हजार रुपये नकद, कागजातों से भरा बैग और मोबाइल लूट ले गए। कोतवाल एपी तिवारी ने बताया कि घटनाओं की तहरीर नहीं आई है। अभी जहरखुरानी के शिकार इलाज करा रहे हैं।

पहले की घटनाओं का नहीं हुआ खुलासा
तीन माह पहले एक पखवारे के अंदर इसी तरह कई घटनाएं हुईं थीं। पुलिस ऐसे मामलों में पीड़ितों को टरका देती है। एफआईआर न होने से घटनाएं दब जाती हैं। शहर स्टेशन से एक माह पहले हुसैनगंज के दिल्ली जा रहे युवक को बोलेरो सवार लूटकर हुसैनगंज थाना हाईवे पर फेंक गए थे। उससे पहले बांदा के युवक को स्टेशन से बोलेरो सवार छोड़ने के बहाने बैठा ले गए थे। गाजीपुर मार्ग पर लूटपाट कर फेंक दिया था। कमाकर लौटे गाजीपुर और असोथर थाना क्षेत्र के दो युवकों को स्टेशन से बोलेरो सवारों ने बिठा लिया। लूटपाट कर गाजीपुर रोड पर फेंक दिया था। बोलेरो सवारों ने यह सारी घटनाएं तीन माह के अंदर की हैं। गैंग की सक्रियता पर पुलिस लगाम नहीं लगा पा रही है।






बोलेरो सवार जहरखुरानों का आतंक, तीन को लूटा

विज्ञापन
विज्ञापन
सबसे विश्वसनीय हिंदी न्यूज़ वेबसाइट अमर उजाला पर पढ़ें हर राज्य और शहर से जुड़ी क्राइम समाचार की
ब्रेकिंग अपडेट।
 
रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें अमर उजाला हिंदी न्यूज़ APP अपने मोबाइल पर।
Amar Ujala Android Hindi News APP Amar Ujala iOS Hindi News APP
विज्ञापन
विज्ञापन
  • Downloads

Follow Us