विज्ञापन
विज्ञापन

क्षेत्रीय विपणन अधिकारी की मौत का रहस्य बरकरार

Kanpur	 Bureauकानपुर ब्यूरो Updated Wed, 19 Jun 2019 12:33 AM IST
ख़बर सुनें
फतेहपुर। क्षेत्रीय विपणन अधिकारी की मौत का रहस्य पोस्टमार्टम में भी नहीं सुलझ सका। मौत का कारण स्पष्ट न होने की वजह से जांच के लिए विसरा रखा गया है। हालांकि प्रथम दृष्टया जहर का अंदेशा जताया जा रहा है।
विज्ञापन
विज्ञापन
बिंदकी के क्षेत्रीय विपणन अधिकारी अशोक कुमार कनौजिया (50) सोमवार शाम कमरे में अचेत हालत में कर्मचारियों को मिले थे। वह ललौली रोड शिव मंदिर के पास किराये पर रहते थे। प्रतापगढ़ से करीब एक साल पहले जिले में तैनात हुए थे। मूलरूप से प्रयागराज अतरसुइया थाने के बादशाही मंडी मीरापुर के निवासी थे। अधिकारियों के आदेश पर शव का पोस्टमार्टम दोपहर 12 बजे कराया गया। उनके भाई श्यामबाबू, भाभी सावित्री, पत्नी नीतू व अन्य परिजन पोस्टमार्टम हाउस पहुंचे।

भाभी सावित्री कुछ महिलाओं के साथ अलग बैठी दिखीं। पत्नी नीतू अलग पेड़ के नीचे बदहवास बैठी थी। पत्नी नीतू ने बताया कि मायके लखनऊ शहादतगंज के चौपटिया में तीन बच्चे अनुष्का, अराध्या, अक्षत के साथ रहती है। उसकी शादी के करीब 12 साल हुए थे। बच्चों से सोमवार दोपहर बातचीत फोन पर हुई थी। वह ट्रांसफर कराकर कुछ दिनों में परिवार के पास लखनऊ आना चाहते थे। उनकी मौत कैसे और क्यों हुई, कुछ समझ नहीं आ रहा है। भाई श्यामबाबू ने बताया कि छोटे भाई का परिवार शादी के बाद अलग लखनऊ में रहने लगा था। उससे बहुत कम ही बातचीत होती थी। एसआई इजहार अहमद ने बताया कि पोस्टमार्टम रिपोर्ट में मौत का कारण स्पष्ट नहीं हो सका है। विसरा रिपोर्ट आने के बाद ही जांच शुरू हो पाएगी।

Recommended

करियर के लिए सही शिक्षण संस्थान का चयन है एक चुनौती, सच और दावों की पड़ताल करना जरूरी
Dolphin PG Dehradun

करियर के लिए सही शिक्षण संस्थान का चयन है एक चुनौती, सच और दावों की पड़ताल करना जरूरी

समस्या कैसे भी हो, हमारे ज्योतिषी से पूछें सवाल और पाएं जवाब मात्र 99 रूपये में
Astrology

समस्या कैसे भी हो, हमारे ज्योतिषी से पूछें सवाल और पाएं जवाब मात्र 99 रूपये में

विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें
सबसे विश्वशनीय हिंदी न्यूज़ वेबसाइट अमर उजाला पर पढ़ें हर राज्य और शहर से जुड़ी क्राइम समाचार की
ब्रेकिंग अपडेट।
 
रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें अमर उजाला हिंदी न्यूज़ APP अपने मोबाइल पर।
Amar Ujala Android Hindi News APP Amar Ujala iOS Hindi News APP
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Most Read

Fatehpur

दो दशक से कब्रिस्तान की जमीन में चला रहा था मदरसा

दो दशक से कब्रिस्तान की जमीन में चला रहा था मदरसा

18 जुलाई 2019

विज्ञापन

अंतरराष्ट्रीय अदालत में पाकिस्तान को झटका, कुलभूषण जाधव की फांसी पर लगी रोक

भारत और पाकिस्तान के बीच लंबे समय से विवाद का विषय बने रहे कुलभूषण जाधव मामले में अंतिम फैसला सुना दिया गया। फैसला भारत के पक्ष में आया है।

17 जुलाई 2019

आज का मुद्दा
View more polls

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree