..बहुत उम्मीद करने से उम्मीदें टूट जाती हैं

Fatehpur Updated Mon, 01 Oct 2012 12:00 PM IST
फतेहपुर। हंसवा विकास खंड के बिलंदा गांव में पहली बार कवि सम्मेलन का आयोजन किया गया। जिसमें स्थानीय एवं गैर जनपदाें से कवि बुलाए गए। कार्यक्रम में रचनाकारों ने हास्य व वीर रस की कविताओं से श्रोताओं को मंत्रमुग्ध कर दिया। देर दस बजे से शुुुरू सम्मेलन तड़के तक चला। पूरी रात चले समारोह में मंच श्रोताआें की वाह और तालियों की गड़गड़ाहट गूंजता रहा।
जैसे टूट जाती हैं, फलों के बोझ से शाखें, हुजूमे-ख्वाब से आंखों की नींद टूट जाती हैं। बहुत उम्मीद मत करना किसी से मेहरबानी की, बहुत उम्मीद करने से उम्मीदें टूट जाती हैं। इस गजल के साथ माहौल बनाते हुए कवि एवं शायर शिवशरण बंधु ने कवि सम्मेलन का संचालन शुरू किया। कवि सम्मेलन का आयोजन कवि आरसी गुप्त द्वारा किया गया। इसके पूर्व समीर शुक्ल ने सरस्वती वंदना के गायन के साथ किया। रायबरेली से आए कवि मधुप श्रीवास्तव ने अपनी रचनाओं से श्रोताआें को बांधे रखा। उनकी पंक्ति, छोड़ के अपने सलीम की गली, अनार कली जब डिस्को चली, यह बात अकबर को बहुत खली, पर श्रोताओं ने खूब ठहाके लगाए। इस मौके पर नीरज पांडेय की ओजपूर्ण पंक्ति, शासन व जनमानस में जब दूरी हो जाती है, इंकलाब लिखना मजबूरी हो जाती है, से श्रोताओं को आनंदित कर दिया।
काव्य समारोह में आईं कवयित्री डॉ. निर्मला लाल द्वारा प्रस्तुत किया गया शेर, मुहब्बत को तुम मेरी रुसवा न करना, मेरी जान ले लेना, ऐसा न करना, खूब सराहा गया। युवा कवि लक्ष्मी रतन की गजल, बदली हवा, समय का फेर देख रहा हूं, अंधे के हाथ में बटेर देख रहा हूं ने खूब तालियां समेटी। काव्य समारोह में चौकी प्रभारी हंसवा, पूर्व प्रधान नदीम, पत्रकार कमल साहू, छोटे सेठ ब्रज बिहारी और हनुमान प्रसाद को सम्मानित किया गया। इसके पूर्व कवियाें को मालाओं को शुशोभित कर उन्हें डायरी और पेन भेंट कर सम्मानित किया गया। इस अवसर पर मुख्य रुप से रामजी गुप्त लंकेश, विष्णुदत्त मुन्ना, सोने लाल, रामनरेश गुप्त और ब्रह्मदेव गुप्त एवं राजकुमार गुप्त सहित अन्य लोग उपस्थित रहे।

इंसेट
अलंकृत किए गए साहित्यकार
फतेहपुर। शांतिनिकेतन मानव कल्याण समिति के सौजन्य से रविवार को आवास-विकास में कवि सम्मेलन का आयोजन किया गया। जिसमें कवि एवं शायरों में अपनी रचनाओं का पाठ किया। इसी क्रम में उर्दू शायर कमर सिद्दीकी का अभिनंदन भी किया गया।
महेन्द्रनाथ बाजपेई की अध्यक्षता में हुए कार्यक्रम में डाक्टर मुर्तजा राही बतौर मुख्य अतिथि मौजूद रहे। जबकि विशिष्ट अतिथि के रूप में डाक्टर बृजमोहन पांडेय एवं इकबाल जफर मौजूद रहे। कमर सिद्दीकी को डाक्टर जमाल अहमद, शिवशरण अंशुमाली एवं आनंद स्वरूप अनुरागी ने प्रतीक चिन्ह भेंट कर अभिनंदन किया। डाक्टर रफीक अहमद ने अभिनंदन पत्र का वाचन किया। संचालन शिवशरण बंधु ने किया। डाक्टर जमाल अहमद, जफर इकबाल, आंनद स्वरूप अनुरागी, शिवशरण सिंह अंशुमाली, डाक्टर बृजमोहन पांडेय आदि ने संबोधन किया। इस मौके पर डाक्टर मधूलिमा चौहान, धनंजय अवस्थी, बृजमोहन पांडेय, डाक्टर जमाल अहमद एवं कमर सिद्दीकी का भी अलंकरण किया गया। कार्यक्रम में कई कवियों ने अपनी रचनाएं पढ़ीं।

Spotlight

Most Read

Hapur

अब जिले में नहीं कटेंगे बूढ़े हो चुके फलदार वृक्ष

अब जिले में नहीं कटेंगे बूढ़े हो चुके फलदार वृक्ष

22 जनवरी 2018

Related Videos

VIDEO: यूपी पुलिस के इस सिपाही ने किया खाकी को शर्मसार

फतेहपुर में एक बार फिर पुलिस का खौफनाक चेहरा सामने आया है। यूपी पुलिस के सिपाही ने एक युवक की बेरहमी से पिटाई कर दी। पुलिसवाले ने युवक की पिटाई इसलिए कर दी क्योंकि युवक की बाइक से सिपाही को टक्कर लग गई।

18 जनवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls
  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper