विज्ञापन

आज भी दीये की रोशनी में रहते हैं लोग

Fatehpur Updated Sat, 23 Jun 2012 12:00 PM IST
विज्ञापन
ख़बर सुनें
फतेहपुर। शहर की डूडा कालोनी को आबाद हुए छह साल हो गए, लेकिन कालोनी में विद्युतीकरण आज तक नहीं हुआ। इसके चलते कालोनी के करीब डेढ़ सौ परिवार दीये की रोशनी में गुजर-बसर कर रहे हैं। शाम होते ही समूची कालोनी अंधेरे में डूब जाती है। लोगों की माने तो अंधेरे में हर दिन किसी न किसी वारदात की आशंका बनी रहती है।
विज्ञापन

चेयरमैन शब्बीर अहमद के कार्यकाल में साउथ सिटी में अंदौली रोड के दोनों छोर पर डूडा की कालोनियां बनाईं गईं थीं। कालोनी में बिजली जैसी जरूरी सुविधाओं के अभाव में ज्यादातर आवंटी रहने ही नहीं आए। कुछ न किराए पर उठा दिया तो कुछ के घरों में ताला लटका है। इस समय कालोनी में ज्यादातर मजदूरी पेशा लोग रह रहे हैं। यह तबका शाम को जब थका हारा कालोनी लौटता है तो उसे दीये की रोशनी में कामकाज निपटाना पड़ता है।
कालोनी के दुर्गा प्रसाद बताते है कि कालोनी मेें दिन ढलने के बाद सुरक्षा को लेकर मन सशंकित हो उठता है। अशोक कुमार कहते है डूडा ने कालोनी बनवाने के बाद इधर पलट कर नहीं देखा। जब आवंटन हुआ था तब बिजली देने की बात कही गई थी। कालोनी की गंगा ने बताया कि बिजली न होने से बच्चों की टीवी खरीदने की फरमाइश पूरी नहीं कर पा रही है। कालोनी की माया का कहना है कि शाम को अंधेरा छा जाने के बाद अराजकतत्व भी कालोनी में दाखिल हो जाते है। वह खाली पड़ी कालोनियों के बाहर जमावड़ा लगाते है। उनकी मौजूदगी से दहशत बनी रहती है। वहीं, कालोनी के बाशिंदों की माने को विद्युतीकरण कराने की मांग को लेकर कलेक्ट्रेट जाकर बड़े अफसरों के यहां तमाम मर्तबा दस्तक दी, लेकिन आज तक नतीजा सिफर ही रहा है।
इस बाबत निवर्तमान सभासद अरुण यादव कहते है कि विद्युत विभाग की अनदेखी से कालोनी के लोग अंधेरे में जीवन यापन कर रहे है। उधर, विद्युत महकमे के एक्सईएन आर रंजन का कहना है कि उन्होंने हाल ही में कामकाज संभाला है। उन्हें कालोनी में विद्युतीकरण के बारे में जानकारी नहीं है। वह प्राथमिकता पर इस मामले को दिखवा कर कार्रवाई करेंगे।
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us