चार क्रय केंद्रों पर कर्मचारी ताला डालकर भागे

Fatehpur Updated Sat, 26 May 2012 12:00 PM IST
फतेहपुर। रेशम एवं वस्त्र उद्योग मंत्री शिव कुमार बेरिया ने जिले के आधा दर्जन गेहूं क्रय केंद्रों का निरीक्षण किया। निरीक्षण की भनक लगते ही कई क्रय केंद्रों पर कर्मचारी ताला डालकर भाग खड़े हुए। कबीना मंत्री को सुल्तानपुर, लदिगवां, चकसकरन, गाजीपुर के क्रय केंद्र पर ताला लटकता मिला। इससे वह इन केंद्रों की सच्चाई से वाकिफ नहीं हो सके, मौजूद किसानों ने जो बताया, वही जाना। इसकी रिपोर्ट वह मुख्यमंत्री को सौंपेंगे।
सूबे के मुख्यमंत्री अखिलेश सिंह यादव के निर्देश पर शुक्रवार को 35 जिलों में गेहूं क्रय केंद्रों पर छापामार कार्रवाई की गई। इसके तहत रेशम एवं वस्त्र उद्योग मंत्री शिव कुमार बेरिया ने दोपहर में सबसे पहले शहर स्थित आरएफसी गोदाम में धावा बोला, यहां करीब 10 मिनट तक रुकने के बाद वह बिसौली क्रय केंद्र पहुंचे। इस केंद्र पर मौजूद किसानों ने बताया कि क्रय केंद्र पर किसान लूटा जा रहा है। 1285 रुपए का निर्धारित समर्थन मूल्य नहीं मिल पा रहा है। तौल के लिए बराबर दौड़ाया जाता है। आढ़तिया भी एक हजार रुपए प्रति कुंतल से अधिक भाव पर गेहूं खरीदने से इंकार कर रहे हैं। जबकि किसानों से खरीदा गया गया बिचौलियों का गेहूं आसानी से क्रय केंद्रों में सरकारी दाम पर तौल दिया जाता है। इसके बाद रेशम एवं वस्त्र उद्योग मंत्री सुल्तानपुर, लदिगवां, चकसकरन, गाजीपुर के गेहूं क्रय केंद्र पहुंचे, जहां उन्हें ताला लटकता मिला। मंत्री के निरीक्षण की भनक मिलते ही इन केंद्रों के कर्मचारी उनके आने के पहले ही ताला डालकर खिसक लिए। इससे शासन के प्रतिनिधि गेहूं क्रय केेंद्रों की हकीकत से वाकिफ नहीं हो सके।

(इंसेट)
कैसे लीक हुई निरीक्षण की कार्रवाई
फतेहपुर। रेशम एवं वस्त्र उद्योग मंत्री शिव कुमार बेरिया के गेहूं क्रय केंद्रों का निरीक्षण करने की भनक क्रय केद्रों के कर्मचारियों व अधिकारियों को लगने से क्रय केंद्रों पर किसानों को परेशान करने की सच्चाई पूरी तरह पता नहीं चल सकी। किसानों में पूरे दिन यह चर्चा रही कि आखिर कबीना मंत्री की कार्रवाई की जानकारी पहले ही लोगों को कैसे पता चल गई और संबंधित लोग केंद्रों पर ताला डालकर खिसक लिए। किसानों का कहना है कि इस मामले की जांच करवा कर दोषी लोगों पर कार्रवाई होनी चाहिए।

(इंसेट)
डाक बंगला जाने का इरादा छोड़ा
फतेहपुर। निकाय चुनाव की शुक्रवार को दोपहर अधिसूचना जारी हो गई। गेहूं क्रय केेंद्राें का हाल देख कर वापस लौटतेे समय जानकारी मिलने पर कैबिनेट मंत्री ने डाक बंगला पर रुकने का इरादा त्याग दिया। मीडियाकर्मी मंत्री की पत्रकार वार्ता के लिए डाक बंगला में जमा थे। कैबिनेट मंत्री के पीए ने मीडियाकर्मियों को दिल्ली दरबार में बुलाया। खुद बेरिया ने कहा अधिसूचना का पालन किया है।


25 मई
बेरिया बोले, प्रशासन का भी रोल कम खराब नहीं
-अधिकारी प्रयास करते तो बिचौलिए पकड़े जाते
-रिपोर्ट मुख्यमंत्री के समक्ष शनिवार को रखेंगे
अमर उजाला ब्यूरो
फतेहपुर। रेशम एवं उद्योग मंत्री शिव कुमार बेरिया ने स्वीकार किया कि कड़ी मेहनत कर गेहूं पैदा करने वाला किसान परेशान है। वह शुक्रवार को जिले के छह गेहूं क्रय केंद्रों का निरीक्षण करने के बाद पत्रकारों से बातचीत कर रहे थे। उन्होंने कहा कि वह पूरे मामले की रिपोर्ट मुख्यमंत्री के समक्ष शनिवार को रखेंगे। दावा किया शनिवार से गेहूं क्रय केंद्रों पर सुधार दिखाई देने लगेगा।
शिव कुमार बेरिया ने साफ कहा किसानों के साथ मजाक हो रहा है। एक तो वह अपनी उपज नहीं तौला पा रहा है। जब उसका नंबर आता है तो उसको हर कुंतल पर कम से कम सात किलो गेहूं का नुकसान उठाना पड़ रहा है। किसान को एक हजार से एक हजार पचास रुपए तक का ही भुगतान मिल पा रहा है। इसके चलते उसे खुले बाजार में अपनी उपज को औने पौने दाम पर बेंचना पड़ रहा है। किसानों को सुनियोजित तरीके से लूटा जा रहा है। उसके साथ बाहुबली, एजेंसी व आढ़ती छल कर रहे है। और तो और इस काम में एसएमआई भी संलिप्त है। उन्होंने कहा कि जिला प्रशासन का भी रोल कम खराब नहीं है। डीएम का नाम लेते हुए बोले ‘अगर मैडम दौरे कर रही होती तो यह हालात न होते’। एक भी बिचौलिएं पर कार्रवाई न होना प्रशासन की उदासीनता से वाकिफ कराता है। अगर अधिकारी प्रयास करते तो बिचौलिए पकड़े जाते और उन पर एफआईआर होती। पत्रकारों से बातचीत के दौरान उनके साथ पूर्व मंत्री अचल सिंह, वरिष्ठ सपा नेता संतोष द्विवेदी, अमरदीप सिंह पप्पू, अमित शुक्ला भी मौजूद रहे।

Spotlight

Most Read

National

इलाहाबाद HC का निर्देश- CBI जांच में सहयोग करे लोक सेवा आयोग

कोर्ट ने लोक सेवा आयोग के अध्यक्ष को जवाब दाखिल करने के लिए छह फरवरी तक की मोहलत दी है।

19 जनवरी 2018

Related Videos

VIDEO: यूपी पुलिस के इस सिपाही ने किया खाकी को शर्मसार

फतेहपुर में एक बार फिर पुलिस का खौफनाक चेहरा सामने आया है। यूपी पुलिस के सिपाही ने एक युवक की बेरहमी से पिटाई कर दी। पुलिसवाले ने युवक की पिटाई इसलिए कर दी क्योंकि युवक की बाइक से सिपाही को टक्कर लग गई।

18 जनवरी 2018

  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper