अफसर पी रहे बिसलेरी जनता पानी को परेशान

Fatehpur Updated Tue, 06 May 2014 05:30 AM IST
विज्ञापन

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹249 + Free Coupon worth ₹200

ख़बर सुनें
फतेहपुर। लापरवाही की इंतिहा, मौसम चाहे गर्मी का हो या जाड़े का, अधिकारियों का सिर्फ एक ही ‘मौसम’ होता है, बारह मास अपनी मौज, जनता चूल्हे भाड़ में जाए। अनसुनी का आलम यह है कि भद्दर गर्मी में भी शहरी इलाकों में हैंडपंप हवा उगल रहे हैं। कहीं रिबोरिंग तो कहीं अरसे से ठूंठ बने हैंडपंपों की मरम्मत कराने तक का विभाग के पास समय नहीं है। पेश है एक रिपोर्ट। यह तस्वीर है शादीपुर क्रासिंग के पास की। सड़क के किनारे लगा हैंडपंप पिछले छह माह से खराब पड़ा है। रीबोर न होने से पानी नहीं आ रहा। ऐसे में आने वाले लोगों को यह हैंडपंप मुह चिढ़ा रहा है। चिलचिलाती धूप में पानी पीने के लिए हैंडपंप के पास लोग जाते हैं लेकिन पानी न निकलने से निराश होकर जिम्मेदारों को कोसते हुए आगे बढ़ जाते हैं। शादीपुर चौराहे के जहां पर लगा हैंडपंप पानी की आपूर्ति तो कर रहा है लेकिन पीने योग्य पानी नहीं आता। हैंडपंप से निकलने वाला बालूदार पीला पानी किसी काम का नहीं है। लोग पानी के लिए भटकते रहते हैं और बाद में खरीदना पड़ता है। पत्थरकटा चौराहा से मुराइनटोला मार्ग पर लगा हैंडपंप तीन वर्षों से खराब पड़ा है। कई बार क्षेत्रीय लोगों ने नगर पालिका और जलनिगम को शिकायत करके हैंडपंप ठीक कराने की मांग कर चुके हैं लेकिन अभी तक जिम्मेदारों को फुर्सत नहीं मिल रही है।
विज्ञापन

यह तो बानगी है पालिका और जलनिगम की हीलाहवाली की पोल खोलने के लिए, कमोवेश ऐसे ही हालात पालिका क्षेत्र के लगभग 50 हैंडपंपों के हैं जो रीबोर समेत अन्य कमियों से शो पीस बने हुए हैं। सवा लाख की आबादी वाले नगर क्षेत्र में गर्मी के मौसम में पेयजल संकट गहराता जा रहा है। इसके अलावा देवीगंज, आबूनगर, अंदौली, रेडइया, उधन्नापुर, ज्वालागंज, चौक, हरिहरगंज, अशोक नगर, अमरजई आदि इलाकों में हैंडपंप खराब पड़े हैं।
कोट
नगर पालिका के जलकल जेई गौरी शंकर पटेल ने बताया कि हैंडपंपों के रीबोर कराने की जिम्मेदारी जलनिगम की है। ऐसे अन्य गड़बड़ियां पालिका द्वारा ठीक करा दी जाती हैं। रीबोर कराने के लिए हैंडपंपों की सूची जलनिगम को भेजी जा चुकी है।

पेयजल व्यवस्था एक नजर में
शहर में लगे कुल हैंडपंप - 730
रीबोर के लिए हैंडपंप - 25
अन्य खराबी के हैंडपंप - 25


फोटो नंबर व परिचय ---
5 - विमल गुप्ता
6- मोहम्मद अदील
7- लईक अहमद
8- मनोज कुमार

अफसर पी रहे बिसलेरी, जनता प्यासी
फतेहपुर। शहर की पेयजल समस्या को लेकर जनता में आक्रोश है। बातचीत में लोगों ने पालिका और जलनिगम को खूब खरीखोटी सुनाई। सभासद विमल गुप्ता ने कहा कि नगर पालिका और जलनिगम पेयजल संकट से निजात दिलाने के लिए कतई गंभीर नहीं है। जिम्मेदार जानबूझकर जिम्मेदारियों से मुंह मोड़ रहे हैं। पत्थरकटा चौराहा निवासी मोहम्मद अदील ने बताया कि पानी का संकट हमेशा रहता है। गर्मी में दिक्कत और बढ़ गई है। कई बार पालिका मांग कर चुके हैं। शादीपुर के लईक अहमद कहते हैं कि यहां लगा हैंडपंप बिगड़ने के बाद लोगों को पानी के लिए परेशान होना पड़ रहा है। शादीपुर चौराहे में मिठाई दुकानदार मनोज कहते हैं कि हैंडपंप खराब होने से पानी की समस्या बनी रहती है।

क्या कहते हैं जिम्मेदार
‘जनपद में हैंडपंपों को रीबोर कराने और नए हैंडपंप लगाने के लिए शासन से 31 लाख का बजट मिला है लेकिन आचार संहिता के चलते अभी कार्य नहीं हो पा रहा है। आचार संहिता के हटते ही कार्य योजना बनाकर काम तेजी से शुरू कर दिया जाएगा।’ आनंदमूर्ति श्रीवास्तव, अधिशासी अभियंता जलनिगम
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us