देवी पंडालों पर उमड़ रही भीड़, लग रहे जयकारे

Fatehpur Updated Tue, 23 Oct 2012 12:00 PM IST
फतेहपुर। नवरात्र में सोमवार को मां भगवती के महागौरी स्वरूप की पूजा अर्चना की गई। इस दौरान कन्या भोज कराया गया। देवी पंडालों में रात्रि जागरण को लेकर खासी उत्साह दिखा। शहर में सजे 113 पंडालों में चार से छह पंडालों में प्रति दिन जागरणजारी है। उधर, मंगलवार को नवरात्र के अंतिम दिन मां भगवती के सिद्धिदात्री स्वरूप की पूजा अर्चना की जाएगी। नवरात्र के अंतिम दिनों में शहर के तांबेश्वर, कालिकन और दुर्गा मंदिरों में मेला लग गया है। भक्त दिन रात गीत भजन कर रहे हैं। मंदिर परिसर में सैकड़ों की तादाद में दुकानें सज गई हैं, जहां पर प्रसाद, फूलमाला से लेकर घर गृहस्थी के सामान की बिक्री हो रही है। नवरात्र के उपासक कन्याभोज कराने में जुट गए हैं। सुबह से शाम तक लोग कन्याओं की पूजा करके खीर पूड़ी खिला रहे हैं। उधर, नवरात्र के अंतिम दिन घरों में पूजा अर्चना और आहुतियां देने के बाद उपासक पारण करेंगे। शहर के सभी प्रमुख देवी मंदिरों में भंडारे का आयोजन होंगे, जहां पर हजारों की तादाद में लोगों को प्रसाद खिलाया जाएगा। इसके लिए तैयारियों को अंतिम रूप दिया जा रहा है।

कैसे करें पूजा?
..................
दुर्गा पूजा में इस तिथि को विशेष हवन किया जाता है। दुर्गा सप्तशती के सभी सभी श्लोक मंत्र रूप हैं। अत: सप्तशती के सभी श्लोक के साथ आहुति दी जा सकती है। समयाभाव में आप देवी के बीज मंत्र ऊं हीं क्लीं चामुण्डायै विचे नमो नम: से कम से कम 108 बार हवन दें। जिस प्रकार पूजा के क्रम में भगवान शंकर और ब्रह्मा जी की पूजा सबसे अंत में होती है, उसी प्रकार अंत में इनके नाम से हवन कर कुटंब परिवार के साथ आरती और क्षमा प्रार्थना करें।

कैसे लगाएं भोग?
........................
माता सिद्धिदात्री को सभी प्रकार की सिद्धियां देने वाली कहा गया है। नवमी तिथि का व्रत कर माता की पूजा आराधना करने के बाद माता को तिल का भोग लगाना इस दिन कल्याणकारी रहता है। यह उपवास व्यक्ति को मृत्यु के भय से राहत देता है और अनहोनी घटनाओं से बचाता है।

दुकानों में कम पड़ गईं जलेबी
फतेहपुर। नवरात्र के पर्व पर कन्या भोज के आयोजन हो रहे हैं। कहीं देवी भक्त पूड़ी हलवा खिलाकर पुण्यलाभ उठा रहे है तो कहीं पर दही जलेबी परोस रहे हैं। सोमवार को अष्टमी के दिन घर-घर कन्या भोज के आयोजन हुए। मिठाई की दुकानें सुबह पांच बजे से जलेबी बनाने में तल्लीन हो गई। सुबह आठ बजे कई दुकानों से जलेबी गायब हो गईं।


रात्रि जागरण में भक्तों की जुटी भीड़
अमौली/फतेहपुर। गायत्री मंदिर परिसर में दुर्गा पूजा कमेटी द्वारा भव्य रात्रिजागरण का आयोजन किया गया। जिसमें विजय शर्मा एंड कंपनी कानपुर, बबली-सोनिया ग्रुप दिल्ली तथा इलाहाबाद के आंचल ग्रुप के कलाकारों ने अपनी प्रस्तुतियों से समां बांध दी। नृत्य-संगीत की सरिता में श्रोता सारी रात गोता लगाते रहे। कलाकारों ने रामदरबार, सुदामा, चरित्र, मयूर नृत्य आदि का मनमोहक मंचन किया गया। कार्यक्रम में भारी संख्या में दर्शक मौजूद रहे। उमेश त्रिवेदी ने आभार प्रकट किया। रमेश गुप्ता,अवधेश तिवारी, शुभामिश्रा, अनिल ओमर, पन्नालाल आदि मौजूद रहे।


कान्हा मोर बन आयो
नवरात्र महोत्सव की धूम के बीच रासलीला का धमाल
खजुहा/फतेहपुर। जगत जननी की उपासना के लिए मंदिर व पांडाल में सुबह व शाम रेला उमड़ रहा है। रास लीला का मंचन देखने के लिए बड़ी संख्या में दर्शकों का मजमा जुट रहा है। सोमवार को अष्टम देवी की उपासना के लिए भोर पहर से भक्त घरों से निकल पड़े। दोपहर वृंदावन से आए कलाकारों ने माखन चोरी का जींवत मंचन किया। इस बीच मयूर नृत्य ने धमाल मचाया। दर्शक भगवान श्रीकृष्ण के बालपन को करीब से निहारने मेें मशगूल रहे। कलाकारों ने अभिनय में जान डालने में कोई कसर बाकी नहीं रखी।

Spotlight

Most Read

National

2019 में कांग्रेस के साथ मिलकर चुनाव नहीं लड़ेगी CPM

महासचिव सीताराम येचुरी की ओर से पेश मसौदे में भाजपा के खिलाफ लड़ाई में कांग्रेस समेत तमाम धर्मनिरपेक्ष दलों को साथ लेकर एक वाम लोकतांत्रिक मोर्चा बनाने की बात कही गई थी।

22 जनवरी 2018

Related Videos

VIDEO: यूपी पुलिस के इस सिपाही ने किया खाकी को शर्मसार

फतेहपुर में एक बार फिर पुलिस का खौफनाक चेहरा सामने आया है। यूपी पुलिस के सिपाही ने एक युवक की बेरहमी से पिटाई कर दी। पुलिसवाले ने युवक की पिटाई इसलिए कर दी क्योंकि युवक की बाइक से सिपाही को टक्कर लग गई।

18 जनवरी 2018

  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper