शहर में नो इंट्री धड़ाम, हर ओर जाम

Farrukhabad Updated Thu, 27 Sep 2012 12:00 PM IST
फर्रुखाबाद। फर्रुखाबाद व फतेहगढ़ में जाम से शहरी बेहाल हो रहे हैं। पल पल जाम की नौबत रहती है। इसकी वजह नो इंट्री में बडे़ वाहनों की आवाजाही बन रही है। नो इंट्री के दौरान ट्रैक्टर, लोडर, मैजिक, पिकप, घोडा़गाडी़, ट्रक छोटा ट्रक के लिए अलग रूट तय कर दिए गए थे। इस दौरान इनके शहर में घुसने पर जुर्माना का प्रावधान किया गया था। इसके लिए पिकेट पर पुलिस की तैनाती भी की गई थी। एक पखवारे तक इसका पालन कराया गया। इसके बाद सब कुछ ठंडा हो गया है।
शहर में चौक, घुमना, स्टेट बैंक तिराहा, तहसील तिराहा, लाल गेट, रोडवेज बस स्टेशन, भोलेपुर, फतेहगढ़ तिराहा पर अक्सर जाम की नौबत रहती है। ठंडी सड़क पर दोनाें ओर बडे़ वाहन खडे़ रहते हैं। ट्रक फर्राटा मार कर निकल जाते हैं। रेलवे रेाड पर भी बडे़ वाहन निकलते रहते हैं। इससे यहां से निकलना मुश्किल बना रहता है। लिंजीगंज में दिन के समय वाहनों से माल उतरता रहता है। घटियाघाट रोड पर भी यही हाल रहता है। बडे़ वाहनों के आने जाने पर यहां भी रोक नहीं है। पिकेट कर्मचारियों की लापरवाही से यह समस्या बनती है। वह नो इंट्री को प्रभावी नहीं बना पा रहे हैं। इसका खामियाजा शहरियों को भुगतना पड़ रहा है।
अतिक्रमण पर जुर्माने का प्रावधान
फर्रुखाबाद। सड़क के दोनों ओर अतिक्रमण पर जुर्माना का प्रावधान है। इस पर भी अमल नहंी किया जा रहा है। शहर में जगह जगह अतिक्रमण है। कई जगह दुकानदारों ने सामने का फुटपाथ बेच दिया है। जुर्माना में लोक सम्पत्ति अति निवारण अधिनियम 1984 की धारा 3 में 5 साल का कारावास एवं जुर्माना, आईपीसी की धारा 447 में 3 माह का कारावास व 500 रुपए जुर्माना, पुलिस अधिनियम की धारा 32 में 200 रुपए या ज्यादा जुर्माना, एमवी एक्ट की धारा 177 में 300 रुपए या अधिक का जुर्माना, नगर पालिका अधिनियम की धारा 210 में 1000 रुपए से ज्यादा का जुर्माना, नगर पालिका अधिनियम की धारा 265 के तहत 500 या अधिक जुर्माना का कानून है। पुलिस जुर्माना की कार्रवाई से भी बचती है।
दिखाई नहीं दे रहे बैरियर
फर्रुखाबाद। पिकेट के अलावा चौकी तिकोना के पास दो बैरियर लगाए जाने थे। रेलवे रोड पिकेट के पास दो, आईटीआई चौराहे के पास चार व नाला मछरट्टा के पास दो बैरियर लगने थे। यह दिखाई ही नहीं देते हैं।
यह थे पिकेट के इंतजाम
फर्रुखाबाद। पिकेट पर तैनात पुलिस अगर सख्ती बरते तो रूट डाइवर्जन क ो प्रभावी बनाया जा सकता है। इससे जाम की समस्या कट जाएगी। 14 पिकेट इस समय ठंडे पडे़ हैं।
चौकी तिकोना पिकेट
यहां से चौकी तिकोना की तरफ आने वाले वाहनों को नेहरू रोड की ओर रोक कर चौकी बजरिया की ओर मोड़ देना था।
रेलवे स्टेशन तिराहा पिकेट
यहां से वाहनों को चौक की तरफ आने से रोकना था।
आईटीआई चौराहा पिकेट
यहां से घुमना की ओर आने वाले वाहनों क ो रोकना था। कायमगंज से आने बरेली जाने वाले ट्रक ेां को लाल गेट जाने से रोक कर सेंट्रल जेल चौराहे की ओर भेजना था।
घुमना तिराहा पिकेट
यहां से वाहनों को चौक की तरफ आने से रोकना था।
लाल गेट पिकेट
यहां से दुपहिया व व्यक्तिगत चार पहिया वाहनों के अलावा सभी व्यावयायिक वाहनों को लाल गेट की ओर जाने से प्रतिबंधित करना था।
साहबगंज चौराहा पिकेट
यहां से बडे़ वाहनों को कोतवाली फर्रुखाबाद की तरफ प्रतिबंधित कर देना था।
नाला मछरट्टा तिराहा पिकेट
यहां से चौक की ओर जाने वाले वाहनों को रोकना था।
घटियाघाट चौकी पिकेट
बरेली व कायमगंज जाने वाले ट्रकों को लाल गेट की ओर जाने से रोक कर सेंट्रल जेल चौराहे की ओर भेजा जाना था।
टाउनहाल तिराहा पिकेट
यहां से बडे़ वाहनों को तिकोना की ओर जाने से रोका जाना था।
चौकी बजरिया पिकेट
यहां से वाहनों को रेलवे रोड तिराहा की ओर रोक कर जसमई कर तरफ भेजना था।
ढिलावल तिराहा पिकेट
यहां से लाल गेट की तरफ आने वाले ट्रकों को प्रतिबंधित कर नाला बघार रोड पर मोड़ना था।
जसमई चौराहा पिकेट
यहां से रेलवे स्टेशन की ओर आने वाले वाहनों को रोकना था।
जिला जेल चौराहा पिकेट
यहां से पुलिस लाइन व कोतवाली रोड की ओर आने वाहनों को रोक देना था।
मिलेट्री चौराहा पिकेट
यहां से भी बडे़ वाहनों को कोतवाली की ओर जाने से रोक देना था।

Spotlight

Most Read

Chandigarh

बॉर्डर पर तनाव का पंजाब में दिखा असर, लोगों में दहशत, BSF ने बढ़ाई गश्त

बॉर्डर पर भारत और पाकिस्तान में हो रही गोलीबारी का असर पंजाब में देखने को मिल रहा है, जहां लोगों में दहशत फैली हुई है। बीएसएफ ने भी गश्त बढ़ा दी है।

21 जनवरी 2018

Related Videos

VIDEO: अब ये खास अंडरवियर बचाएगी बहू-बेटियों की आबरू

साल 2016 में देश में सबसे ज्यादा रेप के मामले उत्तर प्रदेश से सामने आए। अब यूपी की ही एक बेटी ने एक महिलाओं की इज्जत-आबरू को बचाने का बेड़ा उठाया है। इस बेटी ने एक ऐसा अंडरवियर बनाया है जो रेप प्रूफ है। देखिए क्या है इसकी खासियत।

11 जनवरी 2018

  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper