व्यापारियों ने प्रधानमंत्री का पुतला फूंका

Farrukhabad Updated Tue, 18 Sep 2012 12:00 PM IST
विज्ञापन

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹299 Limited Period Offer. HURRY UP!

ख़बर सुनें
कायमगंज। व्यापार मंडल कंछल गुट के नेताओं ने प्रधानमंत्री का पुतला फूंक कर एफडीआई का विरोध जताया। साथ ही भारत बंद में सहयोग करने का ऐलान किया। व्यापारियों ने कहा केंद्र सरकार देश के खुदरा कारोबार और कारोबारियों के साथ सौतेला व्यवहार कर रही है।
विज्ञापन

नगर अध्यक्ष संजय गुप्ता के मंडी समिति स्थित प्रतिष्ठान पर बुलाई गई बैठक में जिला महामंत्री मनोज कौशल ने कहा कि केंद्र सरकार ने पहले डीजल के दामों में वृद्धि करके देशवासियों के सामने समस्या पैदा की। इससे देश के हर वर्ग को महंगाई की मार से जूझना पडे़गा। इसके बाद एफडीआई को देश में लाने की घोषणा कर व्यापारियों को पसोपेश में डाल दिया है। उन्होंने कहा कि विदेशी बाजार को देश में लाने की कांग्रेस की मंशा से स्वदेशी का सफाया करना है। अर्थ व्यवस्था तार तार हो रही है किं तु फिर भी सरकार आंखें मूदे बैठी है। नगर अध्यक्ष संजय गुप्ता ने कहा कि व्यापार मंडल एफडीआई का विरोध करता रहेगा और वह कांग्रेस के मंसूबे पूरे नहीं होने देगा। उन्होंने कहा कि आगामी 20 सितंबर को राजनैतिक दलों के भारत बंद का व्यापार मंडल सहयोग कर बाजार बंद कराकर सरकार का विरोध करेगा।
इस दौरान मौजूद व्यापारी नेताओं अमित सेठ, सतीश चंद्र अग्रवाल, विनोद गंगवार, पप्पू खां, अभय गंगवार, अनिल गंगवार, जयकिशन गुप्ता, संजीव अग्रवाल, विनीत सक्सेना, लखपति सक्सेना, गोपाल दुबे, बालकिशन गुप्ता, अमोल यादव, अजय अग्रवाल, संजीव गुप्ता, राम आसरे आदि ने विरोध जताते हुए प्रधानमंत्री के पुतले को आग के हवाले कर दिया।
इंसेट-
दशहरे से पहले मंडी के टीन शेड खाली करवाएं
कायमगंज। परंपरानुसार कृषि उत्पादन मंडी समिति में होने वाले दशहरा पर्व पर रावण दहन के कार्यक्रम से पहले मंडी में भरे गेहूं को वहां से हटवाने के लिए व्यापारी नेताओं ने डीएम से मिलकर व्यवस्था करवाने की अपील की। व्यापारियों ने कहा कि यदि मंडी के टीन शेडों से गेहूं न हटवाया गया तो दशहरे का आयोजन संभव नहीं हो पाएगा।
गैस सिलेंडर लेकर महिलाओं ने किया प्रदर्शन
महंगाई के विरोध में पीएम का फूंका पुतला
फर्रुखाबाद। डीजल के दाम में बढ़ोतरी और गैस सिलेंडर का कोटा निर्धारित करने से जनता गुस्से में है। क्षत्रिय वीरांगना सभा से जुड़ी महिलाओं ने सोमवार को भोलेपुर में सिर पर गैस सिलेंडर रख प्रदर्शन किया। सरकार के खिलाफ नारेबाजी की और प्रधानमंत्री का पुतला फूंका।
अखिल भारतीय क्षत्रिय वीरांगना सभा की महिलाएं सोमवार दोपहर भोलेपुर रेलवे क्रासिंग पर इकट्ठा हुई। ये महिलाएं सिलेंडर लिए हुए थीं। सुमन राठौर, पार्षद रमला राठौर और विमलेश चौहान के नेतृत्व में जुटी महिलाओं ने सिर पर सिलेंडर रख कर प्रदर्शन किया। कहा कि केंद्र सरकार घर-गृहस्थी तबाह करने पर तुली है। आम जनता पहले से ही महंगाई की मार से जूझ रही है। ऐसे में डीजल का दाम बढ़ाकर महंगाई को कई गुना अधिक बढ़ा दिया गया। सरकार का मन इतने से भी नहीं भरा तो वह गैस सिलेंडर की संख्या सालभर में छह देने की बात कह रही है। छोटे परिवार में भी एक सिलेंडर एक माह से ज्यादा नहीं चलता है। ऐसे में किचन चलाने के लिए छह सिलेंडर महंगे दर पर खरीदने होंगे। महिलाओं का किचन का बजट बिगड़ेगा। वे बच्चों के दूध, दवा आदि का पैसा काट कर सिलेंडर में खर्च करने के लिए विवश होंगी। महिलाओं ने केंद्र सरकार की नीतियों की आलोचना की। केंद्र सरकार के खिलाफ नारेबाजी की। चेतावनी दी कि सरकार ने गैस सिलेंडरों की निर्धारित संख्या खत्म नहीं किया तो वे उग्र प्रदर्शन करेंगी। आरोप लगाया कि सरकार डीजल के बाद सब्सिडी पर सिर्फ छह सिलेंडर देने की नीति निर्धारित कर आम जनता को आत्महत्या करने के लिए विवश कर रही है। प्रदर्शन करने वाली महिलाओं में राजेश्वरी चौहान, रन्नो चौहान, सरिता कुशवाहा, विटाना चौहान, बेबी राठौर, सुमित्रा परिहार, आशा श्रीवास्तव, सरस्वती देवी चौहान, किरन भदौरिया, ममता चौहान, गिरजा राठौर, आशा देवी, शोभा देवी, सुमन देवी, मीरा परिहार, प्रेमा सोमवंशी, उमा चौहान, रामबेटी चौहान, राधा राठौर आदि मौजूद थीं।
इनसेट
भाजपा की बाजार बंदी तो सपा देगी धरना
20 सितंबर के प्रदर्शन को लेकर बनी रणनीति
भारत बंद आंदोलन में साथ-साथ नजर आएंगे कई संगठन
फर्रुखाबाद। महंगाई के विरोध और केंद्र सरकार की नीतियों के खिलाफ 20 सितंबर को होने वाले भारत बंद आंदोलन में कई संगठन साथ-साथ नजर आएंगे। कांग्रेस को छोड़ ज्यादातर राजनीतिक दल एवं अन्य संगठन भारत बंद के आह्वान का समर्थन कर रहे हैं। जिले भर में इसका असर साफ दिख रहा है। भाजपा ने तय किया है कि वह बाजार बंद कराकर ताकत का प्रदर्शन करेगी। सपा कार्यकता धरना -प्रदर्शन और पुतला फूंकें गे।
डीजल के दामों में बढ़ोतरी और गैस सिलेंडरों की सीमा निर्धारित करने से भाजपा नेतृत्व वाले राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन ही नहीं बल्कि संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन को समर्थन दे रही समाजवादी पार्टी भी विरोध में है। वाम संगठन भी यूपीए सरकार के खिलाफ आंदोलन का बिगुल फूंक रहे हैं। इसके मद्देनजर सभी विपक्षी पार्टियों ने 20 सितंबर को भारत बंद का आह्वान किया है। भाजपा कार्यकर्ताओं ने पार्टी हाईकमान का फरमान आते ही बंद को लेकर रणनीति बनानी शुरू कर दी। भाजपा जिलाध्यक्ष भूदेव राजपूत का कहना हैं कि केंद्र सरकार की नीतियों के विरोध में पार्टी कार्यकर्ता बाजार बंद कराएंगे। सपा हाईकमान से फरमान जारी होने के बाद धरना -प्रदर्शन की रणनीति बना रही है। सपा जिलाध्यक्ष राजकुमार सिंह राठौर ने कहा कि वह केंद्र सरकार की नीतियों के विरोध में भाजपा से अलग कार्य करेंगे। पार्टी के पदाधिकारी और कार्यकर्ता 20 सितंबर को महंगाई के विरोध में कलक्ट्रेट प्रागंण में धरना-प्रदर्शन के बाद पुतला फूंकेंगे।

विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Election
X

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00
X
  • Downloads

Follow Us