बाढ़ की चपेट में आए दर्जन भर से अधिक गांव

Farrukhabad Updated Sat, 25 Aug 2012 12:00 PM IST
शमसाबाद/अमृतपुर। नरौरा बांध से गंगा में लगातार पानी छोड़े जाने से गंगा फिर से उफना गई हैं। इससे शमशाबाद और अमृतपुर के दर्जन भर से अधिक गांव बाढ़ के पानी से घिर गए हैं। पानी केे तेज बहाव और कटान से लोगों में दहशत है। तहसीलदार और अन्य अधिकारियों ने बाढ़ प्रभावित गांवों का दौरा कर ग्रामीणों को तत्काल सुरक्षित स्थानों पर जाने की हिदायत दी है।
गंगा का जलस्तर एकाएक बढ़ने से गांव कासिमपुर तराई, साधौसराय, न्यामतपुर भुक्सी, खान आलमपुर, अजमतपुर, समैचीपुर चितार, कहलयाई जटपुरा, पैलानी दक्षिणी, सैदपुर पिस्तौरा, वाजीदपुर, कमथरी सहित कई गांवों में बाढ़ का पानी घुस आया। तेजी से बढ़ रहे पानी ने ग्रामीणों की चिंता बढ़ा दी है। साधौसराय, हरसिंहपुर और कासिमपुर तराई गांवों में हो रहे कटान से मकान खतरे में पड़ गए हैं। अब तक प्रशासन द्वारा साधौसराय में 16, हरसिंहपुर में 12 तथा कासिमपुर तराई में एक मकान तुड़वाया जा चुका है। तहसीलदार सरोज कुमार सिंह व नायब तहसीलदार अनिल तिवारी ने एसओ शमसाबाद डीके सिसौदिया के साथ कासिमपुर तराई का दौरा कर वेदराम का कच्चा तथा साधौसराय के अतर सिंह क ी पक्की कालोनी तुड़वा दी और ग्रामीणों को सुरक्षित स्थानों पर जाने की हिदायत दी। ग्रामीण अभी प्रशासन द्वारा चयनित शरणालयों में न जाकर सड़क किनारे डेरा जमाए हैं। तहसीलदार ने सरोज कुमार सिंह ने बताया कि सैदपुर पिस्तौरा, कहलयाई, कमथरी और पैलानी दक्षिणी में बाढ़ पीड़ितों की सुविधा के लिए नावें उपलब्ध करा दी गई हैं एक नाव को ढाईघाट पर रिजर्व में रखा गया है।
उधर, बाढ़ का पानी आने से अमृतपुर के माखन नगला, टपुआ, कालका नगला, फुला, जटपुरा, रामप्रसाद नगला, मीजन नगला, जैतपुर के लोगों का आवागमन पूरी तरह से बंद हो गया है। सुंदरपुर कछुआगाढ़ा, राजाराम की मड़ैया, मंझा, ऊगरपुर, हरसिंगपुर कायस्थ बाढ़ से पूरी तरह घिर गए हैं। यहां के लोगों के सामने रोजी-रोटी की भी समस्या खड़ी हो गई है। पशुओं के चारा आदि की भी दिक्कत हो रही है। जमीन का कटान भी जारी है। माखन नगला के दिनेश चंद की 10 बीघा, गजेन्द्र की 15 बीघा, सोवरन की 5 बीघा और रवींद्र की 6 बीघा जमीन गंगा नदी में समा गई है।
नगला दुर्गू के प्राथमिक विद्यालय के चार कमरे पिछले साल बाढ़ में बह गए थे। इसमें से एक कमरा बचा था। वह भी गंगा नदी की बाढ़ में समा गया है। अब विद्यालय भवन का नामोनिशान मिट गया।
तहसीलदार श्रीराम सचान ने बताया कि बाढ़ का पानी अभी घरों में नहीं घुसा है। माखन नगला के प्रधान बाबू सिंह से नाव डलवाने के लिए कहा गया है, जिससे लोगों का आवागमन शुरू हो सके। उन्होंने बताया कि बाढ़ प्रभावित गांवों को हरसंभव सहायता प्रदान की जाएगी।

Spotlight

Most Read

National

पुरुष के वेश में करती थी लूटपाट, गिरफ्तारी के बाद सुलझे नौ मामले

महिला लड़कों के ड्रेस में लूटपाट को अंजाम देती थी। अपने चेहरे को ढंकने के लिए वह मुंह पर कपड़ा बांधती थी और फिर गॉगल्स लगा लेती थी।

20 जनवरी 2018

Related Videos

VIDEO: अब ये खास अंडरवियर बचाएगी बहू-बेटियों की आबरू

साल 2016 में देश में सबसे ज्यादा रेप के मामले उत्तर प्रदेश से सामने आए। अब यूपी की ही एक बेटी ने एक महिलाओं की इज्जत-आबरू को बचाने का बेड़ा उठाया है। इस बेटी ने एक ऐसा अंडरवियर बनाया है जो रेप प्रूफ है। देखिए क्या है इसकी खासियत।

11 जनवरी 2018

  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper