दूसरे बैंक को बनाया निशाना

Farrukhabad Updated Tue, 14 Aug 2012 12:00 PM IST
फर्रुखाबाद। जिले में इन दिनों बेलगाम अपराधी ताबड़तोड़ वारदातें कर पुलिस को खुली चुनौती दे रहे हैं। अपराधियों पर पुलिस का खौफ नजर नहीं आ रहा है। नवाबगंज क्षेत्र में आठ महीने पहले हुई डकैती का खुलासा अभी नहीं हुआ कि बदमाशों ने सोमवार को शमसाबाद में बैंक डकैती कर पुलिस को चुनौती दे डाली। डकैती के बाद पुलिस की नींद टूटी तो बैंकों की चेकिंग की कवायद शुरू हुई। जगह-जगह चेकिंग लगाई गई।
नबावगंज के गांव शुकरूल्लापुर स्थित आर्यावर्त ग्रामीण बैंक में पिछले साल 25 नवंबर की दोपहर बाइकों से आए सशस्त्र बदमाशों ने बैंक कर्मियों को बंधक बना 7.97 लाख की नगदी लूट ले गए थे। पुलिस के आला अफसरों ने डकैती के बाद एसओ और हल्का प्रभारी के साथ ही दो सिपाहियों को हटा दिया था। इस के कुछ दिनों बाद पुलिस के लिए यह घटना एक आम हो गई। पुलिस को इस घटना का कोई सुराग नहीं लगने से खुलासा तक नहीं कर सकी है। सोमवार को एक बार फिर बदमाशों ने शमसाबाद के रोशनाबाद स्थित आर्यावर्त ग्रामीण बैंक में धावा बोल कर असलहों के बल पर बैंक से 10.86 लाख रुपए लूट ले गए। बदमाशों के इतने हौसले बुलंद है कि 9 अगस्त को मोहम्मदाबाद के धीरपुर स्थित आर्यार्वत ग्रामीण बैंक के मैनेजर विनोद कुमार को बदमाशों ने बैंक जाते समय 20 हजार रुपए लूट लिया था। पुलिस इन घटनाओं को खुलने में नाकाम साबित हो रही है। इससे लूट की वारदातें बढ़ रही हैं।
उधर, दिनदहाड़े हुई बैंक डकैती की जानकारी आला अफसरों को दी। सूचना पर डीआईजी मौके पर पहुंचे। इसकी जानकारी होने पर शहर की बैंकों में चेकिंग करने के निर्देश दिए गए। इसके बाद शहर की पुलिस ने खानापुरी के लिए बैंकों को चेक किया। पुलिस को सबसे ज्यादा भय इसका था कि कहीं डीआईजी किसी बैंक को चेक करने के लिए न चले जाएं। इसके साथ ही पुलिस ने शहर में चेकिंग अभियान चलाया। इस दौरान कई वाहनों का चालान और सीज किया। इसके बावजूद पुलिस को लुटेरों का सुराग नहीं लगा।
100 नंबर से कुछ फायदा नहीं
शमसाबाद। पुलिस की ढुलमुल शैली एक बार फिर सामने आ गई। लूटपाट की घटना का पता चलने के बाद ग्रामीणों ने इसकी जानकारी 100 नंबर पर दी। वहां से कहा गया कि इसकी जानकारी थाना मऊदरवाजा में दें। इससे ग्रामीणों में नाराजगी थी। कसबा के मानवेंद्र, संजीत कुमार, संजू, प्रभात, जयवीर, सर्वेश, धरनिंगधर, रामनिवास ने बताया कि 100 नंबर पर सूचना दी तो कहा गया थाने में जानकारी दो।
इनसेट
आर्यावर्त ग्रामीण बैंकों को बना रहे निशाना
फर्रुखाबाद। बदमाश आर्यावर्त ग्रामीण बैंकों को ही निशाना बना रहे हैं। इन बैंकों की सुरक्षा व्यवस्था कमजोर होने से बदमाशों को ज्यादा कवायद नहीं करनी पड़ती है। नबावगंज के शुकरूल्लापुर स्थित आर्यावर्त ग्रामीण के बाद बदमाशों ने शमशाबाद के रोशनाबाद बैंक शाखा मेें सोमवार को घटना को अंजाम दिया। इससे पांच दिन पहले मोहम्मदाबाद के धीरपुर स्थित बैंक मैनेजर से बैक जाते समय लूटपाट की थी।
बैंक में सुरक्षा व्यवस्था के कोई इंतजाम नहीं
शमसाबाद। आर्यावर्त ग्रामीण बैंक बी ग्रेड की श्रेणी में आती है। इसके बावजूद बैंक में न तो गार्ड है और न ही हूटर। गार्ड की अगर तैनाती होती तो बदमाशों के लिए लूटपाट करना आसान न होता। बैंक में सीसी कैमरे में भी नहीं लगे हैं। बैंक में चौकीदार की तैनाती न होने से सारी रात बैंक की सुरक्षा गश्ती पुलिस के हवाले रहती है। शाखा प्रबंधक श्यामप्रकाश शुक्ला ने बताया कि वह कई बार सुरक्षा व्यवस्था को लेकर उच्चाधिकारियों को लिखित रूप से अवगत करा चुके हैं।

Spotlight

Most Read

Varanasi

मतदाता पुनरीक्षण में लापरवाही, चार अफसरों को नोटिस

मतदाता पुनरीक्षण में लापरवाही, चार अफसरों को नोटिस

19 जनवरी 2018

Related Videos

VIDEO: अब ये खास अंडरवियर बचाएगी बहू-बेटियों की आबरू

साल 2016 में देश में सबसे ज्यादा रेप के मामले उत्तर प्रदेश से सामने आए। अब यूपी की ही एक बेटी ने एक महिलाओं की इज्जत-आबरू को बचाने का बेड़ा उठाया है। इस बेटी ने एक ऐसा अंडरवियर बनाया है जो रेप प्रूफ है। देखिए क्या है इसकी खासियत।

11 जनवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls
  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper