नालाें से निकल रहे पालीथिन, प्लास्टिक और जूते-चप्पल

Farrukhabad Updated Fri, 13 Jul 2012 12:00 PM IST
फर्रुखाबाद। बाजार करने के लिए आसान हो चुकी पालीथिन, मिनरल वाटर की बोतलों और रेडीमेड खाद्य सामग्री के रंग बिरंगे पैकेटों के अत्यधिक प्रचलन ने शहर को बर्बादी के मुंहाने पर ला खड़ा किया है। इसके अलावा घर के कूड़े, पुराने हो चुके जूते चप्पलों और कपड़ों को नाली-नालों में फेंकने की फितरत भी नालों को जाम कर देने की सबसे बड़ी वजह बन गई है। नाला मछरट्टा और छावनी के नाले की सफाई के दौरान यही सब सामग्री नालों में फंसी मिली है।
मालूम हो कि पिछले सप्ताह छावनी मोहल्ले में भूमिगत नाला चोक हो जाने से शहर के आठ बड़े मोहल्लाें में गंदे पानी का भराव हो गया था। इससे पांच दिनों तक करीब एक लाख लोगाें में त्राहि-त्राहि मची रही, जबकि चार दिनों तक नगर पालिका और जिला प्रशासन को भारी मशक्कत करनी पड़ी थी। जेसीबी मशीन से उस नाले की सफाई के दौरान पालीथीन, जूते चप्पल, कपड़े ही अधिकांश तौर पर निकले थे। करीब दो साल पहले भी छावनी में ही नाला चोक हो जाने पर सफाई कराई गई थी तो उसमें रजाई गद्दे पाए गए थे। इन दिनाें फर्रुखाबाद स्थित नाला मछरट्टा चोक हो जाने पर सफाई कार्य चल रहा है। गुरूवार को जगह-जगह बने चेंबरों से सफाई कर्मियों ने जान जोखिम में डालते हुए घुसकर सफाई की तो भी अत्यधिक पालीथिन, प्लास्टिक की बोतलें, जूते चप्पल, खाद्य सामग्री वाले पैकेट, सीरिंज, थर्मोकोल पेपर और कपड़े ही निकले, जबकि शहर में कई अन्य जगह भी नाले पूरी तरह से चोक हैं जिनमें यही सब सामग्री फंसी होने की पूरी संभावना है।
सिटी मजिस्ट्रेट मनोज कुमार ने कहा कि उपरोक्त सामग्री नाली नालाें में फेंक देेने की जनता की आदत ही जनता के लिए परेशानी का सबब बन रही है। बताया कि पालीथिन खा लेने से जानवरों की भी मौत हो जाती है। यह मानव स्वास्थ्य के लिए भी हानिकारक है। सफाई कार्य नियमित न होने को भी उन्होंने गंदगी फंसने का कारण बताया। कहा कि जिला प्रशासन जल्द ही व्यापक रूप से अभियान चलाकर जनता को जागरूक करेगा कि प्लास्टिक और पालीथीन का उपयोग कम से कम किया जाए।


Spotlight

Most Read

Lucknow

यूपी दिवस: प्रदेश को 25 हजार करोड़ की योजनाओं की सौगात, योगी बोले- आज का दिन गौरवशाली

यूपी दिवस के मौके पर प्रदेश को सरकार ने 25 हजार करोड़ करोड़ की योजनाओं की सौगात दी। मुख्यमंत्री योगी ने आज के दिन को गौरवशाली बताया।

24 जनवरी 2018

Related Videos

VIDEO: अब ये खास अंडरवियर बचाएगी बहू-बेटियों की आबरू

साल 2016 में देश में सबसे ज्यादा रेप के मामले उत्तर प्रदेश से सामने आए। अब यूपी की ही एक बेटी ने एक महिलाओं की इज्जत-आबरू को बचाने का बेड़ा उठाया है। इस बेटी ने एक ऐसा अंडरवियर बनाया है जो रेप प्रूफ है। देखिए क्या है इसकी खासियत।

11 जनवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls