गंगा का जलस्तर बढ़ने से बह गए परकोपाइन

Farrukhabad Updated Thu, 12 Jul 2012 12:00 PM IST
फर्रुखाबाद। बरसात और नरौरा बांध से लगातार छोडे़ जा रहे पानी से गंगा का जल स्तर बढ़ने लगा है। इससे खरगपुर नहरैया में परकोपाइन बह गए हैं। गंाव के लोगों ने इस मामले की जांच कराने की मांग डीएम से की है। पानी बढ़ने से गंगा के नजदीक वाले गंावों के लोग दहशत में आने लगे हैं। बुधवार को जल स्तर में 0.15 सेमी का इजाफ ा दर्ज किया गया। वहीं बारिश से परकोपाइन बनने में भी व्यवधान आ रहा है।
सोमवार को नरौरा बांध से 14610 क्यूसेक पानी छोड़ा गया था। जल स्तर 134 मीटर ही रहा था। मंगलवार को 1599 क्यूसेक पानी फिर छोड़ दिया गया। इससे जल स्तर में बढ़त दर्ज की गई है। यह 0.15 सेंटीमीटर बढ़ गया है। बुधवार को नरौरा से 18676 क्यूसेक पानी और छोड़ दिया गया।
बढ़ रहे जल स्तर ने परकोपाइन के घटिया निर्माण की पोल खोल दी है। यह गोरखध्ंाधा गांव के लोगों ने डीएम मुथुकुमार स्वामीबी को भी बता दिया है। खरगपुर नहरैया के महेंद्र सिंह यादव, विजयवीर सिंह, श्यामबिहारी, रामप्रकाश ने डीएम से मुलाकात की। इन्होंने बताया कि खरगपुर नहरैया सहित 14 गांव रामगंगा नदी के कटान पर लगे हुए हैं। इन गांवों को बचाने के लिए बांध बन रहे हैं। विभागीय अधिकारियों व ठेकेदारों ने स्वीकृत धन का बंदरबांट कर लिया है। घटिया निर्माण से बांध पूरी तरह क्षतिग्रस्त होे गया है। कई परकोपाइन अभी भी अधूरे हैं।
जल स्तर बढ़ने से नदी के किनारे के गंावों में रहने वाले खौफजदा होने लगे हैं। लो फ्लड से प्रभावित होने वाले कायमगंज के कारव, इकलहरा, लखमीदासपुर, नूरपुर गढ़िया, सूरजपुर ब्रह्मनान, नसरूल्लापुर, चौखड़िया, भैंसार, पुंथर देहामाफी सहित 65 गंावों को खतरा सताने लगा है।
अमृतपुर में ऊगरपुर, हरसिंहपुर कायस्थ, गोरखपुर, भाऊपुर चौरासी, आसमपुर, मड़ैया तौफीक, फौलादपुर, फखरपुर, कटरी अमृतपुर, पहाड़पुर, मझुआपुर, बलीपट्टी, करनपुर घाट, आंट, भवानीपुर, सीढ़े चकरपुर, जिनौली, पदमापुर,चाचूपुर जटपुरा, सलेमपुर, कटरी सुंदरपुर, दलेलनगर, खाखिन, गैलहार,मराहार, बेहटा, कड़क्का, कोलासोता, सिकंदरपुर, डबरी, चक बेर सहित 89 गंाव के लोगों की नींद उड़ गई है। उन्हें लगता है कि क भी बाढ़ का कहर टूट सकता है। उनका यह डर वाजिब भी है। कायमगंज व अमृतपुर में परकोपाइन बनने का काम अभी तक चल रहा है। बरसात होने से काम बंद हो जाता है। इससे इनके निर्माण में भी देरी हो रही है। शासन ने 30 जून तक काम खत्म होने के निर्देश दिए थे। ऐसा नहीं हो पाया। सिंचाई विभाग लापरवाही बरत रहा है। फिलहाल सिंचाई विभाग के पास रामगंगा में कालागढ़ से पानी छोड़े जाने की कोई भी सूचना नहीं है। रामगंगा का जलस्तर बढा़ तो बाढ़ की तबाही रोक पाना मुश्किल होगा।

Spotlight

Related Videos

VIDEO: अब ये खास अंडरवियर बचाएगी बहू-बेटियों की आबरू

साल 2016 में देश में सबसे ज्यादा रेप के मामले उत्तर प्रदेश से सामने आए। अब यूपी की ही एक बेटी ने एक महिलाओं की इज्जत-आबरू को बचाने का बेड़ा उठाया है। इस बेटी ने एक ऐसा अंडरवियर बनाया है जो रेप प्रूफ है। देखिए क्या है इसकी खासियत।

11 जनवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls
  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper