तबाही मचाने को तैयार एक दर्जन नाले

Farrukhabad Updated Thu, 05 Jul 2012 12:00 PM IST
फर्रुखाबाद। शहर सीमा के भीतर प्रदूषित पानी की निकासी के लिए बने एक दर्जन प्रमुख नालों की कई दशकों से सफाई नहीं कराई गई है, जिसका खामियाजा शहरवासियों को भुगतना पड़ रहा है। अगर अब भी प्रशासन न चेता तो बारिश में नाले कहर बरपाएंगे।
नगर पालिका सीमा के भीतर फर्रुखाबाद और फतेहगढ़ में एक दर्जन प्रमुख नाले हैं। इनकी लंबाई करीब 21 हजार मीटर बताई गई है। इनमें कई भूमिगत और कुछ खुले हुए नाले हैं। अगर नालों की हालत पर गौर करें तो इनकी समुचित सफाई कई दशकों से नहीं कराई गई है और न ही नालों की जमीन पर बढ़ते अतिक्रमण को रोकने की प्रशासन ने कभी जरूरत समझी। रेलवे स्टेशन से भीकमपुरा मोहल्लों के बीच से बहने वाले नाले के आसपास लोगों ने अतिक्रमण कर रखा है। तराई में हालत यह है कि खेत मालिक बांध बनाकर फसलों की सिंचाई करते हैं। इसी तरह तलैया फजल इमाम से निकलकर कछियाना, जटवारा जदीद, नखास से गंगा नदी की ओर बहने वाला नाला सलावत खां में लुप्त हो चला है। यहां के खेत मालिकों ने नालों की जमीन पर कब्जा कर लिया है। गढ़ी अशरफ अली नाले के आसपास भाऊटोला में नाले के आसपास इमारतें बना रखी हैं। करोढ़ीलाल स्ट्रीट से निकलकर नौलक्खा की तरफ बहने वाला भूमिगत नाला भी जब तब विकराल रूप धारण कर लेता है। पक्कापुल गुदड़ी के पास नाले की जमीन पर कई कच्चे-पक्के मकान बने खड़े हैं। इसी तरह नाला मछरट्टा का अंडरग्राउंड नाले की सफाई न होने से मोहल्ला फिदाई खां, खड़ियाई निवासियों को जब तब इसका खामियाजा भुगतना पड़ता है। पालिका प्रशासन को सफाई की सुध उस वक्त आती है, जब जलभराव से घिरने पर नागरिक हो-हल्ला मचाते हैं। लिंजीगंज नाले की हालत फैले अतिक्रमण के कारण काफी बुरी है। मुख्य सफाई निरीक्षक कपिल गुप्ता बताते हैं कि फुटपाथ पर बैठे दुकानदार नाले की सफाई करने में बाधक बने हैं। पुलिस के सहयोग से ही सफाई हो सकती है, जबकि सपा नेता शारिक अली, डा. कैसर खां, वीपी सिंह झल्लू कहते हैं कि पहले तो प्रशासन सरकारी जमीन पर अतिक्रमण होने न दे। अगर कोई कब्जा जमाए तो उसको हटवाने की जिम्मेदारी पालिका की है। लेकिन इसकी जिस विभाग के पास अवैध कब्जे को रोकने की जिम्मेदारी है। उन्हें जनता के हितों से कोई सरोकार नहीं है।

Spotlight

Most Read

National

पुरुष के वेश में करती थी लूटपाट, गिरफ्तारी के बाद सुलझे नौ मामले

महिला लड़कों के ड्रेस में लूटपाट को अंजाम देती थी। अपने चेहरे को ढंकने के लिए वह मुंह पर कपड़ा बांधती थी और फिर गॉगल्स लगा लेती थी।

20 जनवरी 2018

Related Videos

VIDEO: अब ये खास अंडरवियर बचाएगी बहू-बेटियों की आबरू

साल 2016 में देश में सबसे ज्यादा रेप के मामले उत्तर प्रदेश से सामने आए। अब यूपी की ही एक बेटी ने एक महिलाओं की इज्जत-आबरू को बचाने का बेड़ा उठाया है। इस बेटी ने एक ऐसा अंडरवियर बनाया है जो रेप प्रूफ है। देखिए क्या है इसकी खासियत।

11 जनवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls
  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper