कारवां बढ़ा, अब आमरण अनशन पर 16 लोग

Farrukhabad Updated Sun, 20 May 2012 12:00 PM IST
विज्ञापन
ख़बर सुनें
फर्रुखाबाद। जनसमस्याओं और भ्रष्टाचार के खिलाफ शुरू हुई सर्वोदय मंडल और श्री गांधी आश्रम मजदूर संघ की जंग जिला प्रशासन के लिए परेशानी का सबब बनती जा रही है। आमरण अनशनकारियों की तबियत बिगड़ने पर आला अधिकारी हड़बड़ा उठे हैं। स्वास्थ्य परीक्षण कराने के बाद मिली रिपोर्ट के आधार पर सिटी मजिस्ट्रेट ने शनिवार को एंबुलेंस भेजकर अस्पताल भेजने के बहाने अनशनकारियों को हटवाने की कोशिश की लेकिन अपने मकसद में नाकाम रहे। उधर अगुवाई कर रहे अधिवक्ता लक्ष्मण सिंह के साथ आमरण अनशन के कारवां में अब लोगों की संख्या बढ़कर 16 हो गई है।
विज्ञापन

जिला सर्वोदय मंडल और श्री गांधी आश्रम मजदूर संघ का आमरण अनशन शनिवार को चौथे दिन भी जारी रहा। आमरण अनशन पर बैठे लोगों की संख्या शुक्रवार तक दस थी अब इसमें रमेश चंद्र गुप्ता, बब्बन राम, ओम प्रकाश पाठक, रामबड़ाई यादव, अनिल कुमार सिंह, कृष्ण कुमार शुक्ला भी शामिल हो गए हैं। पहले दिन से अन्न त्याग कर बैठे लक्ष्मण सहित कई लोगों की हालत नाजुक हो चली है। शनिवार को स्वास्थ्य टीम मौके पर पहुंची और अनशनकारियों का शारीरिक परीक्षण किया। लक्ष्मण सिंह सहित तीन लोगों की हालत नाजुक पाई गई। लेकिन अनशनकारियों ने इसके बाद भी जिला प्रशासन को आगाह किया है कि मांगे पूरी होने तक वे वहां से नहीं हटेंगे। सत्याग्रह कर रहे लोगों ने जनता से भी अपील करते हुए कहा है कि जो लोग कुकिंग गैस, पेयजल और बिजली आदि समस्याओं से जूझ रहे हैं वे आकर इस आंदोलन में शरीक हों। क्योंकि यह आंदोलन सिर्फ सर्वोदय मंडल का नहीं बल्कि आम जनता का है।
शनिवार को हुए स्वास्थ्य परीक्षण के बाद अनशनकारियों की तबियत बिगड़ने की खबर जिला प्रशासन के अधिकारियों को मिली तो उनमें हड़बड़ी मच गई। दोपहर के समय जिला अस्पताल से एक एंबुलेंस भेज दी गई। फतेहगढ़ थाने के पुलिस कर्मी भी रहे। लक्ष्मण सिंह सहित अन्य अनशनकारियों से कहा गया कि अस्पताल चलें लेकिन कोई वहां से टस से मस नहीं हुआ।
लक्ष्मण सिंह का कहना था कि प्रशासन चाहे तो उन्हें जेल भेज दे लेकिन जब तक समस्या समाधान के लिए लिखित रूप से जिलाधिकारी का जवाब नहीं मिलता वे अनशन स्थल से नहीं हटेंगे। गांधी आश्रम के कर्मचारियों की भविष्य निधि का पैसा हड़प जाने के मामले में लक्ष्मण सिंह ने कहा कि किसी जांच की जरूरत नहीं है सब आरोपी उजागर हो चुके हैं उनकी गिरफ्तारी में जिला प्रशासन टाल मटोल कर रहा है। अनशन कारियों का मांगपत्र देखने के बाद फतेहगढ़ कोतवाल भी वहां से वापस चले गए। अनशन फिलहाल जारी है। इसमें शामिल होने वालों की संख्या में लगातार इजाफा हो रहा है। लोक समिति के राष्ट्रीय अध्यक्ष सुल्तान सिंह ने ऐलान किया है कि वे और उनके सभी साथी भी 21 मई से आमरण अनशन में शामिल हो जाएंगे।
आमरण अनशन के साथ चल रहे क्रमिक अनशन में अतुल शर्मा, रिजवान अली, धर्मेंद्र प्रताप सिंह, कौशल किशोर द्विवेदी, देवपाल सिंह, राघवेंद्र मोहन मिश्रा, पंकज शुक्ला, छेदालाल अवस्थी, नसीर मास्टर, विद्यानंद आर्य, योगेंद्र प्रकाश, चंद्रपाल, शिव नारायण, यदुनंदन लाल गोस्वामी, दुर्गा राजपूत, स्नेहलता शाक्य, गोपाल बाबू आदि शामिल रहे।
समर्थन देने का सिलसिला जारी
फर्रुखाबाद। कलेक्ट्रेट में चार दिनों से हो रहे आमरण अनशन में अखिल भारतीय भ्रष्टाचार उन्मूलन संगठन ने भी अपना समर्थन दिया है। जिलाध्यक्ष अजयपाल सिंह परिहार ने समर्थन पत्र देकर कहा है कि सर्वोदय मंडल का यह आंदोलन जनहित में है। कहा है कि संगठन सर्वोदय मंडल द्वारा उठाई गई सभी मांगों का समर्थन करते हुए अनशन में शामिल होने का ऐलान करता है। इनके अलावा आरटीआई कार्यकर्ता डा.मोहम्मद कैसर खां और नफीस आलम ने भी लक्ष्मण सिंह को समर्थन देते हुए आंदोलन में साथ निभाने की घोषणा की है।
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us