बेहतर अनुभव के लिए एप चुनें।
INSTALL APP

शिक्षामित्र की तलाश, बच्चों से भी पूछताछ

Farrukhabad Updated Sat, 09 Feb 2013 05:30 AM IST
विज्ञापन

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

ख़बर सुनें
फर्रुखाबाद। दिनदहाड़े प्रधानाध्यापक की हत्या के मामले में पुलिस अभी कोई सुराग नहीं जुटा सकी है। घटना के खुलासे के लिए तीन टीमें बनाई गई हैं। शुक्रवार को चश्मदीदों से दोबारा पूछताछ की गई। उधर, मृतक के मोबाइल फोन की काल डिटेल खंगाली जा रही है। मोहम्मदाबाद प्रतिनिधि के मुताबिक शुक्रवार को सीओ योगेश कुमार ने घटनास्थल की जांच पड़ताल की। गांव के ही कुछ बच्चोें को बुलाकर जानकारी ली। पुलिस को पता चला कि हत्यारे स्कूल में भी आए थे। इस पर पुलिस ने रामनगर कुड़रिया स्कूल की एक शिक्षामित्र के यहां जाकर जांच पड़ताल की। योगेश कुमार ने बताया कि मामले की जांच की जा रही है।
विज्ञापन

शहर कोतवाली के मोहल्ला श्यामनगर निवासी और मोहम्मदाबाद के रामनगर कुड़रिया स्थिल विद्यालय के प्रधानाध्यापक आनंद प्रकाश राजपूत की गुरुवार को उस समय गोली मारकर हत्या कर दी गई थी जब वह एक छात्र मुकेश के साथ नगला समई के अवधेश प्रधान के यहां मिडडे-मील का राशन लेने ले जा रहे थे। इस मामले में देर रात 13 लोगों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कराई गई। पुलिस ने मौके से मिला मृतक का मोबाइल कब्जे में लेने के बाद शुक्रवार को उसकी काल डिटेल निकाली। पुलिस ने कुछ नंबरों को सर्विलांस पर लगा दिया है। कप्तान ने इस घटना के खुलासे के लिए मऊदरवाजा एसओ हरपाल सिंह यादव, एसओजी प्रभारी नन्हेंलाल के साथ ही मोहम्मदाबाद कोतवाली पुलिस को लगाया है।

शुक्रवार को पुलिस ने चश्मदीद गवाह छात्र मुकेश के साथ ही उस साइकिल सवार मनोज से दोबारा पूछताछ की जो वारदात के समय वहां से गुजर रहा था। मनोज ने पुलिस को बताया कि वह दावत में जा रहा था। दो युवक प्रधानाध्यापक से बात कर रहे थे। कुछ ही दूर पर पहुंचा तो गोली की आवाज सुनाई दी। वापस आकर देखा तो हत्यारे बाइक से फरार हो गए और प्रधानाध्यापक जमीन पर पड़े थे। कुछ महिलाओं ने हत्यारों को रुकने का प्रयास किया तो उन्होंने तमंचा दिखाकर डरा दिया।

शिक्षामित्र की तलाश में गई पुलिस
मोहम्मदाबाद। प्रधानाध्यापक हत्याकांड में पुलिस शिक्षामित्र जयसिंह को तलाश रही है। शुक्रवार को पुलिस ने गांव जाकर उसके बारे में जानकारी जुटाई। प्रभारी कोतवाल श्रीकांत यादव ने बताया कि नामजद लोगों की तलाश की जा रही है। जल्द ही घटना का खुलासा होगा। हत्या के पीछे क्या राज है, इसका खुलासा आरोपियों की गिरफ्तारी के बाद ही होगा।

आनंद ने अपने नाम से नहीं मांगी आरटीआई
फर्रुखाबाद। प्रधानाध्यापक आनंद प्रकाश राजपूत हत्याकांड में नया मोड़ आ रहा है। आनंद ने आरटीआई के तहत अपने नाम से एक भी सूचना नहीं मांगी थी।
शुक्रवार केा आरटीआई के तहत मांगी जाने वाली सूचनाओं के रजिस्टर खंगाले गए। जांच पड़ताल में आनंद राजपूत नाम से एक भी आरटीआई के तहत आवेदन होना नहीं पाया गया। जिला बेसिक शिक्षाधिकारी भगवत पटेल ने बताया कि अभी तक लगभग 1000 आवेदन आरटीआई के तहत विभाग में आए हैं। इनका अवलोकन किया गया। इसमें आनंद प्रकाश राजपूत नाम से एक भी आरटीआई के तहत प्रार्थना पत्र विभाग में नहीं आया है। उनके द्वारा एक भी सूचना नहीं मांगी गई थी।

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us