वीर सपूतों की गाथा सुनकर छलकें आंसू

Farrukhabad Updated Mon, 17 Dec 2012 05:30 AM IST
पूर्व सैनिक सेवा परिषद ने मनाया विजय दिवस समारोह
फर्रुखाबाद। वर्ष 1971 में भारत-पाक युद्घ में शहीद हुए वीर सपूतों की गाथाएं सुनकर परिसर में मौजूद लोगों की आंखों से आंसू छलक पड़े। मौका था पूर्व सैनिक सेवा परिषद की ओर से ठंडी सड़क स्थित नवभारत सभा भवन में पूर्व सैनिक सेवा परिषद की ओर से आयोजित विजय दिवस कार्यक्रम का
कार्यक्रम का शुभारंभ मुख्य अतिथि ठाकुर वीरेंद्र सिंह और विशिष्ट अतिथि पालिकाध्यक्ष वत्सला अग्रवाल ने भारत माता के चित्र पर मार्ल्यापण कर और दीप प्रज्ज्वलन कर किया। कर्नल इंद्रपाल सिंह राठौर ने भारत-पाक युद्ध की दास्तां सुनाई। कोषाध्यक्ष चंद्रप्रकाश मिश्रा ने आय-व्यय का ब्यौरा प्रस्तुत किया। इस दौरान परिषद में सक्रिय भूमिका निभाने वाले पूर्व सैनिक शिवरतन सिंह, जितेंद्र सिंह राठौर, राजवीर सिंह, रणवीर सिंह, रामसनेही दीक्षित, अमर सिंह आदि को प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित किया गया। कार्यक्रम की अध्यक्षता छबिनाथ सिंह राठौर और संचालन कैप्टन डीएस राठौर ने किया। इस मौके पर कर्नल डीपी सिंह, लेफ्टीनेंट कमांडर जीपी त्रिपाठी, पूनम मिश्रा, कर्नल केबी सिंह, महेंद्र पाल सिंह, डा. रघुनंदन प्रखर, नरेंद्र शाक्य, आरडी कनौजिया, राजकुमार वर्मा, ओमप्रकाश कटियार, अजय वर्मा, जय सिंह, आरपी अग्निहोत्री, अमृतलाल कनौजिया, वीरपाल, विजय बहादुर सिंह, एचएस गिरि आदि मौजूद रहे।
मेधावी बच्चे किए गए सम्मानित
फर्रुखाबाद। पूर्व सैनिक सेवा परिषद की ओर से आयोजित विजय दिवस समारोह में मेधावी बच्चों को सम्मानित किया गया। कर्नल केबी सिंह और पालिकाध्यक्ष वत्सला अग्रवाल ने बीएड की छात्रा आरती देवी पुत्री हवलदार आरएस कश्यप, अर्चना देवी पुत्री हवलदार राजेंद्र पाल, नितिन कुमार पुत्र हवलदार ईश्वरदयाल और बीए द्वितीय वर्ष की छात्रा प्रीती शाक्य पुत्री हवलदार स्वर्गीय अमर सिंह शाक्य को पांच-पांच हजार की चेक देकर सम्मानित किया। इसके अलावा पूर्व सैनिक जदुनाथ सिंह, जयनारायण सिंह यादव, जगन्नाथ सिंह, रघुवरदयाल कनौजिया और संतपाल सिंह को भी सम्मानित किया गया।
शहीद स्मारक पर पुष्पचक्र चढ़ा दी श्रद्धांजलि
फर्रुखाबाद। विजय दिवस की 41वीं वर्षगांठ पर सेना के अफसर, जवानों और पूर्व सैनिकों ने शहीद स्मारक पर पुष्पचक्र चढ़ाकर शहीदों को याद किया। उनको नमन कर श्रद्धांजलि दी।
1971 में भारत- पाक के बीच हुए युद्ध में 16 दिसंबर को भारत ने विजय हासिल की थी। विजय दिवस की 41 वीं वर्षगांठ पर राष्ट्र के लिए अपना बलिदान देने वालों को याद किया गया। सैनिक स्टेशन के करियप्पा शहीद स्मारक पर कार्यवाहक स्टेशन कमांडर कर्नल एमआरके राजेश पानीकर स्टेशन के सभी सेवारत सैनिक और भूतपूर्व सैनिकों ने शहीद सैनिकों को श्रद्धांजलि दी। कार्यवाहक स्टेशन कमांडर कर्नल राजेश पानिकर ने कहा कि 16 दिसंबर 1971 को पाकिस्तानी सेना को पराजित करते हुए नए राष्ट्र बांग्लादेश की स्थापना की गई थी। मद्रास रेजीमेंट के कर्नल आफ दि रेजीमेंट लेफ्टीनेंट जरनल रिटायर्ड महेन्द्र एम वालिया ने अपनी यादे पूर्व सैनिकों के साथ ताजा की। इस दौरान कर्नल केडीएस झाला, कर्नल आरके जसवाल, लेफ्टीनेंट कर्नल सग्राम सिंह बरतक, कर्नल केएस डूडी, लेफ्टीनेंट कर्नल टीसी पांडेय, लेफ्टीनेंट कर्नल मनीष जैन, मेजर दर्शन सचदेवा, मेजर आरके सिंह, लेफ्टीनेंट राकेश कुमार, लेफ्टीनेंट नरेन्द्र सिंह तंवर, पूर्व सैनिक कर्नल केवी सिंह, सरनाम सिंह, आईपीएस राठौर, कैप्टन उदयराज, कैप्टन हरवीर सिंह, कैप्टन सतीश पांडेय, रामपाल सिंह आदि मौजूद रहे।

Spotlight

Most Read

Varanasi

मतदाता पुनरीक्षण में लापरवाही, चार अफसरों को नोटिस

मतदाता पुनरीक्षण में लापरवाही, चार अफसरों को नोटिस

19 जनवरी 2018

Related Videos

VIDEO: अब ये खास अंडरवियर बचाएगी बहू-बेटियों की आबरू

साल 2016 में देश में सबसे ज्यादा रेप के मामले उत्तर प्रदेश से सामने आए। अब यूपी की ही एक बेटी ने एक महिलाओं की इज्जत-आबरू को बचाने का बेड़ा उठाया है। इस बेटी ने एक ऐसा अंडरवियर बनाया है जो रेप प्रूफ है। देखिए क्या है इसकी खासियत।

11 जनवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls
  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper