तहसील दिवस पड़ताल-चक्कर पर चक्कर, नतीजा सिफर

Farrukhabad Updated Wed, 21 Nov 2012 12:00 PM IST
फर्रुखाबाद। शासन की ओर से जनता को त्वरित न्याय दिलाने के लिए तहसील दिवस का आयोजन किया जा रहा है लेकिन यह तहसील दिवस रस्म अदायगी तक ही सीमित रह गए है। तहसील दिवस पर एक दो नहीं बल्कि साल, दो साल से शिकायतकर्ता चक्कर काट रहे हैं। इसके बाद भी उनकी सुनवाई नहीं हो रही है। तहसील दिवस पर अमर उजाला ने पड़ताल की। इस दौरान यह साफ दिखा कि तहसील दिवस को लेकर अफसर और कर्मचारी गंभीर नहीं हैं। शिकायतकर्ता न्याय की उम्मीद के साथ दूर दराज के गांवों से तहसील में पहुंचते हैं लेकिन चक्कर पर चक्कर काटने के बाद भी उनकी समस्याओं का समाधान नहीं हो पा रहा है।
अमृतपुर तहसील में अपनी समस्या बताने आए करनपुरदत्त के रहने वाले राजेंद्र जाटव कहते हैं कि तहसील दिवस बस नाम का है। सुनवाई कुछ नहीं होती है। गांव के रास्ते में दबंगों ने अवैध तरीके से नांद रखकर कब्जा कर रखा है। इसकी शिकायत वह तीन बार तहसील दिवस और दो बार जिला मुख्यालय पर जाकर डीएम से कर चुके हैं। आज तक सुनवाई नहीं हुई।
आसमपुर के रामसागर कहते हैं कि एक साल से जमीन पर दबंगों का कब्जा होने की शिकायत कर रहे हैं। तहसील दिवस में भी कई प्रार्थना पत्र दिए। जिलाधिकारी को भी शिकायती पत्र दिया पर किसी ने फरियाद नहीं सुनी। करनपुरदत्त निवासी महेंद्रपाल सिंह का कहना है कि गांव के चकरोड पर दबंग कब्जा किए हैं। करीब 10 बार शिकायत कर चुका हूं, कोई फायदा नहीं मिला।

जनता दिवस पर जनता ही लाचार
कायमगंज। कहने को जनता दरबार लेकिन जनता को लाभ कुछ भी नहीं। ऐसा रोना रोते हुए जनता दरबार में फरियाद लेकर पिछले लंबे अर्से से चक्कर काट रहे फरियादियों ने कहा कि हर बार प्रार्थनापत्र बनवाने और दूर गांव से खर्चा कर आने के बाद भी उन्हें राहत नहीं मिल रही है। एसडीएम के जनता दिवस में हर बार की तरह अपनी फरियाद लेकर आए रायपुर निवासी सलीम ने बताया कि वह पिछले 3 महीनों से जनता दिवसों मेें प्रार्थनापत्र दे चुका है। डीएम से भी शिकायत की, लेकिन नतीजा सिफर रहा। कंपिल थाना क्षेत्र क ी किशनवती ने बताया कि वो अपने खेत की पैमाइश कराने के लिए पिछले दो साल से चक्कर काट रही हैं। जनता दिवस पर लगातार प्रार्थना पत्र दे रही हैं लेकिन सुनवाई नहीं हुई। मेरापुर थाना क्षेत्र के गांव रसूलपुर मौजा पिलखना निवासी जयवीर ने बताया कि वह पट्टे में मिली जमीन पर लंबे अर्से से काबिज है। जमीन में बोई गई धान की फसल को दबंगों ने काट लिया। तहसील दिवस पर शिकायत कर रहे हैं लेकिन उनकी गुहार सुनने वाला कोई नहीं है। कंपिल थानाक्षेत्र के गांव बिल्सड़ी निवासी हरिनारायन चतुर्वेदी ने बताया कि गांव में स्थित जूनियर हाईस्कूल बंद चल रहा है। स्कूल में दो शिक्षामित्रों की तैनाती के बाद भी स्कूल बंद है जिसकी शिकायत वह कई जनता दिवसों में कर चुका है लेकिन आज तक न तो जांच की गई और न ही स्कूल खोलने की व्यवस्था की गई।

यह है कायदा
बतादें कि शासनादेश के अनुसार तीसरे सप्ताह में हर हाल में प्रार्थनापत्रों का निस्तारण करने के उच्चाधिकारियों द्वारा आदेश जारी किए गए हैं। इसके बाद भी जनता दिवस ऐसे फरियादियों की संख्या अधिक नजर आती है जो पिछले कई बार से प्रार्थनापत्र देते चले आ रहे हैं किंतु उनकी समस्या का निस्तारण होता नजर नहीं आ रहा है।

Spotlight

Most Read

Jharkhand

लालू की नई मुसीबत, चाईबासा कोषागार मामले में आज आएगा फैसला

चारा घोटाला मामले में रांची की स्पेशल सीबीआई कोर्ट बुधवार को सुनवाई करेगी। स्पेशल कोर्ट जज एस एस प्रसाद इस मामले में फैसला देंगे।

24 जनवरी 2018

Related Videos

VIDEO: अब ये खास अंडरवियर बचाएगी बहू-बेटियों की आबरू

साल 2016 में देश में सबसे ज्यादा रेप के मामले उत्तर प्रदेश से सामने आए। अब यूपी की ही एक बेटी ने एक महिलाओं की इज्जत-आबरू को बचाने का बेड़ा उठाया है। इस बेटी ने एक ऐसा अंडरवियर बनाया है जो रेप प्रूफ है। देखिए क्या है इसकी खासियत।

11 जनवरी 2018

  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper