बेहतर अनुभव के लिए एप चुनें।
INSTALL APP

रामलला के बाद अब रामभक्तों को भी मिला न्याय

Lucknow Bureau लखनऊ ब्यूरो
Updated Wed, 30 Sep 2020 11:06 PM IST
विज्ञापन
हनुमानगढ़ी में जय श्रीराम का जयघोष करते संत।
हनुमानगढ़ी में जय श्रीराम का जयघोष करते संत। - फोटो : FAIZABAD

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

ख़बर सुनें
अयोध्या। ढांचा ध्वंस मामले में सीबीआई की विशेष अदालत से बुधवार को आए फैसले के बाद रामनगरी एक बार फिर खुशी से झूम उठी। दोपहर 12.24 बजे जैसे ही कोर्ट ने मामले के सभी 32 आरोपियों को बरी करने का फैसला सुनाया अयोध्या में हर तरफ उल्लास एवं उत्साह प्रस्फुटित होता नजर आया।
विज्ञापन

रामनगरी के संतों ने मिठाई बांटकर जश्न मनाया, मंदिरों में जय श्रीराम का उद्घोष गूंजा। हिंदू-मुस्लिम सभी इस फैसले से संतुष्ट नजर आए। रामनगरी के संतों ने साफ कहा कि रामलला के बाद अब रामभक्तों को भी आखिरकार न्याय मिल ही गया, सत्य की जीत हुई है।

बाबरी विध्वंस में आने वाले फैसले से पूर्व रामनगरी अयोध्या शांत चित्त से अपनी धुन में मगन रही। बुधवार बंदी होने के कारण अयोध्या में दुकानें जरूर बंद रहीं लेकिन सड़कों पर रोज की तरह चहल-पहल दिखी।
रामनगरी के संत-धर्माचार्यों में फैसले को लेकर उत्सुकता नजर आई। मठ-मंदिरों में साधु-संत टीवी से चिपके रहे और फैसले का इंतजार करते रहे। मणिरामदास की छावनी में महंत नृत्यगोपाल दास वीडियो कॉन्फ्रेसिंग के जरिए अदालत की कार्रवाई से जुड़े रहे।
ठीक 12.24 बजे जैसे ही सीबीआई कोर्ट से फैसला आते ही मणिरामदास की छावनी के उत्तराधिकारी महंत कमलनयन दास ने कहा कि हमें पहले से ही उम्मीद थी कि फैसले हमारे हक में ही आएगा। रामलला की जन्मभूमि अब मुक्त हो चुकी है और भव्य राममंदिर का निर्माण शुरू हो चुका है।
हरिधामगोपाल पीठ में ज.गु. रामदिनेशाचार्य ने फैसला आते ही मिठाई बांटकर अदालत के निर्णय पर खुशी व्यक्त की। उन्होंने कहा कि अब अयोध्या नवनिर्माण की ओर अग्रसर है। यह फैसला नई पीढ़ी के लिए एक नजीर भी होगा।
गंगा-जमुनी तहजीब शाश्वत भूमिका में साकार होती दिख रही है। सदियों के विवाद का अब संपूर्ण रूप से पटाक्षेप हो चुका है। नाका हनुमानगढ़ी में भी संतों ने मिठाई बांटकर खुशी व्यक्त की। महंत रामदास ने कहा कि फैसले से एक बार फिर सत्य की विजय हुई है।
कहा कि अब हिंदु-मुस्लिमों में कोई विवाद नहीं रह गया। नई पीढ़ी भी अब रक्तरंजित इतिहास नहीं बल्कि विकसित अयोध्या का ख्वाब देखती है। उन्होंने कहा कि हिंदु-मुस्लिमों को समन्वय बनाकर एक साथ आगे बढ़ना होगा।
सिद्घपीठ हनुमानगढ़ी में भी संतों का उत्साह देखने लायक था। हनुमानगढ़ी के पुजारी राजूदास ने फैसला आते ही मंदिर में अबीर गुुलाल उड़ाया और मिठाई खिलाकर हर्ष व्यक्त किया। इस अवसर पर उन्होंने कहा कि वर्षों के संघर्ष के बाद अयोध्या ये दिन देख रही है जहां विवाद के लिए कोई जगह नहीं बची है। संवैधानिक रूप से अब सारे विवाद का पटाक्षेप हो चुका है। अब भव्य राममंदिर निर्माण के साथ-साथ भव्य अयोध्या की भी परिकल्पना साकार होने जा रही है।
इकबाल ने फैसले का किया स्वागत, हाजी दिखे असंतुष्ट
निर्णय पर मुस्लिमों ने भी खुशी मनाई। मुस्लिम पक्षकार रहे इकबाल अंसारी ने कोर्ट के फैसले पर संतोष व्यक्त किया है। उन्होंने कहा कि इस फैसले को भी नौ नवंबर को रामजन्मभूमि पर आए फैसले की तरह पूरे देश को स्वीकार करना चाहिए। अब इस मामले को यहीं खत्म कर देश को तरक्की की राह पर आगे ले जाना होगा। वहीं हाजी महबूब निर्णय से असंतुष्ट नजर आए। उन्होंने कहा कि कल्याण सिंह ने खुद कहा था कि मुझे गर्व है कि मैंने ढांचा गिराया है और मुझे कोई परेशानी नहीं थी, वेदांती कहते थे मुझे गर्व है, सब लोग तो यही कहते थे लेकिन इसके बावजूद सभी को बरी कर दिया गया। कहा कि फिलहाल कोर्ट के फैसले का सम्मान है। मुस्लिम बबलू खान ने भी मिठाई बांटकर फैसले का स्वागत किया। एजाज, अदनान खान, अख्तर खान आदि मुस्लिमों ने कोर्ट के फैसले को सराहा। बबलू खान ने कहा कि अदालत ने जो निर्णय दिया है उससे सत्यमेव जयते का सिद्धांत साकार हुआ है। अब जाकर अयोध्या पूर्ण रूप से विवाद से मुक्त हो चुकी है, अब विकास होना चाहिए। शिया वक्फ बोर्ड के पूर्व सदस्य एवं मकबरा बहू बेगम के मुतवल्ली अशफाक हुसैन जिया ने भी कोर्ट के फैसले का स्वागत करते हुए कहा कि श्रीरामजन्मभूमि पर भव्य राममंदिर बनने से देश में आपसी सद्भाव आएगा और भारत विश्व में अलग पहचान स्थापित करेगा।
समस्या के समाधान से मुस्लिम भी प्रसन्न : नृत्यगोपाल दास
श्रीरामजन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट के अध्यक्ष महंत नृत्यगोपाल दास ने कहा कि श्री सीताराम जी की कृपा से और करोड़ों भक्तों के अनुष्ठान पूजन से आज भगवान की जन्मभूमि पर मंदिर निर्माण हो रहा है। विश्व में निवास करने वाले हिंदू ही नहीं मुस्लिम भी इस समस्या के समाधान से प्रसन्न हैं। रामकाज में लगे कारसेवक अब मुक्त हुए यह श्रीराम की कृपा का ही परिणाम है।

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us