विज्ञापन

अयोध्या

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Digital Edition

अयोध्या : फर्जी आर्मी मैन गिरफ्तार, लोगों को भर्ती कराने के नाम पर लेता था पैसे

अयोध्या: राम जानकी मंदिर से अष्टधातु की बेशकीमती नौ मूर्तियां चोरी

हैदरगंज थाना क्षेत्र में अज्ञात चोरों ने खपराडीह स्टेट के राजमंदिर में रखी हुई प्राचीन काल की छोटी से बड़ी 9 बेशकीमती मूर्तियों पर हाथ साफ कर दिया। हड़बड़ाहट में एक छोटी लगभग ढाई इंच की मूर्ति मंदिर प्रांगण में ही गिर गई, जो पुलिस की छानबीन के दौरान बरामद भी हो गई। क्षेत्राधिकारी बीकापुर सत्येंद्र भूषण त्रिपाठी के साथ फोरेंसिक टीम, डॉग स्क्वॉयड और क्राइम ब्रांच की सर्विलांस टीम भी जांच पड़ताल में जुटी रही। थाने की पूरी पुलिस फोर्स महिला कांस्टेबलों के साथ खेत और बाग की खाक छानती रही। राजमंदिर में इससे पहले भी दो बार चोरी हो चुकी है। जिसमें बड़ी-बड़ी अष्टधातु की बेशकीमती मूर्तियां चोरी हो गई थी। अभी तक उसका खुलासा नहीं हो सका है।

हैदरगंज थाना क्षेत्र अंतर्गत खपराडीह स्टेट के श्रीराम जानकी मंदिर ( ठाकुरद्वारा ) में बुधवार सुबह लगभग 6:30 बजे के मंदिर में तैनात मनियारपुर गांव निवासी पुजारी सोमनाथ तिवारी रोज की भांति पूजा-पाठ करने पहुंचे थे। मंदिर के प्रांगण का गेट खोलने के उपरांत जब उनकी निगाह मंदिर के द्वार पर गई तो उनके होश उड़ गए। दरवाजे में लगा ताला टूटा था और दरवाजा खुला हुआ था। अंदर गए तो देखा मंदिर के अंदर रखी प्राचीन काल की छोटी बड़ी नौ मूर्तियां अपने स्थान से गायब थीं। पत्थर की राम लक्ष्मण सीता और हनुमान की मूर्ति अपने स्थान पर स्थापित थी।

प्राचीन धातु की मूर्तियां गायब होने की जानकारी पुजारी ने 200 मीटर दूर स्थित खपराडीह स्टेट में पहुंचकर राजा कुमार आनंद सिंह को दी। जिसके बाद हैदरगंज थाने सहित डायल 112 पर इसकी सूचना स्टेट के कर्मचारियों द्वारा दी गई। प्रभारी निरीक्षक हैदरगंज अश्विनी मिश्रा पुलिस फोर्स के साथ मौके पर पहुंचे। मंदिर को चारों तरफ से पुलिस घेर लिया। मंदिर को जाने वाले रास्ते पर रस्सी से बैरिकेडिंग कर पुलिस का पहरा लगा दिया। सूचना पर पहुंचे क्षेत्राधिकारी बीकापुर सत्येंद्र भूषण त्रिपाठी ने मौके पर फोरेंसिक टीम के साथ डॉग स्क्वायड और क्राइम ब्रांच की सर्विलांस टीम को बुलवा लिया।

 कई घंटों पुलिस टीम आसपास के बाद खेत और जंगल झाड़ियों में गायब हुई मूर्तियों को ढूंढने में जुटी रही। इसी दौरान पुलिस टीम को मंदिर प्रांगण में एक लगभग ढाई इंच की गणेश की प्राचीन मूर्ति बरामद हो गई। फोरेंसिक टीम ने दरवाजे और मूर्ति स्थल के आसपास के प्रिंट लिए।  खपराडीह स्टेट राजा कुंवर आनंद सिंह के प्रतिनिधि कृष्ण कुमार पांडेय ने बताया कि इस मंदिर का निर्माण 1905 में श्रीराम जानकी मंदिर ट्रस्ट के नाम से पूर्व के खपराडीह के राजघराने द्वारा किया गया था। इस इस मंदिर से इसके पहले भी दो बार चोरी हो चुकी है। जिसका खुलासा नहीं हुआ। क्षेत्राधिकारी बीकापुर सत्येंद्र भूषण त्रिपाठी ने बताया कि राजा कुंवर आनंद सिंह के प्रतिनिधि कुमार पांडेय की तहरीर पर केस दर्जकर प्रभारी निरीक्षक हैदरगंज अश्वनी मिश्रा के नेतृत्व में दो टीमें चोरी के खुलासे के लिए लगाई गई हैं। जल्द ही घटना का खुलासा हो जाएगा ।
... और पढ़ें

अयोध्या : चंपत राय समेत 10 के खिलाफ एफआईआर दर्ज करने की अर्जी

ट्रस्ट की ओर से जमीन खरीदने में घोटाले का आरोप लगाते हुए ट्रस्टी चंपत राय, अयोध्या के मेयर ऋषिकेश उपाध्याय, अनिल कुमार मिश्रा, सब रजिस्ट्रार एसबी सिंह समेत 10 लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज करने के लिए मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट कुलदीप सिंह की अदालत में अर्जी दी गई है। इस अर्जी को कोर्ट ने बतौर प्रकीर्ण वाद दर्ज करते हुए कोतवाली नगर से एक सितंबर को आख्या तलब की है।

राज्यसभा सांसद संजय सिंह ने अर्जी देते हुए सब के खिलाफ एफआईआर दर्ज करके विवेचना करने और दंड प्रक्रिया संहिता के तहत पुलिस से रिपोर्ट मंगाने की गुजारिश की गई है। अधिवक्ता अरुण यादव ने बताया कि गाटा संख्या 242, 243, 244 जो दो करोड़ में खरीदी गई थी उसे ट्रस्ट की ओर से 18 करोड़ में खरीदा गया।

इस जमीन को खरीदने में आरोपियों ने मिलकर ट्रस्ट को दिए गए चंदे की जमकर बंदरबांट की। इस मामले में संजय सिंह ने मेयर ऋषिकेश उपाध्याय, चंपत राय निवासी राम कचहरी रामकोट, हरीश कुमार पाठक निवासी अमानीगंज कॉलोनी थाना कोतवाली नगर, सुल्तान अंसारी, रवि मोहन तिवारी, सब रजिस्ट्रार एसबी सिंह, दीप नारायण व कुछ अज्ञात लोगों पर आरोप लगाया है। अर्जी पर कोर्ट ने प्रकीर्ण वाद दर्ज कर लिया है और कोतवाली नगर से आख्या तलब की है इसमें अगली सुनवाई एक सितंबर को होगी।
... और पढ़ें

अयोध्या: मस्जिद के सामने आपत्तिजनक वस्तुएं फेंककर दंगा भड़काने की कोशिश करने वाले तीन और गिरफ्तार

बीते 26/27 अप्रैल की रात में शहर में मस्जिदों के सामने आपत्तिजनक वस्तुएं फेंककर दंगा फैलाने की कोशिश करने वाले तीन और आरोपियों को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। पकड़े गए तीनों आरोपियों पर 50-50 हजार का ईनाम घोषित किया गया था। मामले का शीघ्रता से अनावरण करने के लिए शासन से घोषित किए गए एक लाख रुपए के ईनाम को भी आईजी व एसएसपी ने पुलिस टीम को वितरित किया।

मामले का खुलासा करते हुए पुलिस महानिरीक्षक कवींद्र प्रताप सिंह व वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक शैलेश कुमार पांडेय ने बताया कि 26/27 अप्रैल की रात में शहर के कश्मीरी मोहल्ला, टाटशाह मस्जिद, घोसियाना रामनगर मस्जिद, ईदगाह सिविल लाइन एवं गुलाबशाह दरगाह जेल के पीछे आपत्तिजनक वस्तु, पोस्टर व धार्मिक पुस्तक की प्रति डालकर दंगा फैलाने की कोशिश की गई थी।

मामले में पुलिस ने चौबीस घंटे के अंदर ही घटना का खुलासा करते हुए घटना में शामिल आठ लोगों को गिरफ्तार कर लिया था। जबकि, तीन आरोपी फरार चल रहे थे। जबकि तीन आरोपी शरदचंद्र मिश्रा उर्फ बाबू मिश्रा निवासी अंगूरीबाग, सुशील कुमार यादव निवासी तोपपुर सहादतगंज व अनिल कुमार चौहान उर्फ पप्पू निवासी कुम्हार मंडी, सहादतगंज फरार चल रहे थे।

इनकी गिरफ्तारी के लिए टीमें लगाई गई थीं और पुलिस महानिरीक्षक की ओर से इन सभी लोगों पर 50-50 हजार रुपए का इनाम भी घोषित किया गया था। बताया कि फरार चल रहे तीनों आरोपियों को मुखबिर की सूचना पर बुधवार की सुबह 10:40 बजे देवकाली बाईपास के पास से गिरफ्तार किया गया है।

वहीं, पुलिस द्वारा शीघ्रता से घटना का अनावरण करने व शांति व्यवस्था रखने के लिए अपर मुख्य सचिव गृह अवनीश अवस्थी ने पुलिस टीम को एक लाख रुपए के नकद पुरस्कार की घोषणा किया था, जिसे विशेष वाहक भेजकर प्राप्त किया गया था। बुधवार को ही पुलिस लाइंस सभागार में पुलिस टीम को आईजी कवींद्र प्रताप सिंह व एसएसपी शैलेश पांडेय ने पुरस्कार प्रदान किया।
... और पढ़ें
मामले में गिरफ्तार आरोपी। मामले में गिरफ्तार आरोपी।

अयोध्या: खेत की रखवाली कर रहे किसान की धारदार हथियार से सिर पर वार कर हत्या

अयोध्या में खेत में रखवाली कर रहे किसान की धारदार हथियार से सिर पर वार कर हत्या कर दी गई। उसका शव झोपड़ी से 100 मीटर दूर पगडंडी पर पड़ा मिला है।

सुबह पत्नी के खेत पर पहुंचने के बाद वारदात की जानकारी हुई। पुलिस मौके पर पहुंच कर मामले की जांच कर रही है।

कोतवाली रुदौली के ग्राम बहरास में बीती रात चेतन लाल पुत्र मोहनलाल (54) की धारदार हथियार से निर्मम हत्या कर दी गई। कोतवाली रूदौली पुलिस ने संदेह के आधार पर चार लोगों को हिरासत में लिया है।

चेतन लाल 20 वर्ष पहले पारवारिक विवाद के चलते पिता की लाठी डंडों से पीट-पीट कर हत्या के मामले की पैरवी कर रहा था। पुलिस इनके पिता की हत्या में शामिल अभियुक्तों को हिरासत में लेकर पूछताछ कर रही है। वह गांव से बाहर खेत में लेटा था। मौके पर पुलिस के आला अधिकारी मौजूद हैं। लाश को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है।
... और पढ़ें

अयोध्या: बालिका से दुष्कर्म का आरोपी गिरफ्तार, एसएसपी ने किया खुलासा

कोतवाली अयोध्या अंतर्गत खाकी अखाड़ा बैरागपुरा क्षेत्र में सात वर्षीय बालिका से दुष्कर्म के आरोपी को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। आरोपी को गंभीर धाराओं में केस दर्ज करके जेल भेजा गया है। आरोपी राम जन्मभूमि थाना क्षेत्र का ही रहने वाला है और भंडारे में टेंट लगाने आया था, जहां से बालिका को दबोचकर झाड़ियों में ले जाकर उसके साथ दुष्कर्म किया। पुलिस मामले की सभी पहलुओं पर जांच कर रही है।

गुरुवार को टेढ़ी बाजार स्थित पुलिस क्षेत्राधिकारी कार्यालय में आयोजित प्रेसवार्ता के दौरान वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक शैलेश कुमार पांडेय ने बताया कि आरोपी राजन कुमार माझी थाना राम जन्मभूमि क्षेत्र के कंधरपुर गोडियाना का निवासी है। बुधवार को क्षेत्र में आयोजित भंडारे में टेंट लगाने आया था। सायंकाल बालिका मोहल्ले के कुछ बच्चों के साथ लुकाछिपी खेल रही थी। इस बीच छिपने के लिए वह एक पतली सुनसान गली में चली गई। वहीं पास में ही एक ठेले पर आरोपी बैठा था। बालिका को देखकर उसने उसका मुंह दबा लिया और एक बिल्डिंग के पीछे ले जाकर उसके साथ दुष्कर्म किया और फरार हो गया।

बताया कि इस जघन्य वारदात के खुलासे से उच्चाधिकारियों से मार्ग दर्शन लेते हुए स्वाट टीम व कोतवाली अयोध्या की पुलिस को लगाया गया था। स्थानीय लोगों से पूछताछ व सीसीटीवी के आधार पर आरोपी की शिनाख्त की गई और उसे करीब तीन बजे कंधरपुर तिराहा के पास से गिरफ्तार किया गया है। पूछताछ पर आरोपी ने घटना स्वयं के द्वारा कारित किया जाना स्वीकार किया है। उसकी निशांदेही पर घटना के समय पहने हुए कपड़े भी बरामद किए गए हैं। बताया कि घटना बेहद संगीन है, सभी पहलुओं पर ध्यान रखते हुए मामले की विवेचना की जा रही है। तकनीकी व वैज्ञानिकीय साक्ष्य भी संकलित किए जा रहे हैं। शीघ्र ही चार्जशीट लगाकर पूरी घटना को फास्ट ट्रैक करके आरोपी को सख्त से सख्त सजा दिलाई जाएगी। 
... और पढ़ें

अयोध्या: सपा समर्थक के भाजपा प्रत्याशी पर अभद्र टिप्पणी करने पर मुकदमा दर्ज

प्रतीकात्मक तस्वीर

अयोध्या: अदरक के बीच गांजा छुपाकर ले जा रहे थे गोंडा, पांच गिरफ्तार, केस दर्ज

अयोध्या: मुठभेड़ में पुलिस पर फायरिंग कर भाग रहे बदमाशों के पैर में लगी गोली, गिरफ्तार

अयोध्या जिले के बीकापुर कोतवाली क्षेत्र के खजुरहट रोड के शेरपुर पारा मोड़ पर बुधवार की रात करीब 12 बजे पुलिस और स्वाट टीम ने मुठभेड़ में फायरिंग कर भाग रहे दो बदमाशों को गिरफ्तार कर लिया। इस दौरान जवाबी कार्रवाई में दोनों बदमाशों के पैर में गोली लगी है।

पुलिस क्षेत्राधिकारी सत्येंद्र भूषण त्रिपाठी ने बताया कि मुठभेड़ के दौरान मोटर साइकिल सवार अभियुक्तों में ओमप्रकाश बरवार पुत्र निबरे निवासी बलदु का पुरवा मजरे बनगई थाना धानेपुर जनपद गोंडा के दोनों पैर में गोली लगी है जबकि दूसरे अभियुक्त रामबक्श बरवार पुत्र बलेसर निवासी दुल्हापुर बनकट थाना धानेपुर जनपद गोंडा के बाएं पैर में गोली लगी है।

इस दौरान दो अभियुक्त बाबादीन पुत्र जगदम्बा निवासी दुल्हापुर बनकट थाना धानेपुर जनपद गोंडा व रवि पुत्र रामू निवासी बलदु का पुरवा थाना धानेपुर जनपद गोंडा अंधेरे का लाभ उठाकर मौके से भागने में सफल हो गए। अभियुक्तों के पास से दो 315 बोर तमंचा, चार खोखा कारतूस व तीन जिंदा कारतूस 315 बोर तथा एक डिस्कवर मोटर साइकिल बरामद हुई।

गिरफ्तार दोनों अभियुक्तगण बरामद मोटरसाइकिल से अपने फरारशुदा साथियों के साथ सुल्तानपुर से अयोध्या की तरफ आ रहे थे। जिन्हें पुलिस टीम द्वारा मुखबिर की सूचना पर चेकिंग संदिग्ध होने के कारण थाना बीकापुर अंतर्गत खजुरहट चौराहे के पास रोकने का प्रयास किया गया तो अभियुक्तों द्वारा जान से मारने की नीयत से पुलिस टीम पर फायरिंग की और बीकापुर रोड की तरफ भागने लगे।

जिन्हें पुलिस टीम द्वारा घेराबंदी करते हुए शेरपुर पारा मोड़ के पास आत्मसमर्पण हेतु कहा गया लेकिन अभियुक्तगण पुलिस टीम पर फायरिंग करते रहे। बताया कि पुलिस मुठभेड़ में गिरफ्तार किए गए आरोपियों की कोतवाली बीकापुर व महराजगंज से हुई लूट के मामलों में पुलिस को तलाश थी।

इसके अतिरिक्त अभियुक्तों द्वारा जनपद प्रयागराज, प्रतापगढ़, बहराइच व चित्रकूट जनपद में कई घटनाओं को अंजाम दिया है। पूर्व में भी जनपद गोंडा, बहराइच, बलरामपुर, चित्रकूट, देवरिया व प्रयागराज में जेल जा चुके है।
... और पढ़ें

अयोध्या: टक्कर मार कर युवक को नाले में गिराया और फिर लोहे की राड से पीटकर मार डाला

अयोध्या जिले के पूरा कलंदर थाना क्षेत्र के नगर पंचायत भदरसा के पिपरा ताल मोहल्ले के पास लग्जरी सवार बदमाशों ने बाइक सवार युवक को टक्कर मारकर नाले में गिरा दिया। तत्पश्चात बदमाशों ने लोहे के राड से प्रहार कर भतीजे के साथ कचहरी जा रहे युवक को मौत के घाट उतार दिया।

मौके पर पहुंची पुलिस बाइक सवार युवक को मरणासन्न हालत में जिला अस्पताल ले गई। जहां डॉक्टरों ने मृत घोषित कर दिया। घटना से पूरे क्षेत्र में सनसनी फैल गई है।

एसपी सिटी सीओ अयोध्या सहित पूरा कलंदर पुलिस मौके पर है। वहीं वाहन से भाग रहे बदमाशों को बाइक से पीछा कर रहे भदरसा क्षेत्र के लोगों ने बीकापुर कोतवाली क्षेत्र के काजी सराय के निकट विनायकपुर गांव के पास वाहन छोड़कर भागे दो बदमाशों को बगल में काम कर रहे मनरेगा मजदूरों ने दौड़ाकर पकड़ लिया है।

मृतक बाइक सवार युवक की पहचान पूरा कलंदर थाना क्षेत्र के पारा कैल निवासी सूरज दुबे पुत्र राम बहोर दुबे के रूप में की गई है।
... और पढ़ें

पीएनबी अफसर सुसाइड केस: आईपीएस समेत तीन के खिलाफ दर्ज हुआ मुकदमा, पूर्व मंगेतर से पूछताछ कर रही पुलिस

पंजाब नेशनल बैंक की सहायक प्रबंधक श्रद्धा गुप्ता आत्महत्या मामले में पिता राजकुमार गुप्ता की तहरीर पर आईपीएस आशीष तिवारी समेत तीन के खिलाफ केस दर्ज कर लिया गया है। श्रद्धा ने अपने सुसाइड नोट में इन तीनों को ही जिम्मेदार ठहराया था। जिस समय आत्महत्या की खबर आई, श्रद्धा गुप्ता के राजाजीपुरम स्थित घर में उनके जन्मदिन की पार्टी की तैयारियां चल रही थीं।

श्रद्धा को दीपावली को घर आना था मगर इससे पहले ही शनिवार को मौत की खबर आ गई। रिश्तेदार व पड़ोसी भी श्रद्धा की मौत से स्तब्ध हैं। वहीं, मामले में आरोपी मंगेतर विवेक गुप्ता को हिरासत में लेकर पूछताछ की जा रही है। सीओ सिटी पलाश बंसल ने बताया कि विवेक गुप्ता से पूछताछ चल रही है। वह पुलिस का जांच में सहयोग कर रहा है। अभी गिरफ्तारी नहीं की गई है।

दो बेटों और दो बेटियों में दूसरे नंबर की थीं श्रद्धा
राजाजीपुरम के सेक्टर-13 में एमआईएस चौराहे के पास रहने वाले राजकुमार गुप्ता की चौक में कोतवाली के पास चिकन के कपड़ों की दुकान है। उनके दो बेटे और दो बेटियों में दूसरे नंबर की श्रद्धा अयोध्या स्थित पीएनबी के सर्किल ऑफिस में स्केल वन अधिकारी के पद पर तैनात थीं। जबकि बड़ी बेटी मोहिनी का विवाह हो चुका है। वह अयोध्या के ख्वासपुरा मोहल्लेे में किराए के मकान में रहती थीं। श्रद्धा को दीपावली पर घर आना था और छह नवंबर को अपना जन्मदिन मनाकर अयोध्या लौटना था। मां सुनीता और दोनों भाई शुभम व संकेत बहन के जन्मदिन की तैयारियां कर रहे थे।
... और पढ़ें
  • Downloads
    News Stand

Follow Us

  • Facebook Page
  • Twitter Page
  • Youtube Page
  • Instagram Page
  • Telegram
एप में पढ़ें

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00