लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

Hindi News ›   Uttar Pradesh ›   Ayodhya ›   CM asked for report, why X-ray investigation is not being done

सीएम ने मांगी रिपोर्ट, क्यों नहीं हो रही एक्सरे जांच

Lucknow Bureau लखनऊ ब्यूरो
Updated Sun, 24 Jul 2022 12:12 AM IST
CM asked for report, why X-ray investigation is not being done
विज्ञापन
ख़बर सुनें
अयोध्या। राजर्षि दशरथ मेडिकल कॉलेज दर्शननगर में जिम्मेदारों की लापरवाही से पांच साल से ठप चल रही डिजिटल एक्सरे सेवा के मामले का मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने संज्ञान लिया है। उन्होंने अमर उजाला में 12 जुलाई के अंक में छपी खबर का हवाला देते हुए डीएम को पत्र भेजकर तीन दिन के भीतर जांच कर आवश्यक कार्यवाही करने का निर्देश दिया है। मुख्यमंत्री के हस्तक्षेप के बाद अब मेडिकल कॉलेज की इस महत्वपूर्ण सेवा के प्रारंभ होने की उम्मीद जगी है।

गौरतलब है कि पूर्व में सौ शैय्या के संयुक्त मंडलीय चिकित्सालय में 27 जनवरी, 2016 को जर्मनी निर्मित एक डिजिटल एक्सरे मशीन बंगलूरू की कंपनी मेसर्स प्रोगनोसिस मेडिकल सिस्टम, प्रालि. से खरीदी गई थी। इसे खरीदने से लेकर इंस्टॉल करने में करीब एक करोड़ 67 लाख रुपये खर्च हुए थे। मंडल की इस इकलौती डिजिटल एक्सरे मशीन का जनपद के अलावा निकटवर्ती जिले के मरीजों को भी खासा लाभ मिला था।

मशीन की पांच साल की वारंटी थी लेकिन करीब डेढ़ साल बाद ही यह खराब हो गई। इसकी मरम्मत के लिए बार-बार कंपनी से पत्राचार किया जाता रहा। इसके बावजूद कंपनी ने ध्यान नहीं दिया। इधर, 2019 में संयुक्त मंडलीय अस्पताल मेडिकल कॉलेज का हिस्सा हो गया। इस बीच भी मशीन नहीं बन सकी। इधर, मशीन को बेचने वाली प्रोगनोसिस कंपनी ने उपकरणों की मरम्मत के लिए दूसरी कंपनी को सेवा प्रदाता नामित कर दिया जिसने उपकरणों की मरम्मत में करीब अठारह लाख रुपये का खर्च बताते हुए कोटेशन दिया है।
पूरे मामले को अमर उजाला ने 12 जुलाई के अंक में ‘पांच साल से मरीजों के काम नहीं आ रही डिजिटल एक्स-रे मशीन’ शीर्षक से प्रमुखता से प्रकाशित किया था जिसे मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ द्वारा संज्ञान में लिया गया है। मुख्यमंत्री ने डीएम को 19 जुलाई को पत्र भेजकर मामले की जांच करके तीन दिन में आवश्यक कार्यवाही करने का निर्देश दिया है। इसके अनुपालन में डीएम नितीश कुमार ने सीएमओ डॉ. अजय राजा को पत्र लिखकर तत्काल आख्या मांगी है। इसके बाद सीएमओ ने मेडिकल कॉलेज प्रशासन से पूरे मामले की जानकारी के लिए पत्र भेजा है।
मुख्यमंत्री ने मामले का संज्ञान लिया है। सीएमओ व डीएम द्वारा मामले की सूचना मांगी गई है। सभी तथ्यों से उन्हें अवगत कराया जा रहा है।
-डॉ. सत्यजीत वर्मा, प्राचार्य, राजर्षि दशरथ मेडिकल कॉलेज, अयोध्या
सीएम ऑफिस से इस मामले की जांच करने के लिए कहा गया है। सीएमओ अयोध्या को जांच सौंपी गई है। रिपोर्ट आने के बाद तय होगा कि किसकी लापरवाही से डिजिटल एक्सरे मशीन की मरम्मत नहीं हुई। मामला गंभीर है। जिम्मेदार के खिलाफ कड़ी कार्रवाई होगी।
-नितीश कुमार, जिलाधिकारी

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन
एप में पढ़ें

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00