चोरों ने खंगाला पशु पालन विभाग के सलाहकार के भतीजे का घर

Faizabad Updated Sun, 26 Jan 2014 05:46 AM IST
गोसाईगंज। कस्बा स्थित सूबे के पशु पालन विभाग के सलाहकार व सपा जिलाध्यक्ष के भतीजे के घर का ताला तोड़ कर चोरों ने शुक्रवार की रात आठ लाख के जेवरात तथा 70 हजार रुपये की नकदी पार कर दी। शनिवार को वारदात की जानकारी होने पर हलचल मच गई। पुलिस के साथ डाग स्क्वायड व फिंगर प्रिंट एक्सपर्ट दस्ते ने मौका मुआयना किया है। पुलिस ने घटना में अज्ञात के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज की है।
बताया गया कि पशु पालन विभाग के सलाहकार व समाजवादी पार्टी के जिलाध्यक्ष जयशंकर पांडेय के परिवार के कुछ लोग गोसाईगंज बाजार में रहते हैं। शुक्रवार को कस्बा निवासी अंकित पांडेय अपनी मां के साथ ननिहाल पड़ोसी जनपद अंबेडकरनगर के मालीपुर गया था। घर में कोई नहीं था और दरवाजों पर ताला लगा था। इसी बीच रात में चोर मेन गेट का ताला तोड़कर भीतर घुस गए और कमरों के ताले तोड़ दिए। वहां रखे अलमारी व बक्सों आदि को खंगाल कर नकदी व जेवर समेट ले गए। शनिवार को पड़ोसियों की ओर से घर के गेट का ताला टूटा होने की जानकारी दी गई। मामला सपा जिलाध्यक्ष जयशंकर पांडेय के परिवार व सूबे के मनोरंजन कर राज्यमंत्री तेज नरायन पांडेय पवन के ननिहाल से जुड़ा होने के चलते हलचल मच गई। इसके बाद निरीक्षक बीके सिंह टीम के साथ मौके पर पहुंचे और सूचना देकर डाग स्क्वायड व फिंगर प्रिंट दस्ते को भी बुला लिया गया। पुलिस के साथ दस्तों ने पड़ताल की। हालांकि मौके से कोई सुराग मिलने की खबर नहीं है। दस्ते का कुत्ता घर के बाहर कुछ दूर चलने के बाद ठिठक गया। स्थानीय लोगों का कहना है कि रात में घर के पास एक कार खड़ी देखी गई थी। आशंका जताई जा रही है कि चोर इसी वाहन से आए होंगे।
थाने के निरीक्षक बीके सिंह ने बताया कि अंकित पांडेय की शिकायत पर अज्ञात के खिलाफ चोरी की रिपोर्ट दर्ज की गई है। चोरों की तलाश की जा रही है।

Spotlight

Most Read

Bihar

चारा घोटाला: लालू और जगन्नाथ मिश्रा को 5 साल की सजा, कोर्ट ने 5 लाख का लगाया जुर्माना

पूर्व रेल मंत्री और राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के खिलाफ सीबीआई की विशेष अदालत ने बड़ा फैसला सुनाया है।

24 जनवरी 2018

Related Videos

जब रात में CM योगी के आवास के बाहर किसानों ने फेंके आलू

लखनऊ में आलू किसानों को जबरदस्त प्रदर्शन देखने को मिला। अपना विरोध जताते हुए किसानों ने लाखों टन आलू मुख्यमंत्री आवास, विधानसभा और राजभवन के बाहर फेंक दिया। देखिए आखिर क्यों भड़क उठा आलू किसानों का गुस्सा।

6 जनवरी 2018