आम आदमी पार्टी दो धड़ों में बंटीं

Faizabad Updated Mon, 20 Jan 2014 05:46 AM IST
फैजाबाद। पिछले एक माह से अंदरखाने में चल रही हलचल रविवार को सामने आ गई। आम आदमी पार्टी दो धड़ों में स्पष्ट तौर पर बटती नजर आई। एक धड़े ने प्रेस वार्ता कर कहा कि पार्टी के प्रति चल रहे भ्रम को दूर करने के लिए मुखातिब हुए है। असल हम ही है क्योंकि सिर्फ राजनीतिक कार्यपरिषद को ही मान्यता मिली है और जिला कार्यकारिणी शिकायत के कारण भंग की जा चुकी है। वहीं दूसरी ओर भंग जिला कार्यसमिति के संयोजक रहे व वर्तमान में प्रदेश कार्यसमिति के सदस्य सभाजीत सिंह ने कहा कि हमारे झाड़ू यात्रा कार्यक्रम को दिल्ली से हरी झंडी मिली है।
आप के परिक्रमापथ रोड स्थित कार्यालय पर हुई प्रेसवार्ता में राजनीतिक कार्य परिषद के तीनों सदस्य डॉ. अनुराग पांडेय, विनोद सिंह और विकास ने कहा कि जिले में आप के प्रति चल रहे भ्रम को दूर करना जरूरी है। उन्होंने अवध प्रांत की संयोजक अरुणा सिंह का एक पत्र भी जारी किया, जिसमें उत्तरदायित्वों के निर्वहन न करने के कारण जिला कार्यकारिणी को भंग करने और पॉलिटिकल अफेयर कमेटी को काम करते रहने की बात कही गई है। पूर्व जिला संयोजक सभाजीत सिंह का नाम लिए बगैर उन्होंने संकेतों में कहा उनके कार्यक्रमों का पॉलिटिकल अफेयर कमेटी से कोई संबंध नहीं है। वहीं दूसरी ओर अयोध्या में प्रदेश कार्यसमिति के सदस्य सभाजीत सिंह की अगुवाई में अयोध्या में झाड़ू चलाओ पदयात्रा हुई। गुटबाजी मामले पर सभाजीत सिंह ने कहा कि ‘उनके किसी आरोप का जवाब देना अभी ठीक नहीं। दिल्ली में हुई मीटिंग में हमें प्रदेश कार्यसमिति की सदस्य के नाते बुलाया गया था और वहां पर झाड़ू यात्रा कार्यक्रम आयोजित करने का निर्णय हुआ, जिसके क्रम में हमारा कार्यक्रम चल रहा है। हम लोग मिशन/बुनियाद के लोग है, काम में विश्वास रखते है, आरोप लगाने वाले लगाते रहे।’

Spotlight

Most Read

Bihar

चारा घोटाला: लालू और जगन्नाथ मिश्रा को 5 साल की सजा, कोर्ट ने 5 लाख का लगाया जुर्माना

पूर्व रेल मंत्री और राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के खिलाफ सीबीआई की विशेष अदालत ने बड़ा फैसला सुनाया है।

24 जनवरी 2018

Related Videos

जब रात में CM योगी के आवास के बाहर किसानों ने फेंके आलू

लखनऊ में आलू किसानों को जबरदस्त प्रदर्शन देखने को मिला। अपना विरोध जताते हुए किसानों ने लाखों टन आलू मुख्यमंत्री आवास, विधानसभा और राजभवन के बाहर फेंक दिया। देखिए आखिर क्यों भड़क उठा आलू किसानों का गुस्सा।

6 जनवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls