अभी गति नहीं पकड़ेगी धान खरीद

Faizabad Updated Mon, 24 Dec 2012 05:30 AM IST
फैजाबाद। धान खरीद की तमाम अड़चनें भले दूर हो गईं हों, सप्लाइज इंस्पेक्टर्स व राइस मिलर्स एसोसिएशन ने भी अब धान खरीद सुचारु करने की बात कही हो, पर अभी खरीद के गति सप्ताहभर तक पकड़ने के आसार नहीं हैं। दरअसल, अभी इतनी बड़ी मात्रा में पहले से खरीदा गया धान सेंटरों पर पड़ा है कि केंद्र प्रभारी धान खरीदना भी चाहें, तो आखिर इसे रखेंगे कहां? सेंटरों के गोदाम पहले से भरे हैं। मार्केटिंग इंस्पेक्टर कहते हैं कि खराब मौसम की वजह से खरीदे गए धान को खुले में रखा नहीं जा सकता। एकाध दिन रखा भी जा सकता है, बशर्ते राइस मिलर्स पूर्व भंडारित धान की उठान शुरू करवा दें। उधर राइस मिलरों का कहना है कि जब तक उनके चावल का एफसीआई गोदाम में भंडारण नहीं शुरू होता, वह धान उठवाकर क्या करेंगे? ऐसी स्थिति में बिना चावल भंडारण व धान उठान शुरू हुए सेंटरोें पर सरकारी धान खरीद के रफ्तार पकड़ने की उम्मीद क्षीण ही है। सरकारी धान खरीद में भारतीय खाद्य निगम के अड़ंगे को लेकर पिछले पखवारे भर से अधिक समय से सेंटरों पर धान खरीद ठप है। पांच तारीख के पहले तक हुई खरीद के सापेक्ष बड़ी मात्रा में धान अभी तक सेंटरों पर पड़ा है। इसके बाद न तो धान खरीद हुई और न ही एफसीआई के गोदाम में नए या पुराने सत्र का सीएमआर (कस्टम मिल्ड राइस) ही उतरा है। इस तरह देखा जाए तो सात दिसंबर तक फैजाबाद मंडल में कुल खरीद लक्ष्य 2,87,900 मीट्रिक टन के सापेक्ष 33,088 मीट्रिक टन धान खरीदा गया था। इसमें से 18,358 एमटी धान मिलों को प्रेषित हो चुका था, जबकि 14,730 मीट्रिक टन क्रय केंद्रों पर डंप था। तत्समय तक हुई खरीद के सापेक्ष 67 प्रतिशत की दर से 12300 मीट्रिक टन सीएमआर बनता है। इसमें महज 81 टन सीएमआर एफसीआई गोदाम पहुंचा था, जबकि 12,219 टन अभी राइस मिलर्स के पास अवशेष है।

Spotlight

Most Read

Lucknow

ओपी सिंह कल संभालेंगे यूपी के डीजीपी का पदभार, केंद्र ने किया रिलीव

सीआईएसएफ के डीजी ओपी सिंह को रिलीव करने की आधिकारिक घोषणा रविवार को हो गई।

21 जनवरी 2018

Related Videos

जब रात में CM योगी के आवास के बाहर किसानों ने फेंके आलू

लखनऊ में आलू किसानों को जबरदस्त प्रदर्शन देखने को मिला। अपना विरोध जताते हुए किसानों ने लाखों टन आलू मुख्यमंत्री आवास, विधानसभा और राजभवन के बाहर फेंक दिया। देखिए आखिर क्यों भड़क उठा आलू किसानों का गुस्सा।

6 जनवरी 2018

  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper