उपवास रख प्राचार्य के खिलाफ मोर्चा खोला

Faizabad Updated Fri, 09 Nov 2012 12:00 PM IST
फैजाबाद। छात्रसंघ चुनाव के बाद अंदर-अंदर साकेत कॉलेज प्रशासन व छात्र संघ पदाधिकारियों के बीच चल रही अनबन आखिरकार आम हो गई। गुरुवार को विषय परिवर्तन के शुल्क की बढ़ोतरी को हथियार बनाकर छात्रों ने कॉलेज प्रशासन के खिलाफ मोर्चा खोलते हुए आरोपों की झड़ी लगा दी। इतना ही नहीं चल रही प्रवेश प्रक्रिया भी बाधित हुई और प्राचार्य वीएन अरोरा के खिलाफ नारेबाजी की गई। प्रवेश काउंटर भी बंद कराए गए। इस आंदोलन की अगुवाई छात्र संघ के चारों पदाधिकारियों ने की। बाद में प्राचार्य कक्ष के बाहर पदाधिकारियों ने उपवास भी किया। कॉलेज प्रशासन पर प्रवेश प्रक्रिया में धांधली का आरोप लगाया गया, वहीं विकास शुल्क का हिसाब-किताब भी मांगा गया।
गुरुवार को सुबह कॉलेज खुलते ही पदाधिकारियों ने मांगों को लेकर प्रदर्शन शुरू कर दिया। कॉलेज में बीती सात नवंबर से चल रही प्रवेश प्रक्रिया इस दौरान बाधित हुई। शोर-शराबे के बीच पदाधिकारियों ने बताया कि विषय परिवर्तन के नाम पर गरीब छात्रों से 10 रुपये की जगह 100 रुपये वसूले जा रहे हैं। यह बेहद आपत्तिजनक है, इसे बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। अगर कॉलेज प्रशासन इसे वापस नहीं लेता और जिन छात्रों से इस मद की धनराशि वसूली गई है उसकी वापसी नहीं करता तो आंदोलन ही एक रास्ता बचता है। सवालिया लहजे में कहा गया कि प्राचार्य बताएं किन परिस्थितियों में एकाएक फीस 10 से बढ़ाकर 100 रुपये कर दी गई। इस बीच कॉलेज प्रशासन की अनसुनी की वजह से नेताओं ने प्राचार्य कक्ष के सामने उपवास शुरू कर दिया। छात्र संघ अध्यक्ष गौरव सागर, उपाध्यक्ष मानसभूषण त्रिपाठी तथा उप मंत्री कीर्तिवर्धन सिंह ने कॉलेज प्रशासन को आगाह किया कि यदि उनकी मांगों का निस्तारण एक सप्ताह के अंदर नहीं किया जाता तो पदाधिकारी व छात्र समुदाय की ओर से कॉलेज प्रशासन के खिलाफ भूख हड़ताल करने को बाध्य होगा। इस दौरान नेताओं ने प्रवेश प्रक्रिया को भी कठघरे में खड़ा किया और मेरिट से इतर कुछ छात्रों के प्रवेश की आशंका जताई। इसमें धांधली का भी आरोप लगाया। प्रदर्शन के दौरान अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के कॉलेज उपाध्यक्ष अभिनव मिश्र, श्रीनिवास वर्मा, अजय आजाद समेत काफी संख्या में छात्र मौजूद रहे।

Spotlight

Most Read

Lucknow

यूपी दिवस: प्रदेश को 25 हजार करोड़ की योजनाओं की सौगात, योगी बोले- आज का दिन गौरवशाली

यूपी दिवस के मौके पर प्रदेश को सरकार ने 25 हजार करोड़ करोड़ की योजनाओं की सौगात दी। मुख्यमंत्री योगी ने आज के दिन को गौरवशाली बताया।

24 जनवरी 2018

Related Videos

जब रात में CM योगी के आवास के बाहर किसानों ने फेंके आलू

लखनऊ में आलू किसानों को जबरदस्त प्रदर्शन देखने को मिला। अपना विरोध जताते हुए किसानों ने लाखों टन आलू मुख्यमंत्री आवास, विधानसभा और राजभवन के बाहर फेंक दिया। देखिए आखिर क्यों भड़क उठा आलू किसानों का गुस्सा।

6 जनवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls