दस जिलों में एक साथ दवा बेच रहे फार्मासिस्ट

Faizabad Updated Tue, 09 Oct 2012 12:00 PM IST
फैजाबाद। यह जान कर अचरज होगा कि एक साथ एक समय में एक फार्मासिस्ट दस-दस जिलों में मेडिकल स्टोर से दवा बेच रहा है। यह खुलासा मेडिकल स्टोरों का रजिस्टेशन नंबर और फार्मासिस्ट का फार्मेसी काउंसिल में रजिस्ट्रेशन नंबर ऑनलाइन किए जाने के बाद हुआ। फार्मासिस्ट सुभाष चंद्र का फार्मेसी काउंसिल में रजिस्ट्रेशन नंबर 300321 है। इसी रजिस्ट्रेशन नंबर पर प्रदेश के 13 जिलों में मेडिकल स्टोर संचालित हो रहे हैं। सुभाष चंद्र के फार्मेसी सर्टीफिकेट पर गोरखपुर, मुरादाबाद, जेपी नगर, जौनपुर, मिर्जापुर, उन्नाव, बांदा, कानपुर, मुजफ्फरनगर, मेरठ, सहारनपुर, आगरा और बलिया में एक-एक मेडिकल स्टोर संचालित हो रहा है । यह महज एक नजीर है। प्रदेश में एक-एक फार्मासिस्ट के डिप्लोमा सर्टीफिकेट पर आठ से दस जिलों के मेडिकल स्टोर चल रहे हैं। जिले में भी फर्जी सर्टिफिकेट के जरिए सौ से अधिक मेडिकल स्टोर संचालित होने की पुष्टि हुई है। ड्रग इंस्पेक्टर एके बंसल ने 103 मेडिकल स्टोरों के खिलाफ नोटिस जारी कर दी है।
प्रदेश के 51 जिलों में संचालित मेडिकल स्टोरों पर लगे फार्मासिस्टों के रजिस्ट्रेशन नंबर ऑनलाइन कर दिये गये हैं। रजिस्ट्रेशन नंबर ई-नेटवर्किग से जुड़ते ही अधिकारियों के होश उड़ गए। पता चला कि एक-एक फार्मासिस्ट के सर्टिफिकेट पर प्रदेश के आठ से दस जिलों में मेडिकल स्टोर का लाइसेंस जारी कर दिया गया है। औषधि अनुज्ञापन एवं नियंत्रण प्राधिकारी एएल आर्या ने प्रदेश के सभी ड्रग इंस्पेक्टरों को मामले की जांच कर कार्रवाई करने का निर्देश दिया है। प्रदेश में सबसे अधिक 45 मेडिकल स्टोर लाइसेंस बृजेश सचान के नाम से जारी किए गए हैं। शासन ने अब फर्जी मेडिकल स्टोरों के खिलाफ सख्त रुख अपना लिया है। इसी क्रम में जिले के 103 मेडिकल स्टोरों पर लगे सर्टिफिकेट गैर जिलों में लगाने की पुष्टि हुई हैं। इन मेडिकल स्टोरों के संचालकों को ड्रग इंस्पेक्टर ने नोटिस जारी कर दी है।
शासनादेश के तहत मेडिकल स्टोर से फार्मासिस्ट ही मरीज को दवा बेच सकता है। दवा कारोबारी फार्मासिस्टों के प्रमाणपत्र लगाकर फर्जी तरीके से मेडिकल स्टोर चला रहे हैं। फार्मासिस्ट भी आठ से दस जिलों में अपने रजिस्ट्रेशन नंबर पर मेडिकल स्टोर चलवा रहे हैं। सूत्रों की मानें तो फार्मासिस्ट अपने रजिस्ट्रेशन नंबर के बदले हर माह मेडिकल स्टोर संचालक से पांच से छह सौ रुपये हर माह वसूल करते हैं।

Spotlight

Most Read

Lucknow

यूपी दिवस: प्रदेश को 25 हजार करोड़ की योजनाओं की सौगात, योगी बोले- आज का दिन गौरवशाली

यूपी दिवस के मौके पर प्रदेश को सरकार ने 25 हजार करोड़ करोड़ की योजनाओं की सौगात दी। मुख्यमंत्री योगी ने आज के दिन को गौरवशाली बताया।

24 जनवरी 2018

Related Videos

जब रात में CM योगी के आवास के बाहर किसानों ने फेंके आलू

लखनऊ में आलू किसानों को जबरदस्त प्रदर्शन देखने को मिला। अपना विरोध जताते हुए किसानों ने लाखों टन आलू मुख्यमंत्री आवास, विधानसभा और राजभवन के बाहर फेंक दिया। देखिए आखिर क्यों भड़क उठा आलू किसानों का गुस्सा।

6 जनवरी 2018