सड़क पर उतरा शहर, अभूतपूर्व बंद

Faizabad Updated Mon, 24 Sep 2012 12:00 PM IST
फैजाबाद। शहर क्षेत्र के ऐतिहासिक बड़ी देवकाली मंदिर से प्राचीन मूर्तियां व आभूषणों की चोरी के विरोध में रविवार को समूचा शहर सड़कों पर उतर पड़ा। अभूतपूर्व बंदी का हाल यह रहा कि लोग चाय-पानी को भी तरस गए। ज्यादातर लोगों ने स्वेच्छा से अपने प्रतिष्ठान बंद रखे, हालांकि कुछ इलाकों में बाजार बंद कराने को लेकर झड़प और नोक-झोंक के बाद पुलिस की ओर से डंडा फटकारा गया। चौक से बजाजा रोड पर असामाजिक तत्वों की ओर से ईंट-गुम्मे भी फेंके गए। एसएसपी रमित शर्मा ने खुद मोर्चा संभाल रखा था। साथ ही एसपी सिटी, एसपी देहात समेत देहात क्षेत्र के अधिकारियों को भी शहर में तैनात किया गया था। उधर प्रकरण के खुलासे के लिए एसटीएफ की फील्ड यूनिट ने जिले में डेरा डाल दिया है। आसपास के जिलों की एसओजी टीम को भी जांच में सहयोग के लिए बुला लिया गया है। पुलिस ने मंदिर से जुड़े लोगों से गोपनीय स्थान पर पूछताछ करती रही, हालांकि अभी खुलासे को लेकर कोई अहम सुराग हासिल होने की खबर नहीं है। देर शाम देवकाली मंदिर में हुई बैठक में आह्वान किया गया कि सोमवार की सुबह लोग घंटा-घड़ियाल के साथ मंदिर पहुंचें। मूर्ति चोरी की घटना के खिलाफ विभिन्न संगठनों व सियासी दलों की ओर से रविवार को बाजार बंदी का आह्वान किया गया था। सुबह से ही विभिन्न संगठनों के पदाधिकारियों व कार्यकर्ताओं की टोलियां अपने-अपने इलाके में दुकानदारों से अपने प्रतिष्ठान बंद रखने का आह्वान करने में जुटी रहीं। बाइकों पर सवार व पैदल जत्थों में निकली टोलियां विभिन्न मार्गों पर विचरण करती नजर आईं। शहर क्षेत्र के पुरानी मछली मंडी, सुभाषनगर व कसाबबाड़ा क्षेत्र में दुकानों को बंद करने के आह्वान पर विरोध भी हुआ। नोक-झोंक व विवाद के बाद पुलिस को डंडा फटकारना पड़ा। चौक से बजाजा रोड पर असामाजिक तत्वों की ओर से ईंट-गुम्मे भी फेंके गए। प्रशासन ने भी सुरक्षा को लेकर कड़े इंतजाम कर रखे थे। एसएसपी रमित शर्मा ने खुद मोर्चा संभाल रखा था। साथ ही एसपी सिटी, एसपी देहात समेत देहात क्षेत्र के अधिकारियों को भी शहर में तैनात किया गया था। बाजार बंदी को लेकर भाजपा ने पूर्व मंत्री लल्लू सिंह की अगुवाई में मार्च व प्रदर्शन किया गया। श्री सिंह ने मूर्ति बरामद होने तक आंदोलन जारी रखने की बात कही। पालिकाध्यक्ष विजय गुप्त, भाजपा जिला संयोजक ओमप्रकाश सिंंह, रामकुमार सिंह, मनमोहन जायसवाल, अशोका द्विवेदी आदि मार्च में शामिल रहे।
जिला पंचायत सदस्य व शिवसेना के प्रदेश उपप्रमुख संतोष दुबे के नेतृत्व में जिला प्रमुख अभय द्विवेदी, विजय तिवारी, राजेश शुक्ल, कैसर अली, हैप्पी, रीतेश जायसवाल आदि ने बंद को सफल बनाने में सहयोग व चौक में प्रदर्शन किया। हिंदू महासंघ के जिलाध्यक्ष मनीष पांडेय व नगर अध्यक्ष शंभुनाथ जायसवाल के साथ जिला संयोजक पवन मिश्र, संजय सिंह, नागेंद्र पांडेय, प्रवीण दुबे, राजन सिंह आदि ने पूरे शहर में घूम-घूम बंदी का आह्वान किया।
अखिल भारतीय चाणक्य परिषद के राष्ट्रीय अध्यक्ष कृपानिधान तिवारी व महामंत्री यादवेश्वर दत्त मिश्र के साथ प्रदीप दुबे बंगाली, आद्याशंकर पांडेय, राजेंद्र तिवारी, अवधेश आदि ने आंदोलन में सक्रिय भूमिका निभाई। युवा व्यापार मंडल के प्रदेश अध्यक्ष राजेश तिवारी समेत बालकृष्ण मिश्र, अनूप श्रीवास्तव, विकास गुप्त, अखिलेश मौर्य, योगेश चंद्र तिवारी, सुदीप जायसवाल, प्रताप जायसवाल समेत अन्य ने हनुमानगढ़ी, फतेहगंज, कसाबबाड़ा में मार्च व प्रदर्शन किया। संयुक्त व्यापार मंडल के प्रदेश महासचिव जनार्दन पांडेय ने मो. चांद, नीरज पाठक, दीपक तिवारी, मो. शोएब, राकेश अग्रहरि, दीपक दुबे समेत अन्य के साथ बैठक व वार्ता कर मूर्ति बरामदगी न होने पर आंदोलन की चेतावनी दी। पाटेश्वरी मंदिर में नारायणी सेना की बैठक में अजय सिन्हा, राजेश योगी, सुबोध सिन्हा, संतोष दुबे, रोहित, अभिषेक, सुभाष, अविनाश चौधरी, विनय निषाद आदि ने खुलासा न होने आंदोलन की चेतावनी दी है। सवर्ण समाज पार्टी ने बाजार बंद में सहयोग किया और बैठक मूर्ति चोरी के मामले की सीबीआई से जांच कराने की मांग की। बैठक में दिलाप त्रिपाठी, विपनेश पांडेय, दयानंद दास, डॉ. उत्तम सिंह, अनिल पांडेय, जनार्दन मिश्र आदि मौजूद रहे। भारतीय सिंधुसभा ने अमृत राजपाल की अध्यक्षता व संदीप मध्यान के संचालन में बैठक कर प्रशासन से मूर्ति चोरी के मामले के खुलासे की मांग की। संतलाल क्षेत्रपाल, सुखदेव साधवानी, कैलाश लखमानी, सपना राजपाल, अशोक उत्तरानी, वर्षा लखमानी मौजूद रहे। रविवार की देर शाम देवकाली मंदिर परिसर में आयोजित विभिन्न संगठनों के लोगों की बैठक में 24 सितंबर को आम लोगों से घंटा-घड़ियाल के साथ मंदिर पहुंचने का आह्वान करने का निर्णय लिया गया। साथ ही प्रबंधन से जुड़े गिरीश पाठक के नेतृत्व में 21 सदस्यीय कमेटी गठित कर आंदोलन की अगली रणनीति पर विचार की बात कही गई। यह जानकारी संजय महेंद्रा ने दी।
एसएसपी रमित शर्मा ने बताया कि मूर्ति चोरी मामले के खुलासे के लिए एसटीएफ की फील्ड यूनिट कुछ लोगों को हिरासत में लेकर पूछताछ कर रही है। जरूरी तथ्य जुटाए जा रहे हैं। जांच में सहयोग के लिए आसपास के एसओजी प्रभारियों को भी बुलाया गया है।

Spotlight

Most Read

Lucknow

यूपी एसटीएफ ने मार गिराया एक लाख का इनामी बदमाश, दस मामलों में था वांछित

यूपी एसटीएफ ने दस मामलों में वांछित बग्गा सिंह को नेपाल बॉर्डर के करीब मार गिराया। उस पर एक लाख का इनाम घोषित ‌किया गया था।

17 जनवरी 2018

Related Videos

जब रात में CM योगी के आवास के बाहर किसानों ने फेंके आलू

लखनऊ में आलू किसानों को जबरदस्त प्रदर्शन देखने को मिला। अपना विरोध जताते हुए किसानों ने लाखों टन आलू मुख्यमंत्री आवास, विधानसभा और राजभवन के बाहर फेंक दिया। देखिए आखिर क्यों भड़क उठा आलू किसानों का गुस्सा।

6 जनवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls
  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper