वाहन चले न खुलीं दुकानें, सड़कों पर सन्नाटा

Faizabad Updated Fri, 21 Sep 2012 12:00 PM IST
फैजाबाद। रसोई गैस की सब्सिडी में कटौती, डीजल मूल्य वृद्धि और रिटेल में एफडीआई के सरकारी फैसले के खिलाफ भारत बंद का मतलब यहां सब कुछ बंद से रहा। शहर में न चले वाहन और न खुली दुकानें। आवाम ने भी इस बंद को जैसे समर्थन देने की घोषणा कर रखी थी। ट्रेन रोकी गई, सोनिया और मनमोहन के पुतले फूंके गए। केंद्र सरकार की बुद्धि की शुद्धि के लिए सरे सड़क भीड़ के बीच आहुतियां डाली गईं। गैर कांग्रेस दलों के नेताओं से लेकर व्यापारिक संगठनों तक से जुड़े लोगों ने जुलूस निकले, जोरदार प्रदर्शन हुआ। आंदोलन को छोड़ सड़कें सन्नाटे में रही। शहर से देहात तक सड़क से गली और चौराहे तक केवल केंद्र की यूपीए सरकार की किरकिरी हुई। शहर तो शहर देहात में भी दुकानें और व्यापारिक प्रतिष्ठान बंद रहे। शहर में वाहन नहीं चले तो देहात में भी इनकी रफ्तार काफी धीमी रही। कहीं-कहीं तो हालात ऐेसे रहे कि शाम को बाजार में बंदी के लिए केवल मुनादी भर की गई। सुबह बाजार के शटर नहीं उठे। दलों के नेताओं ने बंदी के लिए मुस्तैदी रखी। भाजपा के पूर्व विधायक लल्लू सिंह के नेतृत्व में चौक में जुटे भाजपाइयों ने जुड़वा शहरों में घूम-घूम कर बंद कराया। आदित्य नारायण ने बंदी की सफलता के लिए सभी का आभार जताया। पूर्व जिलाध्यक्ष विश्वनाथ सिंह, शक्ति सिंह, धर्मेंद्र प्रताप टिल्लू, महिला जिलाध्यक्ष अशोका द्विवेदी, वीरभानु सिंह, पालिका चेयरमैन विजय कुमार गुप्त बाजार बंद कराने में लगे रहे। सपा के नगर विधायक तेज नारायण पांडेय ‘पवन’ ने कार्यकर्ताओं अधिवक्ता मंसूर इलाही, मनोज जायसवाल, सभासद वसी हैदर गुड्डू, रमेश यादव आदि के साथ फैजाबाद रेलवे स्टेशन पर सरयू-यमुना डाउन एक्सप्रेस को करीब 12 मिनट तक रोेक विरोध जताया। आरपीएफ, जीआरपी और रेलकर्मियों के आग्रह पर इसे आगे के लिए रवाना किया गया। जिलाध्यक्ष जयशंकर पांडेय व विधायक के नेतृत्व में सुबह से ही सपाइयों ने दुकानों को बंद कराया। मोटर साइकिलों पर सवार होकर शहर में घूमे। इस दौरान गंगा सिंह यादव, पूर्व विधायक तिलकराम वर्मा, सूर्यकांत पांडेय, व्यापार सभा के जिलाध्यक्ष केके गुप्त आदि लगे रहे। उत्तर प्रदेश युवा उद्योग व्यापार मंडल के प्रदेश अध्यक्ष सुशील जायसवाल के नेतृत्व में कमल कौशल, विश्व प्रकाश रूपन, प्रवीण रस्तोगी सहित सैकड़ों व्यापारियों ने केंद्र सरकार की बुद्धि-शुद्धि के लिए चौक में आहुतियां डालीं। युवा व्यापार मंडल के प्रदेश अध्यक्ष राजेश तिवारी ने बालकृष्ण मिश्र आदि के साथ राष्ट्रपति को संबोधित आठ सूत्रीय मांग पत्र डीएम को सौंपा। उत्तर प्रदेश उद्योग व्यापार संगठन के जिलाध्यक्ष शरदेंदु प्रकाश सिंह के नेतृत्व में व्यापारियों ने फैजाबाद व अयोध्या शहरों में मोटरसाइकिल रैली निकालकर प्रदर्शन किया। रिकाबगंज हनुमानगढ़ी चौराहे पर प्रधानमंत्री का पुतला फूंका। भाकपा के नेतृत्व में दूसरे वामदलों ने मोटरसाइकिल, चार चक्का वाहनों और लाल झंडे के साथ जुलूस निकाल प्रदर्शन किया। जुलूस में रामतीर्थ पाठक, आफताब हुसैन रिजवी, महिला फेडरेशन की शांति मौर्या आदि रही। सवर्ण समाज पार्टी ने देवकाली कार्यालय से जुलूस निकाला। जुलूस में अनिल पांडेय, जनार्दन मिश्र आदि रहे। फैजाबाद बार एसोसिएशन के अधिवक्ताओं ने प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह और वित्त मंत्री पी चिदंबरम का कचेहरी प्रांगण में डीएम कार्यालय के सामने पुतला फूंका। पुतला दहन में राजीव कुमार शुक्ल, सूर्य नारायण, राजकुमार मौर्य, लालजी गुप्त, पूर्व अध्यक्ष अशोक सिंह सहित तमाम अधिवक्ता मौजूद रहे। अवध, साकेत धाम टेंपो टैक्सी समितियों तथा आदर्श परिवहन सेवा समिति ने संयुक्त रूप से बंद का समर्थन करते हुए वाहनों को मार्ग पर नहीं उतारा है। चालकों और मालिकों ने सड़क पर उतरकर प्रदर्शन किया। प्रदर्शन में तुफैल अहमद, गया प्रसाद मिश्र, सर्वेश कुमार मिश्र, आदि मौजूद रहे।

Spotlight

Most Read

Dehradun

आरटीओ में गोलमाल, जांच शुरू

आरटीओ में गोलमाल, जांच शुरू

21 जनवरी 2018

Related Videos

जब रात में CM योगी के आवास के बाहर किसानों ने फेंके आलू

लखनऊ में आलू किसानों को जबरदस्त प्रदर्शन देखने को मिला। अपना विरोध जताते हुए किसानों ने लाखों टन आलू मुख्यमंत्री आवास, विधानसभा और राजभवन के बाहर फेंक दिया। देखिए आखिर क्यों भड़क उठा आलू किसानों का गुस्सा।

6 जनवरी 2018

  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper