सरयू रौद्र, 48 गांवों में बाढ़

Faizabad Updated Thu, 20 Sep 2012 12:00 PM IST
अयोध्या। चौतरफा बारिश व नेपाल से छोड़े गए पानी से उफनाई सरयू ने अब रौद्र रूप धारण कर लिया है। बुधवार को जलस्तर तेजी से बढ़ते हुए खतरे के निशान से 53 सेंटीमीटर ऊपर पहुंच गया है। जिसके और बढ़ने के आसार हैं। नदी में आई बाढ़ की चपेट में जिले के रुदौली, सोहावल व सदर तहसील के 48 से अधिक गांव आ गए हैं। हजारों एकड़ फसलें तबाह हो गई हैं। प्रभावित गांवों के ग्रामीण बचे सामान, जानवरों व परिवार के साथ उपरहार व बंधे आदि स्थानों पर शरण ले रहे हैं। एसडीएम सदर ने बाढ़ग्रस्त क्षेत्रों का दौरा कर लेखपालों को प्रभावित क्षेत्रों में कैंप करने का निर्देश दिया है। रुदौली में 10 व सदर में 29 नावें बचाव कार्य के लिए लगाई गई हैं। दो माह में तीसरी बार कछार के बाशिंदे बाढ़ की त्रासदी का सामना करने को मजबूर हैं। तेजी से बढ़ता हुआ बाढ़ का पानी कछार के बड़े हिस्से को अपनी चपेट में ले रहा है। केंद्रीय जल आयोग के अवर अभियंता सियाराम गुप्त के मुताबिक नदी का जलस्तर खतरे के निशान 92.730 मीटर से 53 सेंटीमीटर ऊपर है। बुधवार की शाम जलस्तर 93.260 मीटर पर स्थिर हो गया। शनिवार को जलस्तर के 93.280 सें.मी. तक पहुंचने का अनुमान है। पूराबाजार के तटीय क्षेत्र के मूड़ाडीहा, उरदहवा, पूरे चेतन, सलेमपुर, पिपरी संग्राम, बलुइया, गिलंट, धनई का पुरवा, लोनिया का पुरवा, अव्वल किता, काजीपुर, माझा सेवरहवा, डुहिया आदि गांव बाढ़ के पानी से घिर गए हैं। इन गांवों के सैकड़ों घरों में पानी घुस गया है। सैकड़ों एकड़ फसलें जलमग्न हो गई हैं। बाढ़ के बढ़ते पानी से भयभीत परिवार के सदस्यों, जानवरों के साथ ही राशन आदि सामान को लेकर उपरहार के सुरक्षित स्थानों पर शरण ले रहे हैं। एसडीएम सदर रामसहाय यादव ने नायब तहसीलदार प्रदीप यादव, कानूनगो अयोध्या राजेंद्र प्रताप श्रीवास्तव, लेखपाल वीरेश कुमार आदि के साथ बाढ़ प्रभावित इलाकों का निरीक्षण किया। उन्होंने बताया कि प्रभावित क्षेत्रों में बचाव के लिए 29 नावें उतार दी गई हैं। प्रभावित 50 परिवारों को दो मीटर पन्नी वितरित की गयी है। बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों के लेखपालों को क्षेत्रों में कैंप कर निगरानी रखने के निर्देश दिए गए हैं। स्वास्थ्य विभाग से बाढ़ क्षेत्रों में संचालित कैंप सूने हैं। पूरा पीएचसी प्रभारी डॉ. एके सिंह ने बताया कि गुरुवार से टीमें प्रभावित इलाके में सक्रिय हो जाएंगी। सोहावल तहसील क्षेत्र के महोली, कलाफरपुर, रग्घूपुर, मांधाता का पुरवा, मुन्ना का पुरवा गांव बाढ़ के पानी से घिर गए हैं। प्रभावित लोग उपरहार में सुरक्षित स्थानों पर शरण ले रहे हैं। हालांकि प्रशासनिक स्तर से प्रभावितों की कोई सहायता न किए जाने से लोगों में रोष है। रुदौली प्रतिनिधि के मुताबिक घाघरा में आई बाढ़ से तहसील क्षेत्र के सरायनासिर, मुजेहना, कैथी, नूरगंज, महंगू का पुरवा आदि गांवों में पानी घरों में घुस गया है। सराय नासिर प्राथमिक व पूर्व माध्यमिक विद्यालय में लगभग तीन फुट पानी भरने से शिक्षण कार्य ठप हो गया है। बाढ़ प्रभावित इलाकों में राहत व बचाव के लिए नायब तहसीलदार राजितराम गुप्त, लेखपालों की टीम के साथ कैंप कर रहे हैं। उनका कहना है कि बचाव के लिए 10 नावें लगाई गई हैं।

Spotlight

Most Read

Jammu

पाकिस्तान ने बॉर्डर से सटी सारी चौकियों को बनाया निशाना, 2 नागरिकों की मौत

बॉर्डर पर पाकिस्तान ने एक बार फिर से नापाक हरकत की है। जम्मू-कश्मीर में आरएस पुरा सेक्टर में पाकिस्तान की ओर से सीजफायर का उल्लंघन किया है।

19 जनवरी 2018

Related Videos

जब रात में CM योगी के आवास के बाहर किसानों ने फेंके आलू

लखनऊ में आलू किसानों को जबरदस्त प्रदर्शन देखने को मिला। अपना विरोध जताते हुए किसानों ने लाखों टन आलू मुख्यमंत्री आवास, विधानसभा और राजभवन के बाहर फेंक दिया। देखिए आखिर क्यों भड़क उठा आलू किसानों का गुस्सा।

6 जनवरी 2018

  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper