बरसात में ढही कच्ची दीवार, परिवार के आठ लोग घायल

Faizabad Updated Tue, 18 Sep 2012 12:00 PM IST
रुदौली। बरसात के चलते तहसील के मवई थाना क्षेत्र स्थित कुड़रा मजरे खदरा गांव में रविवार की रात एक कच्ची दीवार ढह गई। रात में हुए इस हादसे में सो रहे एक परिवार के आठ सदस्य दब गये। चीख-पुकार पर आसपास के लोगों ने मलबे में दबे परिजनों को बाहर निकला। गंभीर घायल दो लोगों को इलाज के लिये पड़ोसी जिला बाराबंकी में भर्ती कराया गया है। हादसे की खबर पर सोमवार को इलाकाई भाजपा विधायक, नायब तहसीलदार व कानूनगो ने गांव का दौरा कर जानकारी ली है।
बताया गया कि मवई थाना क्षेत्र के ग्राम कुड़रा मजरे खदरा में रविवार की रात गांव निवासी छेदीलाल के घर की कच्ची दीवार बरसात के चलते अचानक ढह गयी। दीवार के मलबेे में परिवार के सभी आठ सदस्य दब गये। चीख-पुकार हुई तो गांव के लोग मौके पर पहुंचे और मलबा हटाकर नीचे दबे लोगों को बाहर निकाला गया। गंभीर घायल होने के चलते धनीराम (50) पुत्र छेदीलाल व धनीराम (15) पुत्र छेदीलाल को इलाज के लिये बाराबंकी जिला अस्पताल भिजवाया गया। अन्य घायलों में बाबादेई (45) पत्नी छेदीलाल व शिवमता (30) पत्नी सत्यनाम को ज्यादा तथा मनीराम (12) पुत्र छेदीलाल, सुनीता देवी पुत्री छेदीलाल, मनोरानी पुत्री सत्यनाम, अमित कुमार पुत्र सत्यनाम को मामूली चोटें आई हैं। सोमवार को मामले की जानकारी पर नायब तहसीलदार व कानूनगो ने मौके पर पहुंचकर जानकारी एकत्र की है। रुदौली से भाजपा विधायक रामचंद्र यादव ने पीड़ित परिवार से ब्यौरा हासिल किया। विधायक ने इलाज के साथ अन्य की व्यवस्था कराने का भी आश्वासन दिया।
बारिश ही पूरी कर देगी धान की प्यासः
फैजाबाद। पिछले कुछ दिनों तक इंद्र देवता की बेरुखी से फसलों की सिंचाई करते-करते थक चुके किसानों के लिए खुशखबरी है। बीतेे चार दिनों से धीमी ही सही, लेकिन रुक-रुक कर हो रही फसलों के लिए अमृत वर्षा के अगले दो दिनों तक और जारी रहने की संभावना है। कृषि वैज्ञानिकों का अनुमान है कि यदि इंद्र देवता की यह कृपा अगले दो दिनों तक और बनी रही, तो धान समेत अन्य फसलों को पानी देने के लिए निजी अथवा सरकारी साधनों के इस्तेमाल की जरूरत नहीं होगी।
कुमारगंज स्थित नरेंद्र देव कृषि विश्वविद्यालय के मौसम विज्ञान विभाग के पर्यवेक्षक शंख माधव त्रिपाठी ने बताया कि पिछले चार दिनों में जिले में करीब 150 मिलीमीटर वर्षा हो चुकी है। वर्षा ऋतु समाप्ति की ओर है। कुछ दिनों से वर्षा का क्रम रुकने से किसानों के माथे पर चिंता की लकीरें उभर आई थीं। ऐसे में पिछले चार दिनों से हो बरसात किसानों के लिए वरदान, तो फसलों के लिए अमृत तुल्य है। श्री त्रिपाठी ने बताया कि ऐसी वर्षा के अगले दो दिन तक जारी रहने की संभावनाएं हैं। जितनी हो चुकी और पूर्वानुमान है, उससे लगता है कि धान की फसल को अलग से पानी नहीं देना पड़ेगा।

Spotlight

Most Read

Kanpur

एक्सप्रेस-वे का काम अधूरा, टोल टैक्स देना पड़ेगा पूरा 

लखनऊ-आगरा एक्सप्रेस-वे पर 19 जनवरी की मध्य रात्रि से टोल टैक्स तो शुरू हो जाएगा लेकिन एक्सप्रेस-वे पर तैयारियां आधी-अधूरी हैं। एक्सप्रेस-वे के किनारे न रेस्टोरेंट बने और न होटल। कई जगह पर बैरीकेडिंग टूटने से जानवर भी सड़क  पर आ जाते हैं।

18 जनवरी 2018

Related Videos

जब रात में CM योगी के आवास के बाहर किसानों ने फेंके आलू

लखनऊ में आलू किसानों को जबरदस्त प्रदर्शन देखने को मिला। अपना विरोध जताते हुए किसानों ने लाखों टन आलू मुख्यमंत्री आवास, विधानसभा और राजभवन के बाहर फेंक दिया। देखिए आखिर क्यों भड़क उठा आलू किसानों का गुस्सा।

6 जनवरी 2018

  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper