विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
इस कार्तिक पूर्णिमा पर द्वारकाधीश जी को अर्पित करें प्रातः भोग, होंगी सारी मनोकामनाएं पूरी :12-नवंबर-2019
Astrology Services

इस कार्तिक पूर्णिमा पर द्वारकाधीश जी को अर्पित करें प्रातः भोग, होंगी सारी मनोकामनाएं पूरी :12-नवंबर-2019

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

टेरर फंडिंगः एनआईए ने जावेद को दिल्ली एयरपोर्ट से दबोचा, सऊदी अरब से लौटा था स्वदेश

एनआईए ने दिल्ली एयरपोर्ट से मुजफ्फरनगर जिले के छपार थाना क्षेत्र के गांव खामपुर निवासी जावेद अली को गिरफ्तार किया है।

12 नवंबर 2019

विज्ञापन
विज्ञापन

इटावा

मंगलवार, 12 नवंबर 2019

बिजली जलाए इटावा क्लब, बकाएदार खेल विभाग

इटावा। इटावा क्लब की बुकिंग जिला प्रशासन करता है, बुकिंग के एवज में मिलने वाली धनराशि भी जिला प्रशासन के खाते में ही जाती है लेकिन शाही पार्टियों पर आने वाले बिजली बिल का भुगतान खेल विभाग के जिम्मे कर दिया गया है, जबकि क्लब में केवल एक हॉल ही खेल विभाग को आवंटित है। इसके बावजूद खेल विभाग को बिजली विभाग ने 39 लाख रुपये का बिजली बिल थमा दिया है। भारी भरकम बिल देख अधिकारियों के होश फाख्ता हैं।
इटावा क्लब जिलाधिकारी के नियंत्रण में रहने वाली एक स्वायत्तशाषी संस्था है। जिसमें क्लब के सदस्यों के बीच से सेक्रेटरी चुना जाता है और जिलाधिकारी पदेन अध्यक्ष होते हैं। वर्ष 2015 में इटावा क्लब ने जगह खेल विभाग को मल्टीपरपज हाल के निर्माण के लिए दे दी। खेल विभाग के बजट से इस हाल का निर्माण वर्ष 2015 में कराया गया।
उद्देश्य यह था कि इटावा क्लब में आने वाले सदस्य सुबह योग व्यायाम पार्क में करें यदि उन्हें टेबिल टेनिस, बैडमिंटन, कुश्ती आदि का शौक है तो मल्टीपरपज हाल का उपयोग कर सकते हैं। इसके लिए खेल विभाग ने कोई शुल्क नहीं लगाया। इटावा क्लब को जिला प्रशासन शादी विवाद एवं अन्य समारोहों के लिए 24 घंटे के लिए किराये पर देता है। इसका उपयोग व्यवसायिक गतिविधियों में भी होता है।
वर्ष 2015 में इटावा क्लब के नाम कनेक्शन होना था परंतु यह कनेक्शन मल्टीपरपज हाल के लिए जिला खेल अधिकारी के नाम विद्युत विभाग से हुआ। एक हाल के लिए 100 केवीए क्षमता का कनेक्शन स्वीकृत हुआ। इसके बाद खेल विभाग के पास कोई बिल नहीं पहुंचा।
अचानक मई 2019 में जिला खेल अधिकारी के नाम सितंबर महीने में 37 लाख 35 हजार 672 रुपये की आरसी जारी कर दी गई। तहसील से जब संग्रह अमीन आरसी लेकर जिला खेल कार्यालय पहुंचा तो कर्मचारियों के हाथ पांव फूल गए।
जिला खेल अधिकारी एसके लहरी ने इस बारे में जिलाधिकारी को पत्र लिखकर अवगत कराया था। इस पर जिलाधिकारी ने एसडीएम सदर सिद्धार्थ को संदर्भित कर दिया है। फिलहाल बिजली विभाग की वसूली खेल विभाग के लिए बड़ी मुसीबत बनी हुई है। इटावा क्लब में बिजली उपयोग हो रही है और बिल भरना पड़ रहा है खेल विभाग को।
एसडीएम सिद्धार्थ ने कहा कि मामले को दिखवाया जा रहा है, जो भी नियमानुसार होगा उसके अनुरूप बिल का भुगतान कराया जाएगा।
... और पढ़ें

करंट की चपेट में आए किसान की मौत

इटावा। ऊसराहार के भाऊपुरा गांव में खेत की रखवाली के लिए गया किसान ट्यूबवेल के केबल में आए करंट की चपेट में आ गया। परिजन उसे अस्पताल ले जा रहे थे कि उसने दम तोड़ दिया।
ऊसराहार ब्लॉक क्षेत्र की पंचायत दीघ के गांव भाऊपुरा निवासी कायम सिंह उर्फ मिलाप (60) ने खेत में धान की फसल रोपी हुई है। गत शनिवार रात कायम सिंह फसल की रखवाली के लिए खेत पर गए थे। तभी वह करंट की चपेट में आ गए।
रविवार सुबह जब ग्रामीणों ने किसान कायम सिंह को खेत में अचेतावस्था में पड़ा देखा तो परिजनों को सूचना दी। परिजन किसान को लेकर जिला अस्पताल पहुंचे। जहां डॉक्टर ने उन्हें मृत घोषित कर दिया।
किसान के पुत्र अजय ने बताया कि वह दो भाई व तीन बहनें हैं। जिसमें बहनों की शादी हो चुकी है। पिता के पास 14 बीघा खेत थे। वह शनिवार की रात खेत पर गए थे। सुबह उनके खेत पर पड़े होने की जानकारी मिली। आनन फानन में उन्हें लेकर जिला अस्पताल पहुंचे। तब तक उनकी मौत हो चुकी थी।
किसान की मौत से परिजनों में कोहराम मच गया। ग्रामीणों ने बताया कि कायम सिंह के खेत में ट्यूबवेल लगा है। संभवत: उसी की केबल से करंट लगा। इस संबंध में दीघ पंचायत के प्रधान कन्हैया लाल ने बताया कि किसान की मौत करंट लगने से हुई है।
ऊसराहार थाना के उपनिरीक्षक छोटे लाल ने शव का पंचनामा भरा। वही थानाध्यक्ष जितेंद्र प्रताप सिंह ने बताया कि शव का पोस्टमार्टम कराया गया है। तहरीर के आधार पर कार्रवाई की जाएगी।
... और पढ़ें

राजमिस्त्री ने आग लगाकर की खुदकुशी

इटावा। पत्नी व बेटे से अनबन के चलते अकेले रह रहे एक अधेड़ उम्र राजमिस्त्री ने शनिवार रात अपने ऊपर मिट्टी का तेल डालकर आग लगा ली। उसकी मौके पर मौत हो गई। चर्चा है कि मृतक के पुत्र ने ससुरालीजनों ने साथ आकर दिवाली के दिन मारपीट की थी। इसी से क्षुब्ध होकर उसने आत्मघाती कदम उठाया है। पुलिस ने दरवाजा तोड़कर शव निकाला और पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया।
बकेवर थाना क्षेत्र के रमपुरा व्यास गांव निवासी तोताराम के पुत्र ज्ञानदास दोहरे (46) को गांव में लोग ज्ञानी मिस्त्री कहकर पुकारते थे। वह राजमिस्त्री का काम करता था। करीब सालभर से उसकी पत्नी मंजू देवी अपने तीन बेटों व एक बेटी के साथ औरैया जिले के अजीतमल थाना क्षेत्र के भरसान गांव स्थित अपने मायके में रह रही है। ज्ञानी मिस्त्री घर में अकेला रह रहा था। उसके तीन भाई गांव में ही रह रहे हैं। ज्ञानी मां बाप की तीसरे नंबर संतान था।
भूमिहीन ज्ञानी का अपनी पत्नी व बच्चों से मनमुटाव बना हुआ था। छोटे भाई सियाराम ने बताया कि दिवाली पर रात करीब 11 बजे ज्ञानी भैया की ससुराल आए ससुर, साले व बड़े बेटे छोटू ने उसके साथ मारपीट की थी। तभी से उनके बड़े भाई गुमसुम रहने लगे थे। गत शनिवार रात करीब 10 बजे बड़े भाई ने कमरा अंदर से बंद करके खुद पर मिट्टी का तेल डाल लिया और आग लगा ली। उनकी मौत हो गई। कमरे से धुआं निकलते देखा तो 100 नंबर पर पुलिस व पूर्व प्रधान को सूचना दी।
रात के वक्त पत्नी बच्चे नहीं आए। सुबह पत्नी बच्चों के साथ आई और कुछ देर रुकने के बाद फिर मायके चली गई। सूचना मिलने पर रात में ही बकेवर थानाध्यक्ष प्रमोद कुमार शुक्ला, महेवा चौकी प्रभारी राकेश पटेल पुलिस बल के साथ मौके पर पहुंचे और कमरे का दरवाजा तोड़कर शव को बाहर निकाला। उप निरीक्षक राकेश पटेल ने बताया कि ज्ञानी के भाई सियाराम ने हादसे की सूचना दी थी। शव को कब्जे लिया और पोस्टमार्टम के लिए भेजा है।
ज्ञानी के दो बड़े भाई रामनरेश व मोहनदास और छोटा भाई सियाराम गांव में ही अगल-बगल रह रहे हैं। सभी मिस्त्री का काम करते हैं। ज्ञानी घर में अकेले रहता था। पूर्व प्रधान बृजकिशोर ने बताया कि स्वभाव से मिलनसार ज्ञानी मिस्त्री की पत्नी मंजू देवी, बड़ा पुत्र छोटू (20), राम (14), पुत्री छाया देवी (4) व शिवम (2) भरसान गांव में रह रहे हैं। इनमें छोटू नशे का आदी है और जुआ भी खेलता है।
बड़े भाई रामनरेश ने बताया कि ज्ञानी की पत्नी और ससुराल के लोग उससे गांव का मकान बेचने का दवाब बना रहे थे। पत्नी चाहती थी कि वह मकान बेचकर भरसान में आकर रहने लगे। ग्रामीणों ने बताया कि ज्ञानी की मौजूदा चार संतानों के अलावा दूसरे नंबर का एक बेटा मर चुका है। पत्नी इसके लिए घर में भूतप्रेत की आशंका जताती है। इसीलिए वह अपने मायके जाकर रहने लगी।
... और पढ़ें

वर्ल्ड चैंपियनशिन में अजीत ने जीता कांस्य

भरथना (इटावा)। क्षेत्र के नगला विधी साम्हो के दिव्यांग खिलाड़ी अजीत सिंह ने एक बार विश्व पटल पर देश के साथ-साथ जिले का नाम भी रोशन किया है। दुबई में आयोजित विश्व पैरा एथलेटिक्स चैंपियनशिप में अजीत ने भाला फेंक स्पर्धा में तीसरा स्थान प्राप्त कर कांस्य पदक हासिल किया है। अजीत की सफलता पर परिवार के गांव में खुशी की लहर दौड़ गई है।
रविवार की शाम दुबई में आयोजित प्रतियोगिता के दौरान स्पर्धा में अजीत सिंह ने 59.46 मीटर दूरी पर भाला फेंक कर कांस्य पदक जीता। इससे पहले चीन के बीजिंग में विश्व पैरा एथलेटिक्स ग्रैंड प्रिक्स चैंपियनशिप में उन्होंने 56.47 मीटर पर भाला फेंककर प्रथम स्थान प्राप्त कर स्वर्ण पदक हासिल कर देश को गौरवान्वित किया था।
भाई शेर सिंह (अंशू) ने बताया कि अजीत ने ग्वालियर स्थित लक्ष्मीबाई शारीरिक शिक्षा संस्थान से पीएचडी की डिग्री प्राप्त की है। इसी संस्थान में दाखिला लेकर प्रशिक्षक बृजेंद्र सिंह दवास की देखरेख में भाला फेंकने का प्रशिक्षण लिया।
दुबई में 7 नवंबर से विश्व पैरा एथलेटिक्स चैंपियनशिप चल रही है जिसका समापन 17 नवंबर को होगा। पुत्र अजीत की सफलता पर पिता सुभाष चंद यादव, मां पुष्पा देवी के अलावा भाई शेर सिंह यादव,बहन अनुष्का,दीप्ति बाबा राजेंद्र सिंह, विश्राम सिंह, ताऊ सुरेश चंद्र,चाचा नीरज यादव, राजवीर सिंह आदि परिजनों समेत गांव में खुशी का माहौल है।
गांव के रवि का कहना है कि अजीत की सफलता से बेहद खुशी है। गांव का नाम रोशन किया है। नगला मंदिर सुखवीर सिंह का कहना है कि अजीत ने परिवार, गांव समेत आसपास के लोगों का भी सीना चौड़ा कर दिया है। अजित की सफलता से बेहद खुशी हुई।
नगला नया के युवा जीतू का कहना है कि अजीत की लगन व सफलता हम सब युवाओं के लिए प्रेरणा स्रोत हैं। गांव के ही शनि, जीवा, विक्रम, सतीश, आंसू, बॉबी आदि युवाओं में अजीत की सफलता पर उत्साह व्याप्त है।
... और पढ़ें
कांस्य पदक के साथ अजीत कांस्य पदक के साथ अजीत

समथर गोशाला में सौर ऊर्जा से चलेगा सबमर्सिबल पंप

इटावा। ताखा ब्लॉक की समथर गोशाला में सबमर्सिबल पंप और लाइट सौर ऊर्जा से जलेगी। सोमवार को गोशाला का निरीक्षण करने गए जिलाधिकारी ने बीडीओ को प्रस्ताव बनाने का निर्देश दिया। परिसर में गंदगी देख उन्होंने नाराजगी भी जताई और मिट्टी का भराव कराने के निर्देश भी दिए।
जिलाधिकारी जेबी सिंह सोमवार दोपहर भाजपा नेता मनीष यादव पतरे, एडीएम ज्ञान प्रकाश श्रीवास्तव, एसडीएम ताखा नंद प्रकाश मौर्य, मुख्य पशु चिकित्साधिकारी डॉ. डीएस राजपूत और बीडीओ के साथ गोशाला पहुंचे थे। गोशाला में उन्हें 53 गोवंश मिले, इसमें 10 सांड़ हैं। दो टिनशेड में एक शेड की फर्श काफी नीचे होने पर मिट्टी का भराव कराने और शेड ऊपर कराने को कहा। ताकि बारिश का पानी शेड के नीचे न भरे। टिनशेड के नीचे काफी मात्रा में गोबर पड़ा होने पर जिलाधिकारी ने नाराजगी जताई। कहा कि प्रतिदिन दोनों शेड के साथ परिसर की साफ सफाई की जाए। उन्होंने कहा कि खाद के गड्ढे बनाकर गोबर डाला जाए जिससे खाद बन सके।
गोशाला में गोवंश को पिलाने के लिए पानी हैंडपंप से निकाला जा रहा था। इस पर जिलाधिकारी ने पूछा बिजली कनेक्शन क्यों नहीं है। बीडीओ ने बताया कि बिजली लाइन काफी दूर है। इस पर जिलाधिकारी ने सोलर सिस्टम का जल्द प्रस्ताव बनाने के निर्देश दिए।
... और पढ़ें

जैतपुरा प्रधान के पति पर कालाबाजारी का मुकदमा दर्ज

जैतपुरा प्रधान के पति पर केरोसिन की कालाबाजारी का मुकदमा दर्ज
घर से 1500 लीटर मिट्टी का तेल बरामद होने पर हुई कार्रवाई
डीलर के कोटा निलंबन के लिए डीएम को भेजी गई रिपोर्ट
संवाद न्यूज एजेंसी
बकेवर/लवेदी। खाद्य आपूर्ति विभाग के पूर्ति निरीक्षक ने लवेदी थाना में जैतपुरा गांव की प्रधान के पति के खिलाफ केरोसिन की कालाबाजारी करने के आरोप में मुकदमा दर्ज कराया गया है। इस मामले में डीलर का कोटा निलंबित करने के लिए डीएम को रिपोर्ट भेजी गई है। दर्ज रिपोर्ट में प्रधान को आरोपी नहीं बनाया गया।
महेवा ब्लॉक क्षेत्र के पूर्ति निरीक्षक विवेक कुमार ने लवेदी थाना में प्रधान जैतपुरा सागरवती के पति उदयवीर सिंह के खिलाफ आवश्यक वस्तु अधिनियम व केरोसिन नियंत्रण आदेश 1962 के तहत दर्ज कराए मामले में कहा कि गत 6 नवंबर को एसडीएम भरथना इंद्रजीत सिंह व नायब तहसीलदार विशाल यादव के साथ उन्होंने ब्लॉक क्षेत्र की ग्राम पंचायत जैतपुरा में कोटा डीलर गुड्डी देवी व दुर्गापुरा गांव में प्रधान सागरवती के आवास पर छापा मारा था। प्रधान सागरवती के आवास से केरोसिन से भरे आठ ड्रम बरामद हुए थे। करीब 15 सौ लीटर केरोसिन बरामद हुआ था। जो कालाबाजारी के रखा गया था। ड्रमों पर किसी उचित दर विक्रेता का नाम नहीं लिखा था।
दर्ज रिपोर्ट में ग्राम प्रधान को आरोपित नहीं किया गया है। इस पर पूर्ति निरीक्षक विवेक कुमार ने बताया कि तहरीर में ग्राम प्रधान के नाम की जगह वर्तमान ग्राम प्रधान पति का घर लिखा गया है। अब पुलिस को इस मामले की विवेचना करनी है कि केरोसिन की कालाबाजारी में कौन कौन संलिप्त है।
पूर्ति निरीक्षक ने बताया कि कोटा डीलर गुड्डी देवी के यहां छापा की कार्रवाई में खामियां मिली थी। कोटा डीलर ने अधिकारियों को स्टॉक व वितरण रजिस्टर उपलब्ध नहीं कराया था। लिहाजा कोटा निलंबन को लेकर जिलाधिकारी की संस्तुति के लिए रिपोर्ट बनाकर भेजी गई है। मालूम हो कि ग्रामीणों ने तहसील दिवस में कोटा डीलर की शिकायत की थी। जिस पर यह कार्रवाई हुई है।
आरोपी पर पुलिस नहीं कर रही कार्रवाई
बकेवर। कस्बा निवासी एक किशोरी को बहला फुसलाकर ले जाने के मामले में पुलिस कोई कार्रवाई नहीं कर रही।
बकेवर कस्बा निवासी पीड़ित पिता ने बताया कि गत 11 अक्तूबर को उसकी 15 साल की पुत्री घर पर अकेली थी। इसी दौरान बिजौली गांव का मूल निवासी युवक उसके घर आया और उसकी पुत्री को बहला फुसलाकर साथ ले गया था। इस मामले में उसने एसएसपी को प्रार्थना पत्र दिया। तब थाना पुलिस ने व्यासपुरा के दो भाइयों को पकड़ा था। दो दिन बाद दोनों को थाना से छोड़ दिया था। पीड़ित पिता ने आरोप लगाया कि पुलिस मामले में कोई कार्रवाई नहीं कर रही।
... और पढ़ें

प्रेस प्रसंग के चलते महिला व युवक ने खाया जहर

इटावा। बकेवर थाना क्षेत्र के अंतर्गत ग्राम सराय मिठ्ठे में रिश्ते में देवर और भाभी ने जहर खा लिया। दोनों नाजुक हालत में जिला अस्पताल में भर्ती हैं।
बकेवर थाना क्षेत्र के ग्राम सराय मिट्ठे में सुनील कुमार बाथम की पत्नी बबिता (28) व उसके पड़ोसी युवक विकास (22) पुत्र जयराम ने जहर खा लिया। विकास रिश्ते में बबिता का देवर है।
दोनों की हालात बिगड़ने पर परिवार के लोगों को जानकारी हुई तो पुलिस को सूचना दी गई। इसके बाद दोनों महेवा सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र लाया गया, जहां हालत गंभीर होने पर जिला अस्पताल रेफर कर दिया गया। बताया गया कि बबिता का पति सुनील हाईवे पर एक होटल पर कार्य करता है। हालांकि दोनों ने जहर क्यों खाया इस बात पर परिजन चुप्पी साधे हुए हैं।
... और पढ़ें

बाल दिवस पर परिणय सूत्र में बंधेंगे 351 जोड़े

इटावा। बाल दिवस पर शहर के नुमाइश पंडाल में 351 जोड़े परिणय सूत्र में बंधेंगे। इसके लिए शहर के नुमाइश पंडाल में तैयारी की जा रही है। शासन की ओर नवयुगल को नगद के साथ उपहार भी दिए जाएंगे। सांसद, विधायक, अधिकारियों के साथ समाजसेवी वर-वधू को आशीर्वाद देंगे।
जिला समाज कल्याण अधिकारी शिशु पाल सिंह ने बताया कि मुख्यमंत्री सामूहिक विवाह योजना में इस बार जिले को 351 जोड़ों के विवाह/निकाह कराने का लक्ष्य मिला है। सभी निकाय और बीडीओ को लक्ष्य काफी पहले दिए जा चुके हैं।
उन्होंने बताया कि महेवा ब्लॉक में 90, ताखा ब्लॉक में 65, बसरेहर ब्लॉक में 36, भरथना ब्लॉक में 33, जसवंतनगर ब्लॉक में 30, सैफई ब्लॉक में 22, बढ़पुरा ब्लॉक में 10 और चकरनगर ब्लॉक में चार पंजीकरण हो चुके हैं। सदर नगर पालिका क्षेत्र में 16 पंजीकरण हुए हैं। इसमें तीन मुस्लिम जोड़े हैं। पांच अन्य निकायों को मिलाकर करीब 340 पंजीकरण कराए जा चुके हैं।
पंजीकरण 13 नवंबर तक कराए जा सकते हैं। समाज कल्याण अधिकारी ने बताया कि आयोजन नुमाइश पंडाल में 14 नवंबर को 12 बजे से होगा। कार्यक्रम में वर और कन्या के पांच पांच लोग भी शामिल होंगे। इसके भोजन और नाश्ते का खर्च प्रशासन की ओर से उठाया जाएगा। हिंदुओं के विवाह वैदिक रीति से और मुस्लिमों के निकाह इस्लामिक रिवाज के कराए जाएंगे। सांसद प्रो रामशंकर कठेरिया, विधायक सरिता भदौरिया, विधायक सावित्री कठेरिया, जिलाधिकारी जेबी सिंह अन्य अधिकारी और समाज के गणमान्य लोग वर कन्या को आशीर्वाद देेंगे।
... और पढ़ें

पुलिस ने छोड़े सामूहिक दुष्कर्म के अहम सबूत

बकेवर। लखना चौकी क्षेत्र की किशोरी के साथ हुए सामूहिक दुष्कर्म मामले में पुलिस की कार्यशैली पर सवाल खड़े हो रहे हैं। दुष्कर्म से जुड़े जिस वायरल वीडियो के आधार पर पीड़िता के पिता ने मुकदमा दर्ज कराया। पुलिस ने यह सबूत माल मुकदमाती यानी मुकदमे का हिस्सा नहीं बनाया है। आरोपियों के मोबाइल व लैपटॉप सील नहीं किए हैं, जबकि दर्ज रिपोर्ट में आईटी एक्ट की धाराएं भी लगाई गईं हैं। बताया जा रहा कि आरोपियों के मोबाइल फोन अब तक पुलिस के पास ही हैं।
बकेवर थाना क्षेत्र से संबद्ध लखना पुलिस चौकी क्षेत्र की एक किशोरी के साथ उसके पड़ोसी युवक व उसके साथियों ने सामूहिक दुष्कर्म करने के बाद एक लाख रुपयों की मांग की थी। पीड़िता जब यह रकम नहीं दे पाई तो आरोपियों ने वीडियो वायरल कर दिया था। इस पर किशोरी के पिता ने छह लोगों के खिलाफ सामूहिक दुष्कर्म व आईटी एक्ट के तहत मामला दर्ज कराया था।
इस मामले में पुलिस ने अब तक जो कार्रवाई की है। उसमें झोल दिख रहे हैं। पुलिस जहां छोटे मोटे मामलों में भी आरोपियों से बरामद सामान मसलन मोबाइल फोन आदि बतौर सबूत मुकदमे का हिस्सा बनाती है। उसे कानूनी कार्रवाई में दाखिल करती है। इस गंभीर मामले में विवेचक ने आरोपियों के मोबाइल फोन व लैपटॉप को सबूत के तौर पर आज तक सील कर दाखिल नहीं किया है। वीडियो वायरल होना मामले के सामने आने की प्रमुख वजह रहा है।
इसे लेकर लोगों में चर्चा है कि आखिर सामूहिक दुष्कर्म के वायरल वीडियो के सबूत के तौर पर आरोपियों के मोबाइल व एक लैपटॉप को पुलिस ने दाखिल क्यों नहीं किया।
इस संबंध में मामले के विवेचक सीओ भरथना आलोक प्रसाद ने बताया कि इस मामले के पूर्व में विवेचक रहे सीओ भरथना ने तब मोबाइल व लैपटॉप दाखिल नहीं किए थे। आरोपियों के खिलाफ आरोप पत्र लगाया जा चुका है। अब वायरल वीडियो व तस्वीर की सीडी बनवा ली गई है।
मोबाइल व लैपटॉप का डाटा हुआ साफ
पुलिस ने इस मामले में पांच आरोपियों के स्मार्ट मोबाइल व एक आरोपी का लैपटॉप बरामद किया था। जिन्हें चार महीने बाद भी माल मुकदमाती नहीं बनाया गया। जो थाना पुलिस के पास मौजूद बताए जा रहे। पुलिस सूत्रों के अनुसार आरोपियों के मोबाइल व लैपटॉप में जो डाटा था। वह डिलीट हो चुका है। उनमें अब कोई वीडियो या फोटो बतौर सबूत नहीं बचा है।
गोपाल त्रिपाठी
... और पढ़ें

पराली जलाने से बाज नहीं आ रहे किसान

जसवंतनगर। कड़े निर्देशों के बावजूद भी ग्रामीण इलाकों में पराली जलाना रुक नहीं रहा है। किसान धड़ल्ले से खेतों में पराली जलाकर प्रदूषण को बढ़ावा दे रहे हैं।
बलरई मार्ग ग्राम राजपुर तमेरी भोगनीपुर नहर के पास रात के समय किसान अभी भी पराली जला रहे हैं। करीब एक सैंकड़ा बीघा में पराली जलती देखी गई। इससे लगातार प्रदूषण बढ़ता ही जा रहा है। पर्यावरण दूषित होने से लोगों को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। वहीं, धुंध की वजह से सांस लेने में परेशानी हो रही हैं। इसके अलावा आंखों में जलन भी हो रही है। प्रशासन ने खेतों में पराली जलाने वालों के खिलाफ कार्रवाई करने की बात कही है लेकिन नियमों को दरकिनार कर जसवंतनगर क्षेत्र में पराली अभी भी जलाई जा रही है। क्षेत्र के किसान जानकारी के अभाव में खेतों में पराली जलाने से बाज नहीं आ रहे हैं।
... और पढ़ें

हादसे में फिरोजाबाद के युवक की मौत, दो घायल

जसवंतनगर (इटावा)। तेज रफ्तार और हेलमेट नहीं लगाए होना युवक की मौत का सबब बन गया। सोमवार सुबह पांच बजे के करीब झबरापुरा गांव के पास हाईवे पर किसी वाहन की टक्कर से बाइक खड्ड में जा रही। सिर पर लगी चोटों ने की वजह से बाइक सवार ने दम तोड़ दिया, जबकि दोनों साथी गंभीर हालत में सैफई मिनी पीजीआई में भर्ती हैं।
फिरोजाबाद जिले के रसूलपुर थाना क्षेत्र के शांतीनगर मोहल्ला निवासी प्रेमपाल सिंह (25) पुत्र अशोक कुमार मोहल्ले के ही दो साथियों टीकम सिंह कुशवाह पुत्र लक्ष्मण सिंह व सोनू शंखवार पुत्र अशोक के साथ जसवंतनगर थाना क्षेत्र के धनुआ गांव में किसी समारोह में शामिल होने जा रहा था। फिरोजाबाद में किसी चूड़ी के कारखाना में मजदूरी करने वाले प्रेमपाल ने हेलमेट नहीं लगाया हुआ था। सोमवार सुबह करीब साढ़े 5 बजे के करीब जब वह हाईवे पर झबरापुरा गांव के पास पूजा होटल के पास पहुंचा तो किसी वाहन ने टक्कर मार दी। टक्कर लगने पर बाइक उछलकर हाईवे किनारे खड्ड में जाकर गिरी।
हादसे में प्रेमपाल सिंह की मौके पर ही मौत हो गई। दोनों साथी गंभीर रूप से घायल हो गए। टक्कर मारने के बाद चालक गाड़ी को भगा ले गया। सूचना मिलने पर पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम पहुंचाया और घायलों को सैफई मिनी पीजीआई भेजा। जसवंतनगर थाना प्रभारी निरीक्षक अनिल कुमार ने बताया कि बाइक सवार हेलमेट नहीं पहने थे। उनके चेहरे तथा सिर में चोटें आईं हैं। हेलमेट पहने होते तो शायद युवक की जिंदगी बच सकती थी।
पुलिस ने किया शव के साथ अमानवीय बर्ताव
हादसे में मौत के शिकार हुए युवक के शव के साथ पुलिस ने अमानवीय बर्ताव किया है। शव को एक लोडर में बेतरतीब ढंग से रखकर पुलिस पोस्टमार्टम स्थल पर लेकर पहुंची। थाना पुलिस की इस हरकत से एक बार फिर से महकमा शर्मसार हुआ है। प्रभारी निरीक्षक अनिल कुमार ने बताया कि शव को लोडर से भेजे जाने की उन्हें कोई सूचना नहीं है।
... और पढ़ें

कंबाइन मशीन सीज, चालक व क्लीनर को भेजा जेल

इटावा। बिना स्ट्रारीपर के कंबाइन मशीन से धान काटने पर जिलाधिकारी के निर्देश पर एसडीएम ने कंबाइन मशीन सीज कर दी। पुलिस ने चालक और सहायक को शांतिभंग की आशंका की धारा में जेल भी भेज दिया। वहीं जिलाधिकारी ने खेत में पराली जला रही महिला से पूछताछ की और उसके किसान पति पर जुर्माना लगाने के निर्देश दिया है।
जिलाधिकारी जेबी सिंह समथर गोशाला जा रहे थे। नगला हिम्मत की माइनर के पास कंबाइन मशीन से धान फसल की कटाई की जा रही थी। कंबाइन के साथ पुवाल काटने वाली स्ट्रारीपर नहीं थी। जिलाधिकारी ने गाड़ी रुकवाकर चालक से पूछताछ की। स्ट्रारीपर न होने पर एसडीएम को कंबाइन सीज करने के
निर्देश दिए। कुछ दूरी पर खेत में नगला भगत निवासी नीलम पत्नी मनोज यादव बच्चों के साथ खेतों में पराली जला रही थी।
जिलाधिकारी ने महिला को पराली जलाने का नुकसान बताकर रोक दिया। उन्होंने साथ मौजूद एडीएम ज्ञान प्रकाश श्रीवास्तव से कहा कि तहसीलदार को बुलाकर किसान मनोज पर कम से कम पांच हजार रुपये जुर्माना लगाएं।
समथर में एसडीएम ताखा नंद प्रकाश मौर्य से कहा कि अगर किसी क्षेत्र में पराली जलाई जाती है तो संबंधित हलके के लेखपाल के खिलाफ कार्रवाई करें।
बसरेहर। ब्लॉक क्षेत्र में किसान बड़ी संख्या में पराली जला रहे हैं। इससे चारों ओर धुआं फैल रहा है। अभियान के दौरान 18 किसानों के खेतों में पराली जली मिली है। वहीं दो लोगों को हिरासत में लिया गया है। पराली जलाने वाले किसानों पर जुर्माना भी किया जाएगा।
सोमवार को नायब तहसीलदार चंद्रप्रकाश ने कानूनगो नरेंद्र यादव और करी चौकी पुलिस के साथ चेकिंग
अभियान चलाया। इटावा-फर्रुखाबाद मार्ग पर गंगापुरा के पास खेत में चल रही कंबाइन बंद कराई। चालक को
एक्ट्रारीपर के साथ ही कंबाइन चलाने को कहा। अधिकारियों ने बसरेहर, चौबिया, कर्री, बीना, कटैयापूरा समेत कई
गांवों में खेत देखे। इस दौरान दो लोगों को हिरासत में भी लिया गया। करीब 18 किसानों के खेत में पराली जली
मिली। कानूनगो ने इन किसानों के नाम लिख लिए। नायब तहसीलदार ने बताया कि इन किसानों पर जुर्माना किया
जाएगा। -संवाद
... और पढ़ें

जिले में डेंगू से हुई नौवीं मौत, छह और मरीज मिले

इटावा। शहर के माल गोदाम रोड बैजल कालोनी निवासी शिक्षिका की डेंगू से मौत हो गई है। उनका नोएडा के अस्पताल में इलाज चल रहा था। अब नौ लोगों की जिंदगी डेंगू लील चुका है। जिला अस्पताल में सोमवार को छह और मरीजों में प्राथमिक लक्षण मिले हैं। मरीजों की संख्या सवा सौ पार कर गई है।
श्रुति (38) पत्नी देवेंद्र कुमार परिषदीय स्कूल कटर फतेह महमूद खां में शिक्षिका थीं। एबीएसए दिग्विजय सिंह ने बताया कि बुखार आने पर छह नवंबर को अवकाश लिया था। जेठ धर्मेंद्र सिंह ने बताया कि निजी अस्पताल में जांच में डेंगू की पुष्टि हुई है। हालत में सुधार न होने पर तीन दिन पहले नोएडा के अस्पताल में भर्ती कराया गया था, जहां रविवार रात मौत हो गई।
उधर, जिला अस्पताल की पैथोलॉजी में बुखार के 26 मरीजों ने डेंगू की जांच कराई है। इसमें अनीस राजपूत, बाबू, खुशबू, सुनील, प्रीती, और प्रियंका में डेंगू के प्राथमिक लक्षण मिले हैं। जिला अस्पताल की जांच में अभी तक 74 मरीजों में डेंगू के लक्षण मिल चुके हैं। इसके अलावा शहर के निजी अस्पतालों, ग्वालियर, आगरा के अस्पतालों में 50 से अधिक लोगों को डेंगू की पुष्टि हुई है।
सीएमओ डॉ.रवींद्र यादव ने कहा कि एएनएम ग्रामीण क्षेत्रों में आशा के साथ मिलकर दवा का छिड़काव करवा रहीं हैं। एएनएम की संख्या दो सौ है। जिलाधिकारी के आदेश के बाद शहर के मोहल्लों एवं गांवों में दवा का छिड़काव कराया जा रहा है।
... और पढ़ें
अपने शहर की सभी खबर पढ़ने के लिए amarujala.com पर जाएं
Redwood global school 6x8 col

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree
Election