बंधन की गांठ में नहीं बंधे सपा-बसपा के वोटर

विज्ञापन
prateek dubey इटावा, अमर उजाला ब्यूरो Published by: प्रतीक दुबे
Updated Sat, 25 May 2019 12:07 AM IST
SP-BSP voters not tied in knot

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹299 Limited Period Offer. HURRY UP!

ख़बर सुनें
सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव की जन्मभूमि इटावा से शुरू होकर कर्मभूमि कन्नौज की सीमा तक फैले इटावा संसदीय क्षेत्र के वोटरों को भी गठबंधन की गांठ बांध नहीं पाई। सपा के गढ़ के मतदाताओं ने दलीय बंधन तोड़कर भाजपा के पक्ष में जमकर मतदान किया। इससे पिछले चुनाव की तुलना में भाजपा केवल अपने वोटों में 80028 की जबरदस्त बढ़ोतरी दर्ज कर लगातार दूसरी बार इटावा में कमल खिलाने में कामयाब रही। उसके प्रत्याशी डा. रामशंकर कठेरिया ने 63717 वोटों से जीत हासिल की।  
विज्ञापन


इटावा संसदीय क्षेत्र में इटावा, भरथना, औरैया, दिबियापुर और कानपुर देहात जिले के सिकंदरा विधानसभा क्षेत्र आते हैं। वर्ष 2017 के विधानसभा चुनाव में पांचों सीटों पर भाजपा के प्रत्याशी विजयी हुए थे। भाजपा विधानसभा चुनाव में पांचों सीटें भले ही जीत गई थी लेकिन उसकी जीत का अंतर सपा और बसपा को मिले वोटों से बहुत कम था। पांचों विधानसभा क्षेत्रों में भाजपा को 416178 वोट मिले थे जबकि सपा और बसपा ने 567707 वोट हासिल किए थे। सपा व बसपा को मिले वोटों से भाजपा 151529 वोट पीछे थी।


प्रदेश भर में यही आंकड़े देखकर अखिलेश और मायावती पुरानी राजनीतिक दुश्मनी भुलाकर एक मंच पर आए। उन्हें उम्मीद थी कि दोनों दलों के परंपरागत मतदाता भी एक साथ वोट करेंगे, इससे गठबंधन प्रदेश में भाजपा को उखाड़ फेंकेगा। किंतु मतदाताओं ने जाति की बेड़ियां तोड़ दीं और राष्ट्रवाद के नाम पर वोट कर भाजपा के माथे पर विजय का टीक लगा दिया।

भरथना को छोड़कर भाजपा चार विधानसभा क्षेत्रों में गठबंधन से भारी रही। भरथना में सपा को 120940 और भाजपा को 107551 वोट मिले, यहां सपा 13389 वोट से आगे रही। इटावा में सपा को 89704 व भाजपा को 121783, दिबियापुर में सपा को 88849 व भाजपा को 90461, औरैया में सपा को 84239 व भाजपा को 95584 और सिकंदरा में सपा को 72225 व भाजपा को 104315 वोट मिले। इस तरह भाजपा इटावा में 32079, दिबियापुर में 1612, औरैया में 11345 व सिकंदरा में 32090 मतों की बढ़त बनाई।
 
2014 के लोकसभा चुनाव की तुलना में भाजपा ने 2019 के लोकसभा चुनाव में 80028 वोटों बढ़ोतरी की है  जबकि गठबंधन को 3547 मत कम मिले। पिछले लोकसभा चुनाव में भाजपा को 439646 वोट मिले थे। दूसरे  नंबर पर रही सपा को 266700 और तीसरे नंबर पर ही बसपा को 192804 वोट मिले थे। सपा बसपा के वोटों का योग 459504 रहा था। इस बाद बसपा से गठबंधन कर चुनाव लड़ने के बावजूद सपा को 455957 वोट ही  मिल पाए। ये वोट पिछले बार की तुलना में 3547 कम हैं।

विधानसभा चुनाव 2014 में किसे मिले कितने वोट
विस क्षेत्र    भाजपा    सपा+बसपा        अंतर
इटावा    91234    122469        31235
भरथना    82005    141875        59870
दिबियापुर    71480    110838        39358
औरैया    83580    100739        17159
सिकंदरा    87879    091786        03907
नोट : विधानसभा चुनाव में सपा व बसपा अलग-अलग लड़ीं थीं।

लोकसभा चुनाव 2019 में किसे कहां मिले कितने वोट
विस क्षेत्र    भाजपा    गठबंधन    अंतर
इटावा    121783    89704    32079    
भरथना    107551    120940    13389    
दिबियापुर    90461    88849    1612    
औरैया    95584    84239    11345
सिकंदरा    104315    72225    32090

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us

X

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00
X