बेहतर इलाज का खाका तैयार

Etawah Updated Sun, 23 Sep 2012 12:00 PM IST
इटावा। जिला अस्पताल में विकास का खाका नए सिरे से तैयार किया गया है। अब अस्पताल में इंडियन पब्लिक हेल्थ स्टैंडर्ड को लागू करने पर जोर दिया जा रहा है। शासन द्वारा एक करोड़ रुपए की लागत से बनने वाली नई इमरजेंसी को स्वीकृति देकर धनराशि अवमुक्त कर दी गई थी, लेकिन जिलाधिकारी की अध्यक्षता में हुई जिला कार्यसमिति की बैठक में इस योजना को मंजूरी नहीं दी गई। जिलाधिकारी के निर्देश पर इस एक करोड़ की धनराशि को खर्च करने के लिए नए सिरे से प्रस्ताव तैयार किया गया है। अब इस प्रस्ताव को जिला स्वास्थ्य समिति की बैठक में पास होने के बाद शासन की मंजूरी के लिए भेजा जाएगा। नए प्रस्ताव में निर्माण कार्य से ज्यादा उपकरणों व अगिभनशमन की व्यवस्था पर बल दिया गया है। नई इमरजेंसी निर्माण की जगह वर्तमान में चल रही इमरजेंसी का विस्तार करके उसे अत्याधुनिक व आईपीएचएस मानक के अनुरूप बनाने का निर्णय लिया गया है। नए प्रस्ताव पर शासन की मोहर लगी तो जिला अस्पताल में जरूरतमंदों को बेहतर इलाज मिलेगा।

क्या था पुराना प्रस्ताव
पुराने प्रस्ताव के तहत शासन ने जिला अस्पताल में अलग से इमरजेंसी व प्रशासनिक भवन निर्माण पर सहमति दी थी। इस निर्माणकार्य के लिए शासन द्वारा कार्यदायी संस्था को एक करोड़ रुपए की धनराशि भी अवमुक्त की गई थी। कार्यदायी संस्था ने जिला अस्पताल का निरीक्षण भी कर लिया था लेकिन अस्पताल प्रशासन नए निर्माण की जगह उपकरणों की उपलब्धता पर जोर दे रहा था। इस कारण निर्माण कार्य शुरू नहीं हो सका। बाद में इस प्रस्ताव पर जिलाधिकारी की अध्यक्षता में हुई जिला स्वास्थ्य समिति की बैठक में आपत्ति लगा दी गई।

क्या है नया प्रस्ताव
नए प्रस्ताव के तहत शासन द्वारा भेजी गई एक करोड़ रुपए की धनराशि में से 63.07 लाख रुपए से इंडियन पब्लिक हेल्थ स्टैंडर्स के मानक के आधार पर उपकरण की खरीद की जाएगी। 48,75,931 रुपए से पुरानी इमरजेंसी का विस्तार व नवीनीकरण करके उसे आईपीएचएस मानक के अनुसार बनाया जाएगा। शेष रुपए फायर फाइटिंग सिस्टम लगाने पर व्यय किया जाएगा।

पुरानी इमरजेंसी में यह होंगे बदलाव
नए प्रस्ताव में पुरानी इमरजेंसी में ही आईपीएचएस मानक के अनुसार बदलाव करके इसे आधुनिक इमरजेंसी बनाया जाएगा। अत्याधुनिक सुविधाओं से युक्त नई इमरजेंसी में आवश्यक उपकरणों से सुसज्जित माइनर ओटी और परिजनों के लिए वेटिंगरूम, आधुनिक बेड आदि उपलब्ध होंगे।

यह लगेंगे मेडिकल उपकरण
एक्सरे मशीन 300एमए, एक्सरे मशीन 500एमए, एक्सरे मशीन 60एमए, कलर डोपलर, कॉडिएक मॉनीटर-8, डेफीब्रिलेटर, वेंटीलेटर एडल्ट, वेंटीलेटर पैड, पल्स ओक्सीमीटर-8, नेब्यूलाइजर-4, टीएमटी, फोटोग्राफी यूनिट-3, इलेक्ट्रानिक वेट मशीन-3, नीयूनटल रेस्क किट, लेरिंगोस्कोप, याज्ञ लेसर, बीनोकुलर, माइक्रोस्कोप, डिस्टलाइज वाटर प्लांट, रोटर/सेकर, ऑटोब्लड गैस एनालाइजर, इंडोस्कोप, आर्थोस्कोप।

अफसर बोले
बिल्डिंग निर्माण पहले से ही पर्याप्त है। फायर फाइटिंग सिस्टम के साथ आधुनिक मेडिकल उपकरणों की कमी है। इसी कमी को दूर करने के लिए डीएम साहब के निर्देश पर यह नया प्रस्ताव तैयार किया गया है।-सुरेशचंद्र यादव, सीएमएस

Spotlight

Most Read

Delhi NCR

दिल्ली-एनसीआर में दोपहर में हुआ अंधेरा, हल्की बार‌िश से गिरा पारा

पहले धुंध, उसके बाद उमस भरे मौसम और फिर हुई हल्की बारिश ने दिल्ली में हो रहे गणतंत्र दिवस के फुल ड्रेस रिहर्सल में विलेन की भूमिका निभाई।

23 जनवरी 2018

Related Videos

यूपी में शौचालय भी हुए भगवा, पूर्व सीएम अखिलेश ने ली चुटकी

इटावा के एक गांव में बन रहे शौचालयों को भगवा रंग में रंगा जा रहा है। स्वच्छ भारत मिशन के तहत बन रहे 350 शौचालयों में से सौ शौचालयों को भगवा में रंगा जा चुका है।

13 जनवरी 2018

  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper