कृषि वैज्ञानिकों ने बताए खेती-किसानी के गुर

Etawah Updated Sun, 23 Sep 2012 12:00 PM IST
इटावा। राष्ट्रीय बागवानी मिशन के तहत कंपनी गार्डन में आयोजित दो दिवसीय किसान मेले की शुरूआत हो गई। किसान मेले के शुभारंभ मुख्य अतिथि और सांसद प्रो. रामगोपाल यादव व उद्यान मंत्री राजकिशोर सिंह ने संयुक्त रूप से किया। मेले में शामिल हुए कृषि वैज्ञानिकों ने किसानों को उन्नति खेती के गुर सिखाए।
इस अवसर पर उद्यान विभाग, कृषि विभाग, फल संरक्षण बागवानी अनुसंधान एवं संस्थान, इफको और निजी क्षेत्र की कंपनियों द्वारा लगाए गए स्टॉलों का मुख्य अतिथि ने अवलोकन किया। किसानों को भी कृषि उपकरणों, बीज की नई प्रजातियों की जानकारी दी गई। कार्यक्रमों को संबोधित करते हुए उद्यान मंत्री राजकिशोर सिंह ने किसानों से अपील की कि वह प्रदेश में लागू राष्ट्रीय बागवानी मिशन, राष्ट्रीय कृषि विकास योजना, ड्रिप सिंचाई योजना और अन्य औद्यानिक विकास की योजनाओं का लाभ लें। उन्होंने बताया कि प्रदेश में नई खाद्य प्रसंस्करण की नीति लागू की गई है ताकि फल और सब्जी अधिक आमदनी के साधन बनाए जा सकें।
मुख्य अतिथि एवं राज्यसभा सांसद प्रो. रामगोपाल यादव ने कृषि विकास दर को बढ़ाने के लिए खाद्य प्रसंस्करण आधारित उद्योगों के विकास पर बल दिया। उन्होंने फसलों के अधाधुंध रासायनों और उर्वरक के प्रयोग पर चिंता जताई। उन्होंने उद्यान विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिए कि कृषकों को अच्छी गुणवत्ता के पौधे, बीज उपलब्ध कराएं। कार्यक्रम में निदेशक उद्यान एवं खाद्य प्रसंस्करण ओएन सिंह ने किसानों को कृषि नीतियों, योजनाओं व नई तकनीकियों की जानकारी दी। कार्यक्रम के तकनीकी सत्र में केंद्रीय आलू अनुसंधान मोदीपुरम मेरठ से आए वरिष्ठ वैज्ञानिक डॉ. एके लूथरा ने जनपद की जलवायु में उपयुक्त विभिन्न फसलों के बारे में किसानों को बताया। वरिष्ठ वैज्ञानिक डॉ. विनय सिंह ने आलू और बीज (आलू) के उत्पादन की नवीन तकनीक की जानकारी दी। सहायक निदेशक राष्ट्रीय बागवानी अनुसंधान एवं संस्थान डा. एसपी त्रिपाठी ने लहसुन पैदावार बढ़ाने के उपाय बताए।
किसान मेले में जिलाधिकारी पी गुरुप्रसाद, सांसद प्रेमदास कठेरिया, विधायक सदर रघुराज सिंह शाक्य, सुखदेवी वर्मा, चेयरमैन कुलदीप गुप्ता संटू, जिलाध्यक्ष सपा अशोक यादव, महामंत्री कृष्णमुरारी गुप्ता, एसएसपी राजेश मोदक, सीडीओ डॉ. अशोक चंद्र, उप निदेशक कृषि प्रसार एमपी सिंह सहित कानपुर, कानपुर देहात, औरैया, कन्नौज, फर्रुखाबाद आदि जनपदों से भारी संख्या में किसान उपस्थित रहे। जिला उद्यान अधिकारी डॉ. धर्मपाल सिंह ने अतिथियों को बुके भेंटकर सम्मानित किया।

बेहतर सिंचाई को लगाएं ड्रिप सिस्टम
जैन इरिगेशन सिस्टम प्राइवेट लिमिटेड के स्टाल पर किसानों को ड्रिप सिस्टम से सिंचाई की विधि की जानकारी दी गई। कंपनी के डा. अनिल कुमार ने बताया कि इस विधि से सिंचाई फसल के लिए उपयोगी होती है। पानी धीरे-धीरे फसल की जड़ों तक पहुंचता है। उन्होंने बताया कि साधारण व्यवस्था में पानी पर कोई कंट्रोल नहीं होता है। ज्यादा पानी फसल के लिए नुकसानदेह भी हो सकता है।

हैंड स्प्रे मशीन को छोड़े
गोपाल कृष्ण खडेल के स्टाल पर कंपनी के लोगों ने हैंडस्प्रे मशीन की जगह बैटरी व डीजल से चलने वाली मशीनों के बारे में जानकारी दी। रीटरी टिलर से किसान अपने खेतों की जुताई कर सकते हैं। एक लाख बीस हजार का यह उपकरण ढाई घंटे में एक एकड़ जमीन की जुताई कर सकता है। एक लीटर की जुताई में डेढ़ लीटर डीजल की खपत होगी। इसे जनरेटर के तौर पर भी इस्तेमाल किया जा सकता है।

किसान मेले में आज
किसान मेले के दूसरे और अंतिम दिन रविवार को भारतीय कृषि अनुसंधान संस्थान नई दिल्ली के वैज्ञानिक फल, सब्जी एवं पुष्प उत्पादन की तकनीकी पर चर्चा करेंगे।

Spotlight

Most Read

Chandigarh

'आप' के बाद अब मुसीबत में भाजपा, हरियाणा के चार विधायकों पर गिर सकती है गाज

दिल्ली में आम आदमी पार्टी के बीस विधायकों की छुट्टी के बाद अब हरियाणा के भी चार विधायकों की सदस्यता जा सकती है।

22 जनवरी 2018

Related Videos

यूपी में शौचालय भी हुए भगवा, पूर्व सीएम अखिलेश ने ली चुटकी

इटावा के एक गांव में बन रहे शौचालयों को भगवा रंग में रंगा जा रहा है। स्वच्छ भारत मिशन के तहत बन रहे 350 शौचालयों में से सौ शौचालयों को भगवा में रंगा जा चुका है।

13 जनवरी 2018

  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper