पूर्व दस्यु सुंदरी ने चुनाव लड़कर जनता की सेवा की जताई इच्छा

Etawah Updated Wed, 19 Sep 2012 12:00 PM IST
इटावा। लगभग ढाई माह पूर्व जेल से रिहा हुई दस्यु सुंदरी रेनू यादव ने जेल में बंद रामवीर गुर्जर व उसके साथियों से अपनी जान को खतरा बताया है। उसका कहना है कि उसे फोन पर लगातार धमकियां दी जा रही हैं। उसका पूरा परिवार दहशत में है। उसने जिला प्रशासन से सुरक्षा दिए जाने की मांग की।
मंगलवार को एक होटल में पत्रकारों से वार्ता करते हुए दस्यु सुंदरी रेनू यादव ने कहा कि 29 नवंबर 2003 क ो जब वह स्कूल पढ़ने जा रही थी तभी दस्यु सरगना चंदन यादव ने उसका अपहरण कर लिया था। उस समय पुलिस ने उसकी कोई मदद नहीं की। बीहड़ में उसका उत्पीड़न होता रहा पैरवी न होने पर वह बदमाशों के चंगुल से नहीं छूट सकी। गैंग द्वारा की जा रही वारदातों में उसका नाम आने लगा। बाद में पुलिस ने उसे दस्यु सुंदरी बना दिया।
उसने बताया कि जब बीहड़ में रामवीर गुर्जर ने चंदन यादव की हत्या की तो उसने एसएलआर से रामवीर गुर्जर पर फायर कर दिया था। गोली लगने से वह घायल हुआ था बाद में उसने समर्पण कर दिया। पुलिस ने उसे मुठभेड़ में दिखा कर जेल भेज दिया। रेनू यादव का कहना है कि उसी समय से रामवीर उससे दुश्मनी रखता है। उसके जेल से छूटने के बाद रामवीर और उसके साथी उसे फोन पर जान से मारने की धमकी दे रहे है। सुरक्षा न होने के कारण वह कानपुर में रह रही है। वहां भी उसे जान का खतरा है। उसने पुलिस प्रशासन से सुरक्षा दिए जाने की मांग की। रेनू ने बताया कि महिलाओं पर अत्याचार होते रहते है। और पुलिस कुछ नहीं करती। हमारे साथ जो हुआ वह अन्य किसी महिला के साथ न हो इसके लिए वह राजनीति में आना चाहती है। उसका कहना है कि आगामी लोकसभा का चुनाव लड़ेगी।

Spotlight

Most Read

Bihar

चारा घोटाला: लालू और जगन्नाथ मिश्रा को 5 साल की सजा, कोर्ट ने 5 लाख का लगाया जुर्माना

पूर्व रेल मंत्री और राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के खिलाफ सीबीआई की विशेष अदालत ने बड़ा फैसला सुनाया है।

24 जनवरी 2018

Related Videos

यूपी में शौचालय भी हुए भगवा, पूर्व सीएम अखिलेश ने ली चुटकी

इटावा के एक गांव में बन रहे शौचालयों को भगवा रंग में रंगा जा रहा है। स्वच्छ भारत मिशन के तहत बन रहे 350 शौचालयों में से सौ शौचालयों को भगवा में रंगा जा चुका है।

13 जनवरी 2018