पकड़ा गया दहशतगर्द

Etawah Updated Wed, 22 Aug 2012 12:00 PM IST
इटावा। शहर में कारों, मकानों व एटीएम के शीशे तोड़कर अराजकता फैलाने वाला युवक पुलिस के हत्थे चढ़ गया। पुलिस के लिए सिरदर्द बनी घटना को महज एक विद्यालय के प्रधानाचार्य को सबक सिखाने के उद्देश्य से अंजाम दिया गया। पकड़े गए युवक के दो साथी फरार हो गए हैं। पुलिस उनकी तलाश में जुटी हुई है। पुलिस को मिली इस सफलता पर डीआईजी कानपुर भी इटावा पहुंचे और उन्होंने उस युवक को पत्रकारों के समक्ष पेश करते हुए पूरे मामले का खुलासा किया।
बताते चलें कि गुरुवार की रात को शहर में लोकनिर्माण मंत्री शिवपाल सिंह यादव के आवास के बाहर और पड़ोस में खड़ी कारों सहित शहर के अन्य स्थानों पर करीब एक दर्जन कारों के शीशे तोड़े गए थे। इसके अलावा यूनियन बैंक के एटीएम और ओवरब्रिज से सटे एक मकान के शीशे भी तोड़े गए थे। इस तरीके की फैलाई गई अराजकता से पूरे शहर में दहशत का माहौल कायम हो गया था।
इस मामले में पकड़े गए युवक को पेश करते हुए डीआईजी कानपुर एसके गुप्ता ने बताया कि अराजकता के जरिए दहशत फैलाने के इस मामले को लेकर जिले की पुलिस आरोपियों की तलाश में जुटी थी। मुखबिर के जरिए सूचना मिली कि अराजकता फैलाने वाला एक युवक शास्त्री चौराहे पर खड़ा है और कहीं भागने की फिराक में है। कोतवाल किशनसिंह तालान व एसओ सिविल लाइन शैलेंद्र सिंह ने पुलिस बल के साथ घेराबंदी करके उसको दबोच लिया। पूछताछ में उसने अपना जुर्म कुबूल कर लिया।
डीआईजी ने बताया कि पूछताछ में उसने अपना नाम राहुल पुत्र क्षत्रपाल कोरी निवासी अशोकनगर भरथना चौराहा के पास बताया। उसने इस कृत्य में शामिल अपने साथियों के नाम तनय पंडित और अमन शुक्ला बताए हैं। उन्होंने बताया कि अराजकता फैलाने का उद्देश्य नारायण कालेज साइंस एवं आर्ट्स के प्रधानाचार्य को सबक सिखाना रहा। राहुल के अनुसार कक्षा 12 में पढ़ने वाला उसका दोस्त तनय पंडित कालेज की छात्रा से प्रेम करता था। छात्रा को एक अन्य छात्र ने प्रेमपत्र दे दिया। इस पर उस छात्र को पीटा। इसे लेकर प्रधानाचार्य ने तनय व उसके दोस्तों को डांटा और तनय को कालेज से निकाल देने की चेतावनी दी। इसी चेतावनी व डांट से क्षुब्ध होकर राहुल, तनय और अमन शुक्ला ने प्रधानाचार्य को सबक सिखाने के लिए पहले उनकी गाड़ी के, बाद में अन्य कारों के शीशे तोड़े। डीआईजी ने बताया कि पकड़े गए युवक व उसके साथियों के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया गया है। राहुल के दोनों साथियों की तलाश शुरू कर दी गई है। जल्द ही दोनों युवक दबोच लिए जाएंगे। इस मौके पर एसएसपी राजेश मोदक, एएसपी ऋषिपाल सिंह, सीओ सिटी रामयज्ञ मौजूद थे।

नशे की अधिकता में फैला दी अराजकता
पकड़े गए युवक राहुल के अनुसार नारायण कालेज के प्रधानाचार्य को सबक सिखाना ही उनका प्रमुख उद्देश्य था। इसलिए पहले उनकी गाड़ी के शीशे तोड़ डाले गए। लेकिन यह कृत्य उन्होंने शराब के नशे में किया। राहुल ने बताया कि तीनों ने मिलकर सात बोतल बीयर पी। उसके बाद प्रधानाचार्य के आवास राजश्री होटल के पास खड़ी उनकी कार को तोड़ दिया। उसके बाद नशे के चलते अन्य वाहनाें और एटीएम व मकान के शीशे तोड़ते चले गए।

पेट्रोल खत्म हुआ तो मोबाइल गिरवी रख दिया
राहुल के अनुसार वह लोग घरों से साढ़े नौ बजे निकल आए थे। विजयनगर चौराहे के पास सभी इकट्ठे हुए। वहीं पर बीयर पी। बीयर पीने के कुछ देर बाद वह लोग एक बाइक से पक्का तालाब चौराहा पर पहुंच गए। जब रात गहरा गई और लोगों का आवागमन बंद हुआ तो वह लोग हरकत में आ गए और शीशे तोड़ते रहे। ढाई बजे के उनकी बाइक का पेट्रोल खत्म हो गया। तब चौधरी पेट्रोल पंप पर पहुंचे और डेढ़ सौ रुपए में मोबाइल रखकर सौ रुपए का पेट्रोल डलवाया और 50 रुपए की सिगरेट पी गए।

घटना के खुलासा से जनता में बढ़ेगा विश्वास
डीआईजी एसके गुप्ता ने बताया कि इस घटनाक्रम को शहर में हुए अन्य घटनाओं से जोड़कर देखा जा रहा था, जिससे जनता सशंकित थी और विभिन्न प्रकार के कयास लगाए जा रहे थे। इस घटना पर उच्च अधिकारी लगातार नजर रखे हुए थे। इस घटनाक्रम के पटाक्षेप हो जाने से जनता में पुलिस के प्रति विश्वास बढ़ेगा।

तैनात पिकेट व गश्ती दल की होगी जांच
डीआईजी एसके गुप्ता ने बताया कि इस पूरे घटनाक्रम में महत्वपूर्ण तथ्य यह है कि उस क्षेत्र में लगी पिकेट व गश्त के सिपाही कहां थे। काफी देर तक इन युवकों द्वारा अराजकता फैलाई तब पिकेट और गश्ती पुलिस कहां थी। उन्हें इसकी भनक भी नहीं लग सकी। इसकी जांच कराई जाएगी। जो भी दोषी होंगे उनके खिलाफ कार्रवाई होगी। उन्होंने यह भी चेतावनी दी कि यदि आगे इस तरह की कोई वारदात होती है तो पिकेट व गश्त करने वालों को बख्शा नहीं जाएगा।

Spotlight

Most Read

Jharkhand

गरीबी की वजह से इस शख्स ने शुरू किया था मिट्टी खाना, अब लग गई लत

गरीबी की वजह से झारखंड के कारु पासवान ने मिट्टी खानी शुरू की थी।

19 जनवरी 2018

Related Videos

यूपी में शौचालय भी हुए भगवा, पूर्व सीएम अखिलेश ने ली चुटकी

इटावा के एक गांव में बन रहे शौचालयों को भगवा रंग में रंगा जा रहा है। स्वच्छ भारत मिशन के तहत बन रहे 350 शौचालयों में से सौ शौचालयों को भगवा में रंगा जा चुका है।

13 जनवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls
  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper