बारिश के 13 घंटेः तलैया बने मोहल्ले, लोग घरों में कैद

Etawah Updated Thu, 26 Jul 2012 12:00 PM IST
इटावा। मंगलवार की रात से शुरू होकर 13 घंटे तक रुक-रुक कर हुई बारिश ने शहर के मोहल्लों को तालाब की शक्ल दे दी। चारों ओर पानी ही पानी नजर आया। बेशक इस बारिश ने गर्मी का एहसास खत्म किया हो लेकिन बाहर जो नजारा दिखा वो अजब था। खासकर लाइनपार क्षेत्र में जलमग्न गलियों के कारण लोग घरों से कैद हो गए। सरकारी कार्यालयों में हाजिरी काफी कम रही। बाजारों में सन्नाटा पसरा रहा। वे दुकानदार अधिक दुखी रहे जिनकी दुकानाें के आगे पानी भरा था क्योंकि ऐसी स्थिति में किसी भी ग्राहक ने उस ओर रुख नहीं किया। रही सही कसर बिजली ने पूरी कर दी। बारिश के साथ ही बिजली ने धोखा दिया। कई मोहल्लों में तो बुधवार शाम तक बिजली के दर्शन नहीं हुए।

गांधीनगर की गलियां लबालब
लाइनपार क्षेत्र के मुहल्ले गांधीनगर की कोई भी गली ऐसी नहीं बची जहां जलभराव न हो। मुख्य सड़क की हालत तो काफी दयनीय हो गई। सड़क पर पहले से ही गिट्टी के जगह-जगह ढेर लगे हुए हैं। ऐसे में पानी ठहरा रहा। स्कूली बच्चों को उनके संचालक अथवा शिक्षक गोद में उठाकर सड़क पार कराते देखे गए।

रामनगर की तलैया ओवरफ्लो
रामनगर में लोगों के घरों के चबूतरों तक पानी पहुंच गया। यहां जलनिकासी के बंदोबस्त नहीं हैं। तलैया में ही लोगों के घरों से निकलने वाला पानी जमा होता है। जो बरसात के चलते ओवरफ्लो हो गई। न्यू विजयनगर, इंद्रानगर, शांतीकालोनी में भी जलभराव रहा। अड्डा तुलसी, अड्डा मुखिया, ऊसरा अड्डा के अलावा पचावली रोड की कालोनियों जलमग्न दिखीं। लोग घरों में कैद हो गए।

नवीन मंडी परिसर टापू बना
नवीन मंडी परिसर तो टापू बन गया। सरकारी खरीद के गेहूं से भरे प्लेटफार्मों के चारों ओर पानी भर गया। बारिश और हुई तो पानी गेहूं तक पहुंच जाएगा। पुलिस चौकी में भी बरसात का पानी घुस गया। आढ़ती अपना कारोबार शुरू नहीं कर सके। आढ़तियों का कहना रहा कि यह जलभराव उनके कारोबार को कई दिनों तक प्रभावित करेगा क्योंकि पानी निकलने में कई दिन लग जाएंगे।

शिवा कालोनीवासी घरों में कैद
नवीन मंडी के बगल से स्थित शिवा कालोनी की सभी गलियां पूरी तरह से जलमग्न हो गईं। आलम यह था कि यदि कुछ समय और बारिश का दौर चलता तो निश्चित रूप से गली में बने घरों में पानी घुस जाता। गलियों में पानी भरने से लोग घरों में कैद होने को विवश हुए। सुबह जो बच्चे स्कूल निकल गए उनको वापस पहुंचने पर गलियां पानी से भरी मिली। फलस्वरूप उनको पानी में घुसकर ही घर जाने को विवश होना पड़ा।

सरकारी कार्यालय भी जलमग्न
झमाझम हुई बारिश के चलते हुए जलभराव से सरकारी कार्यालय व कालोनियां भी अछूती नहीं रह सकीं। विकास भवन परिसर में पानी भर गया। अधिकारियों और कर्मचारियों को आफिस पहुंचना मुश्किल हो गया। जीजीआईसी कैंपस के जलमग्न होने से छात्राओं को काफी परेशानियां उठानी पड़ीं। कचहरी स्थित हवालात के बाहर भी पानी भरा रहा। पुलिस लाइन स्थित कालोनी की गलियां भी जलमग्न हो गईं।

अधोगामी सेतु में पानी भरा
मैनपुरी रेलवे क्रासिंग पर बना अधोगामी सेतु भी जलभराव का शिकार हुआ। इस सेतु में जलनिकासी के लिए पंप सेट लगे हुए है लेकिन अधिक बारिश के दौरान यह पंप नाकाफी होते हैं। पुल के नीचे पानी भर जाता है। सबसे अधिक परेशान पुल के उस पार रहने वाली उन छात्राओं को हुई जो इस पार पढ़ने आती हैं। यही नहीं अधिक पानी के चलते कई वाहन पानी में फंसे दिखे। कई बार जाम की स्थिति भी उभरी।

बेघर हुए फुटपाथ पर रहने वाले
बारिश का सबसे ज्यादा कहर नुमायश गेट के बाहर झोपड़ी डालकर रहने वालों पर गिरा। उनकी झोपड़ियों के बाहर तो पानी भरा ही रहा, कुछ के अंदर भी घुस गया। इसी तरह बलराम सिंह चौराहा से जीजीआईसी स्कूल तक सड़क के किनारे पानी भर गया। उसके सामने दुकानों के सामने जलभराव रहा।

नालों के सफाई अभियान की खुली पोल
बरसात के दौरान जलभराव न हो इसके लिए नगर पालिका परिषद ने सभी नालों की सफाई कराई थी लेकिन झमाझम बारिश में इस सफाई अभियान की पोल खुल गई। यदि सही ढंग से नालों की सफाई की गई होती तो इतनी जगहों पर जलभराव की समस्या नहीं उभरती। खासकर गांधीनगर, शिवाकालोनी, विजयनगर, रामनगर में हुए जलभराव से साफ जाहिर है कि यहां पर बने नालों की तलीझार सफाई नहीं कराई गई।

Spotlight

Most Read

Lucknow

अखिलेश यादव का तंज, ...ताकि पकौड़ा तलने को नौकरी के बराबर मानें लोग

यूपी के पूर्व सीएम अखिलेश यादव ने केंद्रीय मंत्री सत्यपाल सिंह पर निशाना साधा और कहा कि भाजपा देश की सोच को अवैज्ञानिक बताना चाहती है।

22 जनवरी 2018

Related Videos

यूपी में शौचालय भी हुए भगवा, पूर्व सीएम अखिलेश ने ली चुटकी

इटावा के एक गांव में बन रहे शौचालयों को भगवा रंग में रंगा जा रहा है। स्वच्छ भारत मिशन के तहत बन रहे 350 शौचालयों में से सौ शौचालयों को भगवा में रंगा जा चुका है।

13 जनवरी 2018

  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper