साथियों पर रिपोर्ट के खिलाफ फूटा गुस्सा

Etawah Updated Fri, 20 Jul 2012 12:00 PM IST
इटावा। क्षेत्रीय वन अधिकारी अजीतमल सहित पूरे रेंज स्टाफ पर एफआईआर के विरोध में इटावा व औरैया के वनकर्मियों ने गुरुवार को प्रभागीय निदेशक के कार्यालय पर पहुंचकर जमकर हंगामा किया। कर्मियों ने जांच अधिकारी का घेराव करते हुए जमकर नारेबाजी की और अनिश्चितकालीन कार्य बहिष्कार का एलान कर दिया। इस पूरे मामले पर प्रभागीय निदेशक ने नए सिरे से जांच कराने के आदेश दिए हैं।
वर्ष 2011-12 में अजीतमल रेंज में मनरेगा के तहत कराए गए विकास कार्यों की शिकायत औरैया जिलाधिकारी से एक व्यक्ति द्वारा की गई थी। डीएम ने इस पूरे मामले की जांच उप प्रभागीय वनाधिकारी औरैया एसके मिश्रा को सौंपी। उन्होंने जांच रिपोर्ट में धरातल पर कहीं विकास कार्य न होने एवं लाखों में सरकारी धन का गबन किए जाने की बात कही। डीएम के आदेश पर इस जांच रिपोर्ट के आधार पर अजीतमल थाने में रेंज वन अधिकारी अजीतमल एमआर विश्वकर्मा सहित वनदरोगा दिलाशाराम, सुरेशचंद्र और वनरक्षक श्रीबाबू कुशवाह, विद्याशंकर राजपूत के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई गई।
गुरुवार को इटावा व औरैया जिले के रेंज वनाधिकारी, वनदरोगा व वनरक्षकों सहित अन्य वनकर्मी पांचों आरोपी साथियों के साथ प्रभागीय निदेशक सामाजिक वानिकी के कार्यालय पर पहुंचे और जोरदार हंगामा किया। कार्यालय में पहुंचे उप प्रभागीय वनाधिकारी एसके मिश्रा का वनकर्मियों ने घेराव करके जोरदार नारेबाजी की। कर्मचारियों का आरोप था कि पहले श्री मिश्रा ने अपने मौसेरे भाई से डीएम के यहां शिकायत कराई, फिर गलत जांच रिपोर्ट देकर पांच लोगों पर मुकदमा दर्ज कराया। कर्मचारियों का आरोप था कि उप प्रभागीय वनाधिकारी विकास कार्यों में 15 प्रतिशत कमीशन की मांग किया करते थे। वनरक्षक श्रीबाबू ने बताया कि जब कभी उप प्रभागीय वनाधिकारी दौरे पर जाते थे तो हम लोगों से गाड़ी में डीजल डलवाया करते थे। डीजल न देने पर खराब इंट्री दिया करते थे। एफआरओ सीमांकन सतेंद्र शंकर श्रीवास्तव ने कहा कि जो काम धरातल पर हुआ उसे जांच रिपोर्ट में फर्जी बताया। जोरदार हंगामा के बीच क्षेत्रीय वनाधिकारी एवं सहायक वन कर्मचारी व वनरक्षक संघ वन प्रभाग ने एक ज्ञापन प्रभागीय निदेशक सुदर्शन सिंह सामाजिक वानिकी प्रभाग इटावा को सौंपा और कार्रवाई की मांग की।

अनिश्चतकालीन कार्य बहिष्कार का ऐलान
क्षेत्रीय वनाधिकारी संघ के पदाधिकारियों ने इस घटनाक्रम के विरोध में अनिश्चतकालीन कार्य बहिष्कार का एलान किया है। एफआरओ सीमांकन सतेंद्रशंकर श्रीवास्तव ने बताया कि कर्मियों द्वारा केवल वनसुरक्षा का कार्य किया जाएगा। जब तक इस पूरे मामले में ठोस कार्रवाई करके पीड़ितों को न्याय नहीं मिलता कोई अन्य कार्य नहीं किया जाएगा।

अफसर बोले----
अजीतमल रेंज में 120 हेक्टेयर वन क्षेत्र में मनरेगा योजना के तहत कल्चर और प्रोनिंग कार्य हुआ था। डीएम के आदेश पर जांच में कार्य धरातल पर कहीं नजर नहीं आया। मैने इसकी रिपोर्ट जिलाधिकारी को सौंप दी। इसी रिपोर्ट पर एफआईआर दर्ज कराई गई। न तो शिकायतकर्ता को मैं जानता हूं और न ही वह मेरा रिश्तेदार है-एसके मिश्रा, उप प्रभागीय वनाधिकारी, औरैया

इस पूरे मामले की जांच शुक्रवार को कराई जाएंगी। जांच एक दिन में पूरी हो इसके लिए पचास वनकर्मियों को लगाया जाएगा जिसमें 9 रेंज आफीसर, डिप्टी रेंजर व फोरेस्टगार्ड शामिल रहेंगे-सुदर्शन सिंह, प्रभागीय निदेशक

Spotlight

Most Read

Lucknow

यूपी दिवस: प्रदेश को 25 हजार करोड़ की योजनाओं की सौगात, योगी बोले- आज का दिन गौरवशाली

यूपी दिवस के मौके पर प्रदेश को सरकार ने 25 हजार करोड़ करोड़ की योजनाओं की सौगात दी। मुख्यमंत्री योगी ने आज के दिन को गौरवशाली बताया।

24 जनवरी 2018

Related Videos

यूपी में शौचालय भी हुए भगवा, पूर्व सीएम अखिलेश ने ली चुटकी

इटावा के एक गांव में बन रहे शौचालयों को भगवा रंग में रंगा जा रहा है। स्वच्छ भारत मिशन के तहत बन रहे 350 शौचालयों में से सौ शौचालयों को भगवा में रंगा जा चुका है।

13 जनवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls