बारदाना न होने से कई केंद्रों पर तौल बंद

Etawah Updated Sun, 27 May 2012 12:00 PM IST
उन्नाव। गेहूं खरीदने में शुरू से लापरवाही बरत रहे अधिकारियों पर सीएम के दौरे कोई भी असर नहीं हुआ है। बांगरमऊ के उन दो केंद्रों पर तौल नहीं की जा रही है जहां शुक्रवार को मुख्यमंत्री गए थे।
गेहूं क्रय केंद्रों पर बिचौलियों के हावी होने, किसानों से कमीशन वसूलने और संसाधनों की कमी से तौल न होने की शिकायतों पर मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने शुक्रवार को जिले के कई क्रय केद्रों और एफसीआई गोदाम का निरीक्षण किया था। उन्हें न्योतनी, बांगरमऊ मंडी में लगे तीन केंद्रों पर खामियां मिली थीं। एफसीआई गोदाम में तो प्रभारी पर वसूली के गंभीर आरोप लगे थे। सीएम ने खुद माना था कि किसानों को वाजिब दाम नहीं मिल रहे। उन्होंने बडे़ अधिकारियों पर कार्रवाई की बात भी कही थी, लेकिन दूसरे दिन शासन से कोई एक्शन न होने से अधिकारी फिर बेफिक्र हो गए हैं।
बांगरमऊ प्रतिनिधि के अनुसार मंडी समिति में लगे आरएफसी और राज्य कर्मचारी कल्याण निगम के कांटों पर शनिवार को भी तौल नहीं हुई। पीसीएफ केंद्र पर प्रभारी मौजूद नहीं थे। उमरिया गांव के ओम नारायण, ने बताया कि केवल बिचौलियों का गेहूं की खरीदा जा रहा है। खानपुर कुरौरी के बृजपाल सिंह, बल्लापुर के लालता सिंह ने बताया कि कर्मचारी बारदाना न होने की बात कहकर लौटा देते हैं। असायत गांव के गुड्डू यादव ने बताया कि पीसीएफ केंद्र पर एक लोडर में बोरे आए थे। उन्हें उतारकर बिचौलियों की कार में लाद दिया गया। एकमात्र आरएफसी के केंद्र पर तौल चल रही थी। यहां किसानों की लंबी लाइन लगी थी।
पुरवा संवाददाता के अनुसार धिरजीखेड़ा में साधन सहकारी समिति का केंद्र है। यहां के सचिव सिद्धिनाथ गायब थे। बाबू फूलचंद ने बताया कि बारदाना नहीं है, जिससे खरीद बंद है। समिति के बरामदे में कई किसानों का बगैर तोला गया माल कई दिनों से जमा था। मंडी समिति में लगे यूीपीएसएस के केंद्र पर कार्यरत प्राइवेट कर्मी नागेंद्र ने बताया कि बारदाना नहीं है।
आरएफसी के क्रय केंद्र पर एक भी किसान नहीं था। गोदाम प्रभारी चंद्र प्रकाश तिवारी ने बताया कि किसान गेहूं बेचने आ ही नहीं रहे हैं। श्री तिवारी राशन के गेहूं और चावल का उठान करवा रहे थे। मंडी परिषद में तीन आढ़तियों कांतानाथ राइस मिल दरेहरा, अमित जीतेंद्र फर्म और पीके ट्रेडिंग कंपनी को खरीद की जिम्मेदारी दी गई है। यहां भी खरीद नहीं हो रही है। अमित-जीतेंद्र फर्म के संचालक कृष्ण कुमार ने बताया कि हमारे पास बोरा और पैसा नहीं है। मंडी सचिव ज्ञान प्रकाश शुक्ला ने भी माना कि कोई आढ़ती गेहूं क्रय नहीं कर रहा है।
चकलवंशी संवाददाता के अनुसार मेथीटीकुर गांव में लगाए गए पीसीएफ केंद्र को दूसरे जगह ट्रांसफर कर दिया गया था लेकिन यह कहां लगा है इसकी जानकारी किसानों को नहीें है। सहकारी समिति अध्यक्ष समरदीन ने बताया कि केंद्र की जानकारी न होने से किसान परेशान हैं। पुराने केेंद्र पर कोई सूचना भी चस्पा नहीं की गई है। बरहली के किसान सुनील, मानसिंह, कन्हईखेड़ा के राजेंद्र द्विवेदी, लूटापुर के बलराम और कुलदीन ने बताया कि उनके घरों से 20 से 40 कुंतल गेहूं रखा है लेकिन कहां बेचें कोई अधिकारी बताने वाला ही नहीं है।
कुछ केंद्रों पर होने लगा काम
गंजमुरादाबाद प्रतिनिधि के अनुसार विकास खंड में ग्राम महमदाबाद कलवारी एसएफसी, अटवाबैक साधन सहकारी समिति और मवई घनश्याम पीसीएफ के केंद्र हैं। नेफेड का केंद्र नहीं खुल पाया। इसके गांव महमदाबा कलवारी में सबद्ध कर दिए गए हैं। इन तीनोें में सीएम के जिले के दौरे के बाद व्यवस्था सुधर गई है। क्षेत्र के रामबाबू, श्यामबिहारी, श्रीराम, रामसेवक, रामबहादुर, भइयालाल, प्यारे लाल आदि किसानों ने बताया कि अभी तक इन केंद्रों पर केवल बिचौलियों का गेहूं की खरीदा जा रहा था।
सफीपुर प्रतिनिधि के अनुसार नगर में लगे एफसीआई के क्रय केंद्र पर दो दिन पहले तक खरीद बंद थी, लेकिन सीएम के दौरे के बाद से खरीद शुरू हो गई है। शनिवार को केंद्र पर एक भी बिचौलिया नहीं दिखा।
अपर जिलाधिकारी शिवेंद्र कुमार सिंह ने बताया कि सभी क्रय केंद्रों को मुख्यमंत्री द्वारा जारी किए गए आदेश भेजे गए हैं। सोमवार से सभी जगह सघन अभियान चलाकर गेहूं खरिदवाया जाएगा। इसके बाद भी कहीं भी गड़बड़ी मिलती है तो संबंधितों को जेल जाना पड़ेगा।

Spotlight

Most Read

National

इलाहाबाद HC का निर्देश- CBI जांच में सहयोग करे लोक सेवा आयोग

कोर्ट ने लोक सेवा आयोग के अध्यक्ष को जवाब दाखिल करने के लिए छह फरवरी तक की मोहलत दी है।

19 जनवरी 2018

Related Videos

यूपी में शौचालय भी हुए भगवा, पूर्व सीएम अखिलेश ने ली चुटकी

इटावा के एक गांव में बन रहे शौचालयों को भगवा रंग में रंगा जा रहा है। स्वच्छ भारत मिशन के तहत बन रहे 350 शौचालयों में से सौ शौचालयों को भगवा में रंगा जा चुका है।

13 जनवरी 2018

  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper