बीडीओ, एडीओ से हाथापाई, चालक को पीटा

Etawah Updated Wed, 16 May 2012 12:00 PM IST
विज्ञापन
ख़बर सुनें
ऊसराहार (इटावा)। गांव पुरैला में राशन कोटे के चुनाव के बाद हो रही मतगणना में खुद को हारता देख प्रतिद्वंद्वी प्रत्याशी ने अपने समर्थकों के साथ बवाल कर दिया। मतगणना के प्रपत्रों को फाड़ डाला, चुनाव अधिकारी के रूप में उपस्थित बीडीओ सहित अन्य अधिकारियों के साथ हाथापाई की और बीडीओ की कार के चालक को जमकर पीटा। यह सारा हंगामा थाना पुलिस की मौजूदगी में हुआ। मामले की सूचना जिला प्रशासन को दे दी गई है। समाचार लिखे जाने तक कोई कार्रवाई नहीं हुई थी।
विज्ञापन

ऊसराहार थाना क्षेत्र के ग्राम पुरैला में मंगलवार को राशन डीलर का चुनाव हो रहा था। चुनाव अधिकारी के रूप में बीडीओ वासुदेव मौर्य, एडीओ राजेंद्र तिवारी, एडीओ लज्जाराम माथुर, पंचायत सेक्रेटरी रमेश तिवारी, एडीओ पंचायत जैसीराम मौजूद थे। इनके अलावा थाना प्रभारी जेएन सिंह पुलिस बल के साथ पहुंच गए थे। मतदान के बाद मतगणना की कार्रवाई चल रही थी। राशन डीलर के लिए दावेदार धर्मेंद्र श्रीवास्तव और राजीव कुमार के बीच मुकाबला था।
इस बीच राजीव कुमार का पलड़ा भारी होता देख दूसरे दावेदार धर्मेंद्र श्रीवास्तव ने अपने समर्थकों के साथ बवाल काटना शुरू कर दिया। वे लोग मतगणना के प्रपत्रों को फाड़ने लगे तो वहां उपस्थित चुनाव अधिकारी बीडीओ वासुदेव मौर्य ने विरोध किया। इस पर उपद्रवियों ने उनके साथ हाथापाई कर दी। बीचबचाव को आए अन्य अफसरों से भी उसी तरह का सुलूक किया गया। यह देख अधिकारी वहां से भाग खड़े हुए। बीडीओ जैसे ही अपनी गाड़ी में बैठे उपद्रवियों ने उन्हें खींच लिया। गाड़ी के चालक अशोक कुमार निवासी इटगांव बीच में आया तो उसकी जमकर पिटाई कर दी गई। उसे काफी चोट लगी। इसके बाद बीडीओ की गाड़ी पर पथराव किया गया। इस हमले में बीडीओ का चश्मा टूट गया, उनकी शर्ट फट गई।
इस सबके बीच थाना प्रभारी जेएन सिंह और पुलिस फोर्स मूकदर्शक बना रहा। बीडीओ पर हमले की खबर जैसे ही जिले के आला अधिकारियों को लगी, अफसरों के फोन घनघना उठे। उप जिलाधिकारी भरथना मनीष कुमार नाहर व क्षेत्राधिकारी भरथना मौके पर पहुंचे। तब तक हमलावर भाग चुके थे।
बीडीओ वासुदेव मौर्य ने बताया कि चुनाव परिणाम की घोषणा होने की तैयारी थी। इसी बीच उपद्रवियों ने हमला बोल दिया। पूरे मामले से आला अधिकारियों को अवगत करा दिया गया है। उनके आदेश के बाद ही मामला दर्ज कराया जाएगा। देर शाम बीडीओ ने मुख्यालय पहुंचकर जिलाधिकारी से मुलाकात की और पूरा घटनाक्रम बताया।
चुनाव पर्यवेक्षक राजेंद्र तिवारी ने बताया कि मारपीट के दौरान पुलिस मूकदर्शक बनी रही। पुलिस ने कोई एक्शन नहीं लिया। ऐसे में उन्हें जान बचाकर भागना पड़ा। राशन डीलर प्रत्याशी धर्मेंद्र श्रीवास्तव का कहना है कि पहले हमारी जीत घोषित हुई थी, बाद में दूसरे को घोषित किया गया।
उपद्रवियों व पुलिस अधिकारियों पर जांच के बाद कार्रवाई की जाएगी-विद्याशंकर सिंह, एडीएम
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us