नरसिंह मंदिर की गरिमा लौटाने का लिया संकल्प

Etawah Updated Mon, 14 May 2012 12:00 PM IST
इटावा। सार्वजनिक ट्रस्ट ठाकुर नरसिंह जी महाराज की रविवार को अस्तल मंदिर में हुई सभा में आय व्यय का लेखाजोखा प्रस्तुत किया गया। नरसिंह मंदिर को भव्यता प्रदान करने के पहलुओं पर विचार किया गया। सभा में मंदिर को उसकी पुरानी गरिमा तक पहुंचाने का संकल्प लिया गया। यह सभा प्रशासन के संरक्षण और पुलिस बल की मौजूदगी में हुई।
मुहल्ला अस्तल स्थित करीब 500 वर्ष प्राचीन नरसिंह मंदिर की अन्य शाखाएं जालौन व तुलसीपुर सैफई में भी हैं। वर्ष 1911 में श्रीमंत राम प्रपन्ना रामानुजाचार्य दास ने एक रजिस्टर्ड वसीयत कर संपूर्ण संपत्ति श्री नरसिंहजी महाराज को अर्पित कर दी थी। उसके बाद मंदिर की देखरेख और कर्ताधर्ता को लेकर मामला कोर्ट में चला गया था।
जिसके बाद अटल बिहारी चौधरी को सार्वजनिक ट्रस्ट का अध्यक्ष बनाया गया। बृजेश दुबे, भगवान दास शुक्ला, जगदीश गुप्ता, राम अवतार तुलसीपुर, सुरेंद्र कुमार जालौन को ट्रस्टी नियुक्त किया गया। इसी परिप्रेक्ष्य में यह आम सभा हुई।

Spotlight

Most Read

Bihar

चारा घोटाले के तीसरे केस में लालू यादव दोषी करार, दोपहर 2 बजे बाद होगा सजा का ऐलान

पूर्व रेल मंत्री और राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के खिलाफ सीबीआई की विशेष अदालत ने बड़ा फैसला सुनाया है।

24 जनवरी 2018

Related Videos

यूपी में शौचालय भी हुए भगवा, पूर्व सीएम अखिलेश ने ली चुटकी

इटावा के एक गांव में बन रहे शौचालयों को भगवा रंग में रंगा जा रहा है। स्वच्छ भारत मिशन के तहत बन रहे 350 शौचालयों में से सौ शौचालयों को भगवा में रंगा जा चुका है।

13 जनवरी 2018