विज्ञापन
विज्ञापन

गमगीन माहौल में सुपुर्द-ए-खाक हुए ताजिये

Etawah Updated Wed, 05 Nov 2014 05:30 AM IST
ख़बर सुनें
इटावा। हजरत इमाम हुसैन एवं शहीदाने कर्बला की ताजियत में दस मोहर्रम यौमे आशूरा को उठे ताजियों को बाइस ख्वाजा स्थित कर्बला में गमगीन माहौल में सुपुर्द-ए-खाक कर दिया गया। इस दौरान या हुसैन और या अली के नारे गूंजते रहे।
विज्ञापन
दस मोहर्रम को इमाम बारगाहों में जिक्र-ए-शहादतैन व कुरआनख्वानी का कार्यक्रम हुआ। उसके बाद सारे शहर के ताजिये अपनी-अपनी इमाम बारगाहों से उठकर रामगंज चौराहा पर एकत्रित हुए। यहां बारह अखाड़ों के उस्ताद खलीफाओं ने अपने शागिर्दों के साथ अखाड़ा जमाया। तलवार, बरछी, लकड़ीबाना व मुगदर की कला का प्रदर्शन करके हजरत इमाम हुसैन व शहीदाने कर्बला के प्रति सलामी दी। ताजियों के साथ अलमों, जुल्फकारों एवं निशानों का काफिला भी मिल गया। जिसने एक विराट जुलूस का रूप धारण कर लिया।
रामगंज चौराहा से जुलूस का यह काफिला कर्बला की ओर कूच किया। रामगंज इमाम बारगाह से चांदी की छतरी वाला, सेवाकली सराय का नक्काशीदार, उर्दू मोहल्ले का डूंड पासा मोर वाला, अडार मोहल्ले का सफेद हंस वाले ताजिये समेत मेवाती मोहल्ला, नौरंगाबाद, शाहगदाली, चौकी शमशेरी के सफेद ताजिये आकर्षण का मुख्य केंद्र रहे। उनकी कारीगरी देखने लायक रही। इसके अलावा दरीवालान, सराय तबेला, छैराहा, गाड़ीपुरा, शाहगंज, उझैदी, शाहग्रान, शाहकमर, आजादनगर टीला, नखासा, घटिया अजमतअली, स्वरूपनगर, नई बस्ती, मुलायमनगर, बस्ती मानक कोल्ड स्टोर एवं साबितगंज के ताजिये रंगबिरंगी पन्नियों से बनाए गए थे।
इन ताजियों की छटा देखने के लिए लोगों का हुजूम उमड़ता रहा। उक्त मार्गों पर पड़ने वाले चौराहों पर अखाड़ा जमा रहा। बैंड की मातमी धुनों से माहौल गमगीन रहा। दम दम हुसैन, मौला हुसैन, या हुसैन या अली के नारे गूंजते रहे। जुलूस पर कई जगह लुट्टस होती रही। कई जगह चाय और कॉफी के लंगर सजे रहे।
इस जुलूस की व्यवस्था ताजियेदार संभाले रहे। जिसमें कौमी तहफ्फुज कमेटी के संयोजक खादिम अब्बास, वसीम वारसी, परवेज, शमशुल, शान मोहम्मद, अकरम, फजल यूसुफ, नवाब शेर खां, इकबाल खां, सुभाष गुप्ता, खलील, मोहम्मद यूसुफ, हनीफ, बाबू खां, साबिर, जहांगीर खां, शकील, गुलशेर, अहमद, सिराज, असलम, नफीस, शकील, मुमताज चौधरी, रशीद, मुश्ताक, फैयाज खलीफा आदि का सहयोग रहा।

मातम कर छुरियों से शरीर को किया लहूलुहान
शहीदे आजम इमाम हुसैन और शहीदाने कर्बला की याद में शिया समुदाय के अलविदाई ताजियों ने शहर का भ्रमण किया। कई जगह हुसैन की याद में शिया समाज के लोगों ने छुरियों से मातम कर अपने शरीर को लहूलुहान किया। ताजिये मातमी नौहाख्वानी के साथ बाइस ख्वाजा कब्रिस्तान पहुंचे। जहां ताजियों को गमगीन माहौल में सुपुर्द-ए-खाक किया गया।
शिया समुदाय के मौलाना श्री जैदी ने सबसे पहले पक्की सराय स्थित बड़े इमामबाड़ा में समुदाय के लोगों को आशूर के आमाल कराए। इसके बाद अलविदाई ताजिये मौलाना श्री जैदी के नेतृत्व में आलमपुरा से उठकर कोतवाली चौराहा, शीश महल, तिकोनिया, पुल कहारान, नौरंगाबाद चौराहा से पक्का तालाब, नुमाइश चौराहा होते हुए बाइस ख्वाजा कब्रिस्तान पहुंचे। जहां नम आंखों के बीच अलविदाई ताजियों को सुपुर्देखाक किया।
मुशीर हैदर के कदीमी ताजिया समेत दर्जनों छोटे ताजिये व अलम जलूस में शामिल रहे। इस दौरान नौरंगाबाद पुलिस चौकी के समीप शिया समाज के लोगों ने मातमी नौहाख्वानी की। नौरंगाबाद चौराहा, शाही मस्जिद, पुलिस चौकी नौरंगाबाद, पक्का तालाब चौराहा पर शिया समुदाय के बुजुर्गों, युवकों और बच्चों ने हुसैन की याद में सिर पर कमा और छुरियों का ऐसा मातम किया कि उनका शरीर लहूलुहान हो गया। इसमें अमान, शाद, हुज्जत, पिंकू, अरशी, मीसम, सैफ, शानू, मो. मियां, राहिल, कम्मू, गोप, समर, आमिर, काशिब, सनी, साहिल, राजा, बॉबी, रीनू, मोनू, श्यान, अश्शू, मो. ताबिश अब्बास आदि शामिल रहे। छुरियों का मातम देखने के लिए सड़क और छतों पर लोगों की भीड़ जमा रही।
भ्रमण के दौरान शाही मस्जिद के पास मौलाना अनवारुल हसन जैदी ने इमाम हुसैन पर कर्बला में हुए जुल्म पर तकरीर की। अहमद जाफर ईरानी, आरिफ हैदर, आलिम रिजवी, सलीम रजा, हसन फराज आदि ने रास्ते भर नौहाख्वानी की। शावेज नकवी, राहत हुसैन रिजवी, मसी रजा सदाएं पढ़ते रहे। इस दौरान राहत अकील, अली मेहंदी, शावेज नकवी, शारिब, आरिफ, तस्लीम रजा, फखरुल नकवी, गुलामुस सय्यदैन, शुजा, सईद नकवी, मुस्ते हसन, इबाद रिजवी, तहसीन रजा, टीएच रिजवी, मुशीर हैदर, तस्वीर हैदर, सफीर हैदर, नजमुल हसन, मून, शाबू, सोनू, रिजा, शादाब, शम्स, खुर्शीद जाफरी, आले रजा आदि तमाम लोग शामिल रहे। एसडीएम महेंद्र कुमार सिंह व सीओ सिटी सिद्धार्थ वर्मा के नेतृत्व में एसएसआई डीके सिसौदिया, एसआई वेद प्रकाश रावत, एसआई सैयद दीन आदि पुलिस फोर्स सुरक्षा व्यवस्था में तैनात रहा।

भरथना (इटावा)। शहीदे आजम इमाम हुसैन और शहीदाने कर्बला की याद में मोहल्ला स्टेशन रोड से अलम के साथ मुहर्रम का जलूस नगर के मुख्य मार्गों से होता हुआ इमामबाड़े पहुंचा। यहां जुलूस में शामिल हुए ताजियों ने अनवरगंज, सराय मुहल्ला, हनुमानगली, तिलकरोड का भ्रमण किया और शहीदाने कर्बला पहुंचकर गमगीन माहौल में सुपुर्द-ए-खाक किए गए। इस दौरान सुरक्षा व्यवस्था के तहत सिटी मजिस्ट्रेट ईश्वरचंद्र व सीओ सिटी अनिल यादव, थाना प्रभारी बलवीर यादव आदि पुलिस फोर्स मौजूद रहा।
विज्ञापन

Recommended

vivo Grand Diwali Fest: vivo के स्मार्टफोन पर 11,000 रुपये तक की छूट
vivo smartphone

vivo Grand Diwali Fest: vivo के स्मार्टफोन पर 11,000 रुपये तक की छूट

महालक्ष्मी मंदिर, मुंबई में कराएं दिवाली लक्ष्मी पूजा : 27-अक्टूबर-2019
Astrology Services

महालक्ष्मी मंदिर, मुंबई में कराएं दिवाली लक्ष्मी पूजा : 27-अक्टूबर-2019

विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Most Read

Etawah

जमीन हड़पने के लिए पति को दी दर्दनाक मौत, पत्नी और उसके तीन साथियों को पुलिस ने किया गिरफ्तार

इटावा में शिवराजपुर नगला हुल्ली में एक ग्रामीण की करंट लगाकर हत्या करने के मामले में बसरेहर पुलिस ने ग्रामीण की पत्नी और उसके तीन साथियों को गिरफ्तार किया है। पुलिस का दावा है कि मृतक की मां की जमीन हड़पने के लिए हत्या की गई थी। 

13 अक्टूबर 2019

विज्ञापन

बिहार के सहरसा में आरजेडी की रैली में हाथापाई, मंच से सब देखते रहे तेजस्वी यादव

बिहार के सहरसा में राष्ट्रीय जनता दल की रैली में हंगामा और जमकर हाथापाई हुई। जिसके बाद पुलिस को हालात काबू में करने के लिए काफी मशक्कत करनी पड़ी। वहीं तेजस्वी यादव मंच से ये सब देखते रहे।

13 अक्टूबर 2019

आज का मुद्दा
View more polls

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree
)