दहशत में डॉक्टर, कर रहे पलायन

Etah Updated Fri, 09 May 2014 05:30 AM IST
विज्ञापन

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर
कहीं भी, कभी भी।

*Yearly subscription for just ₹249 + Free Coupon worth ₹200

ख़बर सुनें
एटा। बढ़ती वारदात और निशाने पर चिकित्सक व कारोबारी हैं। कानून व्यवस्था से इनका भरोसा उठ रहा है तो असुरक्षा की भावना भी घर कर रही है। कारोबारी अपना कारोबार शिफ्ट कर रहे हैं तो चिकित्सक भी शहर छोड़कर जा रहे हैं। हालात यह है कि युवा पीढ़ी तो शहर लौटना ही नहीं चाहती दशकों से सेवाएं दे रहे लोग भी यहां से जाने की बात कह रहे हैं। दहशत का आलम यह है कि रात्रि में मरीज को देखने और उसे भर्ती करने का जोखिम नहीं उठाना चाहता। हाउस विजिट लगभग बंद हो चुकी है।
विज्ञापन

हाल ही में डॉक्टर हरीश गुप्ता के यहां पड़ी डकैती और उसका खुलासा नहीं होने से एक बार फिर से लोगों में दहशत बढ़ी है। जिले की इमेज ऐसी हो गई है कि सरकारी चिकित्सक भी यहां आना नहीं चाहते। कई तो पोस्टिंग बदलवा लेते हैं तो कुछ तो ज्वाइन ही नहीं करते। इतना ही नहीं कई तो यहां ज्वाइन करने के बजाय नौकरी ही छोड़ चुके हैं। जिला अस्पताल में चिकित्सकों की कमी के पीछे भी कानून व्यवस्था के मुद्दे पर बदनाम होती जिले की तस्वीर ही एक बड़ा कारण है। एक दशक में शहर की आबादी में 50 प्रतिशत की वृद्धि हुई है। लेकिन चिकित्सकों की संख्या घटी है। बाहरी डॉक्टर तो दूर शहर के चिकित्सकों के बच्चे भी शहर में प्रैक्टिस नहीं कर रहे हैं। यही हालात रहे तो चिकित्सक को शहर में ढूंढना पड़ेगा।
कइयों ने छोड़ा शहर
एटा। एक दशक पूर्व अपहरण का शिकार हुए डा. तिलक राज अरोरा अपना पैतृक आवास को बेचकर दिल्ली शिफ्ट हो गए। अन्य लोगों में शहर में पहला हाईटेक सुविधाओं वाला मैटरनिटी नर्सिंग होम एवं चिकित्सीय सेवाएं शुरू करने वाले डॉ. संजय प्रकाश सक्सेना एमएस, डॉ. ममता सक्सेना, एमडी, डॉ. शोभित प्रकाश एमडी, डॉ. गायत्री सक्सेना एमएस शामिल हैं। बेटे के अपहरण के बाद प्रमुख व्यवसायी राकेश अग्रवाल शहर छोड़कर जा चुके हैं। गत वर्ष करोड़ों की डकैती का शिकार हुए कारोबारी आदित्य गुप्ता भी शिफ्ट कर चुके हैं। शहर के बड़े पेंट कारोबारी खुराना भी करोड़ों का कारोबार शिफ्ट कर चले गए। कई अन्य छोटे बड़े कारोबारी भी करोड़ों का कारोबार शिफ्ट कर शहर को अलविदा कह चुके हैं।
बेटे-बहुओं को उच्च चिकित्सीय शिक्षा के बाद यहां बड़े सेटअप के साथ प्रैक्टिस शुरू कराई। मगर अव्यवस्थाओं एवं अपराधिक माहौल के चलते उनका मन नहीं लगा। उन्हें आगरा शिफ्ट करना पड़ा।
- डॉ. जेपी सक्सेना (डॉ. संजय प्रकाश व डॉ. शोभित प्रकाश के पिता)

नर्सिंग होम में सेवाएं बढ़ाने के लिए वेंटीलेटर का ऑर्डर बुक करा दिया। पार्ट पेमेंट भी कर दिया, लेकिन यहां के माहौल को देखकर इरादा बदलना पड़ा। महीनों बाद उस पैसों को वापस लिया। अव्यवस्थाओं एवं अराजक माहौल के चलते अब उत्साह नहीं रहा।
- डॉ. मंजू वर्मा, महिला चिकित्सक, एटा।
बच्चे तो दूर अब तो हम भी यहां खुश नहीं हैं। यदि ऐसा ही रहा तो एक दशक बाद शहर में चिकित्सक ढूंढने से भी नहीं मिलेंगे। आज शहर में अधिकांश चिकित्सक 55 से 60 वर्ष यानी एक ही पीढ़ी के हैं। अगली पीढ़ी का कोई भी चिकित्सक नहीं है।
- डॉ. राजीव कुलश्रेष्ठ, एमएस वरिष्ठ सर्जन, एटा।
डॉ. शर्मा ने लिया रिटायरमेंट
एटा। छह दशक से शहर में प्रैक्टिस करने वाले डॉ. एमसी शर्मा ने भी शहर छोड़ने का मन बना लिया है। डॉ. शर्मा एक जून से क्लीनिक पर नहीं बैठेंगे। बिना विवाद के छह दशक तक शहर की सेवा कर रहे डॉ. शर्मा ने पेशे से भी रिटायरमेंट ले लिया है।
बढ़ रही घटनाओं से चिकित्सकों में निराशा है। कई चिकित्सक ऐसी घटनाओं के शिकार हो चुके हैं। असुरक्षा के चलते पेशे से भी न्याय नहीं हो पा रहा। हाउस विजिट तो लगभग बंद हो चुकी हैं। रात को मरीज देखना जोखिम भरा है। महिला चिकित्सकों की कमी बढ़ी है। असुरक्षा के चलते वे रात को आपरेशन तो दूर मरीज तक नहीं लेना चाहतीं। कई चिकित्सक शहर छोड़ना चाहते हैं।
- डॉ. एचवी बिसारिया, अध्यक्ष, भारतीय चिकित्सीय संघ इकाई, एटा

हर घटना को पुलिस ने वर्क आउट किया और अपराधियों को संगीन धाराओं में जेल भेजा है। अधिकांश आरोपी अभी भी जेल में हैं। कई घटनाओं का माल भी बरामद किया है। पुलिस का काम आम आदमी को सुरक्षा देना व अपराधियों पर कार्रवाई का है। पुलिस लोगों को सुरक्षा देने में पूर्ण सक्षम है। संजय यादव, अपर पुलिस अधीक्षक
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us