तहसील सदर से जारी प्रमाण पत्रों पर गभाना की मुहर

Etah Updated Wed, 22 Jan 2014 05:42 AM IST
मारहरा/एटा। तहसील सदर से जारी किए जा रहे जाति व आय प्रमाण पत्रों पर तहसीलदार गभाना की मुहर लगाई जा रही है। इससे प्रमाण पत्र धारक परेशान हैं। उन्हें इस बात का डर है कि यदि जांच हुई तो प्रमाण पत्र निरस्त हो सकते हैं। उन्होंने डीएम से इस मामले में हस्तक्षेप कर जांच कराने की मांग की है।
तहसील में तहसीलदार द्वारा जारी किए जाने वाले जाति एवं आय प्रमाण पत्र बनवाने वाले आवेदकों को एक नई मुसीबत में डाल दिया है। प्रमाण पत्र पर तहसीलदार गभाना के हस्ताक्षर होने से आवेदकों में हड़कंप है। वह प्रमाण पत्र बनने के बाद असमंजस की स्थिति में हैं। प्रमाण पत्र धारकों का कहना है कि यदि किसी भी विभाग में इन प्रमाण पत्रों को चेक किया गया तो उसे अमान्य घोघित करने पर और नई मुसीबत खड़ी हो जाएगी। ऐसी स्थिति में उनके उन्हीं प्रार्थना पत्रों पर नए प्रमाण पत्र तहसीलदार सदर एटा के नाम से जारी किए जाएं। यदि ऐसा नहीं किया जाता है तो वह न्यायालय की शरण लेने के लिए मजबूर होंगे।
इतनी बड़ी भूल महीनों से होने के बाद भी तहसील प्रशासन द्वारा तहसीलदार गभाना के नाम से जारी प्रमाण पत्रों को संज्ञान में न लिया जाना एक लापरवाही की कहा जा सकता है। अब तक सैकड़ों प्रमाण पत्र जारी किए जा चुके हैं। प्रमाण पत्र बनवाने वाले प्रतेंद्र, रवेंद्र, रामपाल, अभयपाल, रामसिंह, जयपाल, अनार सिंह, उमेश आदि ने जिलाधिकारी जेपी त्रिवेदी से इस मामले की जांच कराकर उन्हें नए प्रमाण पत्र जारी कराने की मांग की है।

पूर्व में वह अलीगढ़ में तैनात थे। वहीं से यह गलती हुई है। उसे सुधारने का काफी प्रयास किया है, लेकिन अभी तक सुधार नहीं हो पा रहा है। लखनऊ जाने पर ही यह सही होंगे। उन्होंने गलती स्वीकारते हुए कहा कि प्रमाण पत्रों में देरी के कारण गभाना के नाम से ही जारी करने के लिए उन्हें मजबूर होना पड़ा।
- वीरेंद्र सिंह यादव, तहसीलदार सदर, एटा

Spotlight

Most Read

Bihar

चारा घोटाला: लालू और जगन्नाथ मिश्रा को 5 साल की सजा, कोर्ट ने 5 लाख का लगाया जुर्माना

पूर्व रेल मंत्री और राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के खिलाफ सीबीआई की विशेष अदालत ने बड़ा फैसला सुनाया है।

24 जनवरी 2018

Related Videos

यूपी में एक नवजात की इस बात पर दी बलि

शुक्रवार को एटा के सरकारी अस्पताल से लापता बच्चे का शव मिला। मृतक के पिता ने पड़ोसी पर बच्चे की बलि के लिए हत्या करने का आरोप लगाया है। पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।

13 जनवरी 2018