नगला मदी गांव में पशुओं का उपचार शुरू

Etah Updated Tue, 30 Oct 2012 12:00 PM IST
एटा। शीतलपुर ब्लाक के गांव नगला मदी में अज्ञात बीमारी फैलने से तीन पशुओं के मरने और कई के बीमार होने पर सोमवार को पशु चिकित्सा विभाग की टीम गांव पहुंची। टीम ने पशुओं का परीक्षण किया, जिसमें एक पड़िया शर्रा की बीमारी से पीड़ित मिली, जबकि एक भैंस को दस्त की शिकायत थी। टीम के सदस्यों ने पशुओं का उपचार किया और दवा बांटी। साथ ही दावा किया कि गांव में अब बीमारी नियंत्रण में है।
गांव नगला मदी में फैली अज्ञात बीमारी से मरे तीन पशुओं व अन्य पशुओं के बीमार होने की खबर अमर उजाला ने सोमवार के अंक में प्रमुखता के साथ प्रकाशित की थी। इसके बाद हरकत में आई पशु चिकित्सा विभाग की टीम मुख्य पशु चिकित्साधिकारी नरेंद्र कुमार के नेतृत्व में गांव पहुंची। जहां बीमारी की चपेट में आए पशुओं को चिकित्सकों ने देखा तथा उनका इलाज किया। मुख्य पशु चिकित्साधिकारी नरेंद्र कुमार ने बताया कि मौसम के बदलाव के कारण पशु बीमार हो गए हैं, जिनका इलाज किया गया और उनकी पहले से हालत सुधरी है। उन्हाेंने बताया कि इस दौरान पुत्तुलाल की पड़िया शर्रा की बीमारी से पीड़ित थी, तो वहीं मूलचंद्र की भैंस को दस्त हो गए थे, जिसका इलाज किया गया तथा दवा दी गईं, वहीं बीमारी से जो दो भैंस मरी थीं, उन्हें कुत्तों ने काट लिया था जिसकी जानकारी गांववालों को नहीं हुई। गांव में बीमार पशुओं का इलाज किया जा रहा है, साथ ही इनकी भूख बढ़ाने के लिए दवाइयां दी गई हैं। उन्हाेंने गांववालों से कहा कि डरने की कोई बात नहीं है। साथ ही फोन नंबर भी दिया कि यदि पशुओं में बीमारी की कोई शिकायत होती है तो वह तत्काल फोन कर बताएं। टीम में डा. नागेंद्र सिंह, रनवीर सिंह सहित अन्य स्टाफ साथ था।

Spotlight

Most Read

Lucknow

यूपी दिवस: प्रदेश को 25 हजार करोड़ की योजनाओं की सौगात, योगी बोले- आज का दिन गौरवशाली

यूपी दिवस के मौके पर प्रदेश को सरकार ने 25 हजार करोड़ करोड़ की योजनाओं की सौगात दी। मुख्यमंत्री योगी ने आज के दिन को गौरवशाली बताया।

24 जनवरी 2018

Related Videos

यूपी में एक नवजात की इस बात पर दी बलि

शुक्रवार को एटा के सरकारी अस्पताल से लापता बच्चे का शव मिला। मृतक के पिता ने पड़ोसी पर बच्चे की बलि के लिए हत्या करने का आरोप लगाया है। पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।

13 जनवरी 2018