विज्ञापन
विज्ञापन

विद्यार्थियों को आज भी हिंदी साहित्य से प्रेम

Etah Updated Fri, 14 Sep 2012 12:00 PM IST
ख़बर सुनें
कासगंज। वैश्वीकरण के दौर में भले ही अंग्रेजी का बोलबाला हो लेकिन जनपद में स्नातक कक्षाओं में आज भी छात्र-छात्राओं का रुझान हिंदी साहित्य को पढ़ने के प्रति बना हुआ है। हालांकि जनरल हिंदी को लेकर विद्यार्थियों में रुचि कम देखने को मिल रही है। वहीं कॉन्वेंट स्कूलों के हालात हिंदी को लेकर काफी बदतर हैं। यहां के बच्चे ढंग से हिंदी बोलना भी नहीं जानते।
विज्ञापन
विज्ञापन
नगर के कोठीवाल आढ़तिया महाविद्यालय में स्नातक कक्षाओं में 420 सीटें हैं। इस वर्ष स्नातक कक्षा के प्रथम वर्ष में जिन विद्यार्थियों ने प्रवेश लिया है, उनका रुझान हिंदी साहित्य की ओर नजर आया है। बीए प्रथम वर्ष में हिंदी साहित्य विषय लेने वाले विद्यार्थियों की तादात अच्छीखासी रही है। 360 विद्यार्थियों ने हिंदी साहित्य विषय लिया है। जबकि अंग्रेजी साहित्य विषय लेने वाले विद्यार्थियों की संख्या मात्र 50 है। इसके विपरीत अनिवार्य जनरल विषय में अंग्रेजी को विद्यार्थियों ने वरीयता दी है। महाविद्यालय की विभागाध्यक्ष डॉ. मिथलेश वर्मा का कहना है कि हिंदी को लेकर विद्यार्थियों में आज भी रुचि बरकरार है। साहित्यिक हिंदी में इतने छात्रों का विषय चयन करना इस बात का प्रमाण है। उन्होंने कहा कि जनरल हिंदी के मुकाबले जनरल इंग्लिश सरल होती है। इसीलिए जनरल इंगलिश को छात्रों ने वरीयता दी है। उन्हाेंने बताया कि एमए कक्षाओं में भी हिंदी को लेकर छात्र-छात्राओं का खासा रुझान रहता है।
अंग्रेजी माध्यम से संचालित विद्यालयों में पढ़ने वाले छात्र-छात्राएं अपनी मातृभाषा से दूर होते जा रहे हैं। न तो वे हिंदी गिनती के अंक ही समझते हैं और न ही हिंदी में पहाड़ा बोल पाते हैं। इन विद्यालयों में पढ़ने वाले विद्यार्थियों का हिंदी ज्ञान अधकचरा है। नगर में सीबीएसई से कई स्कूल संचालित हैं। इन स्कूलों में हिंदी हालांकि विषय तो है, लेकिन इस विषय का विधिवत ज्ञान छात्र-छात्राओं को नहीं है। हिंदी दिवस को लेकर जब यहां के कई विद्यालयों में विद्यार्थियों के हिंदी ज्ञान को लेकर जानकारी की तो विद्यार्थियों का हिंदी ज्ञान अधूरा सामने आया। कक्षा दो के छात्र संजू से जब हिंदी का पहाड़ा सुना गया तो वह हिंदी के पहाड़े को सुनाते समय अटक गया। जबकि अंग्रेजी में उसने टेबल आसानी से सुना दी। कक्षा एक के छात्र स्वर से हिंदी की गिनती की जानकारी की गई तो वह हिंदी में गिनती नहीं बता सका। कक्षा चार के छात्र अभिषेक से हिंदी विषय की पुस्तक को जब पढ़वाया गया तो वह पुस्तक में कठिन शब्दों को बोलते समय काफी दिक्कतें महसूस कर रहा था।

Recommended

देखिये लोकसभा चुनाव 2019 के LIVE परिणाम विस्तार से
Election 2019

देखिये लोकसभा चुनाव 2019 के LIVE परिणाम विस्तार से

जानिए अपने शहर के लाइव नतीजों की पल-पल की खबर
Election 2019

जानिए अपने शहर के लाइव नतीजों की पल-पल की खबर

विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें

लोकसभा चुनाव 2019 (lok sabha chunav 2019) के नतीजों में किसने मारी बाजी? फिर एक बार मोदी सरकार या कांग्रेस की चुनावी नैया हुई पार? सपा-बसपा ने किया यूपी में सूपड़ा साफ या भाजपा का दम रहा बरकरार? सिर्फ नतीजे नहीं, नतीजों के पीछे की पूरी तस्वीर, वजह और विश्लेषण। 23 मई को सबसे सटीक नतीजों  (lok sabha chunav result 2019) के लिए आपको आना है सिर्फ एक जगह- amarujala.com  Hindi news वेबसाइट पर.

विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Most Read

Etah

बैंक ड्यूटी में तैनात सिपाही से रायफल छीनने की कोशिश

बैंक ड्यूटी में तैनात सिपाही से रायफल छीनने की कोशिश

22 मई 2019

विज्ञापन

17 राज्यों में मिला कांग्रेस को शून्य, अपने ही राज्य में तरसे

जीत के जोश से लबरेज सैकड़ों कार्यकर्ताओं के बीच भाजपा मुख्यालय में पहुंचे नरेंद्र मोदी और भाजपा अध्यक्ष अमित शाह की देह भाषा ने बता दिया कि ये जीत क्या मायने रखती है। कितनी बड़ी है ये जीत...

23 मई 2019

आज का मुद्दा
View more polls

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree
Election