शहर की विद्युत आपूर्ति ध्वस्त

Etah Updated Fri, 24 Aug 2012 12:00 PM IST
कासगंज। शहर के 132 केवीए विद्युत उप संस्थान के ट्रांसफार्मरों में तकनीकी खराबी आ गई। ट्रांसफार्मरों के सीटी खराब हो गए वहीं क्लैंप व लाइनों के तार भी जल गए। बड़े पैमाने पर आई गड़बड़ी से शहर की विद्युत आपूर्ति व्यवस्था पूरी तरह से चरमरा गई। विभागीय कर्मियों को फाल्ट ठीक करने में पसीने छूट रहे हैं। देर सायं तक आधे शहर की आपूर्र्ति ही सुचारु की जा सकी।
शहर की विद्युत सप्लाई रोस्टर के चलते सुबह छह बजे बाधित कर दी गई थी। सुबह 10 बजे के करीब जब सप्लाई का समय आया तो उससे पहले ही मारहरा के 33केवीए के विद्युत घर में ट्रिपिंग हो जाने का असर यहां के 132 केवीए विद्युत उपसंस्थान पर भी पड़ा। ट्रांसफार्मर के सीटी (करंट ट्रांसफार्मर) खराब हो गए, वहीं ट्रांसफार्मर पर लगे क्लैंप जल गए, विद्युत लाइनों में भी आग लग गई। एक साथ बड़े पैमाने पर आई गड़बड़ी ने विद्युत सप्लाई व्यवस्था को प्रभावित कर दिया। विद्युत व्यवस्था को सुधारने के लिए जेई सहित 10 कर्मी जुट गए, लेकिन तमाम प्रयास के बाद भी विद्युत सप्लाई को वे चालू नहीं कर सके।
करंट ट्रांसफार्मर तो विभाग के पास मौजूद ही नहीं थी, जिससे इन ट्रांसफार्मरों को एटा से मंगाने के लिए डिमांड भेजी गई। लेकिन काफी देर तक विभाग को नहीं मिल पाए। देर सायं विभाग आधे शहर की ही बिजली आपूर्ति को सुचारु कर पाया। जेई रामविलास गौतम ने बताया कि विभाग तकनीकी कमी को दूर करने का प्रयास कर रहा है। जल्द ही तकनीकी कमी दूर कर ली जाएगी।
विद्युत आपूर्ति ध्वस्त होने का असर जनजीवन पर देखा गया। लोगों को सबसे अधिक परेशानी पेयजल को लेकर हुई। पानी को लेकर लोग इधर-उधर भटकते देखे गए। वहीं कारोबार पर भी आपूर्ति प्रभावित होने का असर देखा गया। बिजली आधारित व्यवसाय बंद पडे़ रहे। वहीं उद्योगों पर भी बिजली संकट का असर देखा गया। सरकारी कार्यालयों पर जनरेटर धड़धड़ाते रहे।
बिजली की सप्लाई न मिल पाने से संयुक्त चिकित्सालय पर मरीजों के एक्सरे नहीं हो पाए। तमाम मरीज एक्सरे के लिए घंटों प्रतीक्षा करते देखे गए। लेकिन जब देर सायं तक बिजली की आपूर्ति नहीं मिली तो चिकित्सालय बंद हो जाने पर मरीज बिना एक्सरे कराए ही लौट गए। वहीं कई मरीजों को निजी चिकित्सकों के यहां महंगे एक्सरे कराने को मजबूर होना पड़ा। एक मरीज रामप्रकाश ने बताया कि उसके हाथ की हड्डी में फ्रैक्चर हो गया था, जिसका एक्सरे उसे कराना था, लेकिन चिकित्सालय पर बिजली के अभाव में एक्सरे नहीं हो पाया।
तहसील परिसर में बुधवार को दीवार गिरने से घायल हुए सात मजदूरों का एक्सरे गुरुवार को नहीं हो पाया। जिससे वह काफी परेशान रहे। उनका बुधवार को देर सायं हादसा होने के चलते एक्सरे नहीं हो पाया था। बिजली के अभाव में एक्सरे न हो पाने से मजदूरों का समुचित इलाज भी नहीं हो पा रहा। वे दर्द से कराह रहे हैं।
कसबे की ध्वस्त बिजली आपूर्ति की समस्या को लेकर सपा नगर अध्यक्ष भूपेश शर्मा ने लखनऊ के शक्ति भवन में पावर कारपोरेशन के सीएमडी एके मिश्रा से मुलाकात की। शर्मा ने उन्हें कस्बे में 14 घंटे के सापेक्ष बमुश्किल मिल रही 5 घंटे की बिजली आपूर्ति से अवगत कराते हुए परिवहन राज्यमंत्री व क्षेत्रीय विधायक मानपाल सिंह के पत्र को सौंपा। पत्र में विधायक ने सीएमडी से प्रमुख तीर्थनगरी होने के कारण समुचित विद्युत आपूर्ति किए जाने की सिफारिश की है। सीएमडी ने तत्काल पत्र का संज्ञान लेते हुए कस्बे में शीघ्र विद्युत संकट खत्म करने का आश्वासन दिया है।

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

Spotlight

Most Read

Meerut

मुख्यमंत्री ने सहारनपुर को उतराखंड से मिलाने के दिए संकेत

मुख्यमंत्री ने सहारनपुर को उतराखंड में मिलाने के संकेत दिए। उन्होंने कहा कि सहारनपुर को उत्तराखंड में मिलाने की मांग काफी समय से उठ रही है।

20 फरवरी 2018

Related Videos

तीन दिन पहले हिमस्खलन में शहीद जवान का शव पहुंचा गृहनगर

तीन दिन पहले हिमस्खलन में शहीद हुए जवान का पार्थिव शरीर इनके गृहनगर एटा के कासोंन पहुंच गया। यहां उन्हें आखिरी विदाई देने के लिए पूरा गांव जमा हो गया।

4 फरवरी 2018

Switch to Amarujala.com App

Get Lightning Fast Experience

Click On Add to Home Screen