90 करोड़ की जिला विकास योजना प्रस्तावित

Etah Updated Sun, 05 Aug 2012 12:00 PM IST
एटा। जिला पंचायत सभाकक्ष में शनिवार को जिला पंचायत अध्यक्ष जुगेंद्र सिंह यादव की अध्यक्षता में जिला पंचायत की बैठक आयोजित की गई। इसमें जनपद के विभिन्न विकास विभागों के कार्यकलापों पर चर्चा करते हुए सर्वसम्मति से प्रस्ताव पारित किए गए।
बैठक का संचालन सीडीओ रामसिंह ने किया। बैठक में अलीगंज विधायक रामेश्वर सिंह यादव द्वारा नलकूप विभाग द्वारा संचालित नलकूपों के संबंध में जानकारी चाही गई, जिस पर सदन में उपस्थित सहायक अभियंता नलकूप खंड एटा द्वारा अवगत कराया गया कि जिले में कुल 312 नलकूप स्थापित हैं। इसमें दस नलकूप यांत्रिक खराबी के कारण बंद पड़े हैं और 51 नलकूप विद्युत दोष के कारण बंद हैं, जिसमें से आठ नलकूप चालू करा दिए गए हैं। सदस्यों के अनुरोध पर मुख्य विकास अधिकारी द्वारा आगामी सिंचाई बंधु की बैठक आठ अगस्त को बुलाई है।
इसके उपरांत पिछड़ा क्षेत्र अनुदान निधि योजना वर्ष 2012-13 की कार्य योजना सदन के समक्ष रखी गई, जिसमें जिला पंचायत, क्षेत्र पंचायत और ग्राम पंचायत की क्रमश: 233 लाख रुपया, 166 लाख और 815 लाख रुपया कुल 1165 लाख रुपया की कार्य योजना सदन द्वारा करतल ध्वनि से पारित किया गया। तदोपरांत जिला योजना संरचना वर्ष 2012-13 के लिए जिला विकास योजना वर्ष 2012-13 सदन के समक्ष प्रस्तुत की गई। योजनांतर्गत कृषि विभाग के लिए 8.44 लाख रुपया, उद्यान के लिए 8.50 लाख रुपया, नि:शुल्क बोरिंग हेतु 60.23 लाख रुपया, जिसमें 1507 निशुल्क बोरिंग का प्रस्ताव है, पशुपालन के लिए 163.65 लाख रुपया, दुग्ध विकास हेतु 106.05 लाख रुपया, मत्स्य विभाग हेतु 2.1 लाख रुपया, वन विभाग हेतु 94.05 लाख रुपया, ग्राम विकास के अंतर्गत स्वर्ण जयंती स्वरोजगार योजना हेतु 68.39 लाख रुपया, ग्रामीण रोजगार योजना के अंतर्गत मनरेगा में 500 लाख रुपया, पंचायतीराज के अंतर्गत केसी ड्रेन/सीसी रोड एवं बहुउद्देशीय पंचायत भवनों हेतु 400 लाख रूपया, निजी लद्यु सिंचाई हेतु 85.68 लाख रुपया, राजकीय लघु सिंचाई हेतु पांच लाख रुपया, सोलर स्ट्रीय लाइट हेतु 31.24 लाख रुपया, सड़क एवं पुल हेतु 2755.53 लाख रुपया, प्राथमिक शिक्षा जिसमें प्राथमिक विद्यालयों में और उच्च प्राथमिक विद्यालयों में हैंडपंप लगाने आदि व मिड-डे मील योजना हेतु 294 लाख रुपया, चिकित्सा एवं जनस्वास्थ्य हेतु 434 लाख रुपया, ग्रामीण पेयजल हेतु 1588.80 लाख रुपया और अन्य विभागों हेतु जनपद के विकास हेतु लगभग 90 करोड़ रुपया की जिला विकास योजना प्रस्तावित की गई, जिसे सदन द्वारा सर्वसम्मति से स्वीकृत किया गया।
जिला पंचायत अध्यक्ष जुगेंद्र सिंह यादव द्वारा सदन को अवगत कराया गया कि जिला ग्राम्य विकास अभिकरण, एटा की शासी निकाय की बैठक छह अगस्त 2011 और जिला पंचायत एटा की बैठक 15 अक्टूबर 2011 में विधायक जलेसर, निधौलीकलां, सदस्य रामखिलाड़ी व रामकिशन द्वारा लोक निर्माण विभाग एवं प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना के अंतर्गत निर्मित कराई गई सड़कों की गुणवत्ता पर आपत्ति की गई थी, जिसकी जांच के लिए मुख्य विकास अधिकारी की अध्यक्षता में अनुश्रवण समिति का गठन किया गया था, किन्तु अभी तक उक्त सड़कों की जांच रिपोर्ट प्राप्त नहीं हुई है। यह स्थिति अत्यन्त खेदजनक है। अध्यक्ष द्वारा मुख्य विकास अधिकारी को निर्देश दिए गए कि इन संपर्क मार्गों की जांच एक सप्ताह में कर रिपोर्ट प्रस्तुत की जाए।
बैठक में विधायक रामेश्वर सिंह, अमित गौरव यादव, रणजीत सुमन, रानी गोल्डी, नीना चौहान, सुमनलता, रामदास, रंजना राजपूत, धर्मपाल सिंह, रामकिशन यादव, रामखिलाड़ी, नरेशपाल सिंह, सुषमादेवी, विनोद कुमार आदि थे।

Spotlight

Most Read

Mahoba

मंडल में जीएसटी की कम वसूली देख अधिकारियों के कसे पेंच

कर चोरी पर अब होगी सख्त कार्रवाई-

19 जनवरी 2018

Related Videos

यूपी में एक नवजात की इस बात पर दी बलि

शुक्रवार को एटा के सरकारी अस्पताल से लापता बच्चे का शव मिला। मृतक के पिता ने पड़ोसी पर बच्चे की बलि के लिए हत्या करने का आरोप लगाया है। पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।

13 जनवरी 2018

  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper